साकार हुआ 1देश..1 बाजार का सपना.. तेजी से घूमेगा विकास का पहिया.. संवाद कार्यक्रम में बोले सांसद.. टूटेगी बिचौलियों की कमर..पैदा होंगे रोजगार

बिलासपुर–-आज देश आत्मनिर्भरता के संकल्प के साथ मजबूती से आगे बढ़ रहा है। कृषि क्षेत्र की अर्थव्यवस्था मजबूत होने से देश की आर्थिक स्थिति और सुदृढ़ होगी। संसद में पास कृषि विधेयकों से 70 साल बाद देश के अन्नदाताओं को बिचौलियों के चंगुल से छुटकारा मिलेगा। किसान को इच्छानुसार उपज को बेचने का अधिकार मिलेगा। मतलब किसानों का “एक देश-एक बाजार” का सपना साकार होगा। यह सारी बातें सांसद के सरकारी आवास पर संवाद कार्यक्रम के दौरान अरूण साव ने कही। 
 
               नेहरूत चौक स्थित सांसद अरूण साव ने अपने सरकारी आवास पर जिले के शिक्षाविदों से संवाद किया। उन्होने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य को लेकर चल रही है। इसके लिए अनेक कदम उठाए गए हैं। पहले हमारे किसानों का बाजार सिर्फ स्थानीय मंडी तक सीमित था। नए कानून के साथ किसानों का दायरा काफी व्यापक हो गया है। सीमित दायरे से बाहर निकल उपज को खरीदने वालों की संख्या बढ़ गयी है। 
 
              सांसद ने बताया कि अब तक देश के किसानों को बुनियादी ढांचे की कमी से जूझना पड़ रहा था। मूल्यों में पारदर्शिता नहीं थी। किसानों को अधिक परिवहन लागत, लंबी कतारों, नीलामी की उबाऊ प्रक्रिया का सामना करना पड़ रहा था। अनाज माफियाओं की मार झेलनी पड़ती थी। नए कृषि विधेयकों से सारी परेशानियों से छुटकारा मिलेगा। आमूल-चूल परिवर्तन आएगा। खेती-किसानी में निजी निवेश से विकास का पहिया तेजी से घूमेगा। रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
 
                                साव ने स्पष्ट किआ ति कृषि उपज मंडियां बंद नहीं होंगी। पहले की तरह ही काम करेंगी। किसानों को मंडी के साथ अन्य स्थानों पर उपज बेचने का विकल्प मिलेगा। यह विधेयक किसानों को ई-ट्रेडिंग मंच उपलब्ध कराएगाय़ इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से निर्बाध व्यापार सुनिश्चित किया जा सकेगा। किसान खरीददार से सीधे जुड़ सकेंगे। बिचौलियों को मिलने वाले लाभ के बजाय किसानों को उत्पाद का पूरा लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि कांट्रैक्ट सिर्फ उत्पाद पर लागू होगा.. जमीन पर नहीं। संसद में ऐतिहासिक कृषि सुधार विधेयकों का पारित होना, देश के किसानों और कृषि क्षेत्र के लिए एक महत्वपूर्ण है।
 
             कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला भाजपाध्यक्ष ने की। मंच पर प्रदीप शर्मा, गणपति रायल, कुशल कौशिक, अनिल गौरहा उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन विश्राम निर्मलकर व आभार प्रदर्शन श्रीमती आशालता चौहान ने किया। इस मौके पर विद्यानंद साहू, जलेश्वर शर्मा, सी.पी. मिश्रा, भूषण पांडेय, नागेन्द्रधर शर्मा, बल्लभ रजक, सरजू साहू, डाॅ. प्रदीप निर्णेजक, चंद्रकला शर्मा, किरण मूले, शरद वैष्णव, गोरेलाल कश्यप, विजय पांडेय, सुनील कौशिक, अश्वनी मिश्रा, ॠषि कुमार पटेल, मिलन विश्वकर्मा, डाॅ. अशोक गुप्ता सहित बड़ी संख्या में शिक्षाविद् उपस्थित थे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...