साली ने बढ़ाई मंत्री की मुसीबत..जीजा से मांगा विपक्ष ने इ्स्तीफा

बिIMG-20150804-WA0008लासपुर— बस्तर जिले के लोहण्डीगुड़ा में प्रदेश के शिक्षा मंत्री केदार कश्यप की पत्नी की जगह दूसरी महिला परीक्षा देते हुए पकड़ी गयी है। महिला का नाम किरण मौर्य है। बताया जा रहा है कि महिला प्रदेश के शिक्षा मंत्री केदार कश्यप की साली है। शिक्षा मंत्री केदार कश्यप ने बताया  कि फिलहाल मुझे किरण मोर्य की भूमिका को लेकर कुछ जानकारी नहीं है।

              सुन्दर लाल शर्मा ओपेन विश्वविद्यालय के क्षेत्रीय अध्य्यन केन्द्र बस्तर जिले के  लोहण्डीगुडड़ा में आयोजित एम.ए.इंगलिश की परीक्षा के दौरान एक खबर ने प्रदेश में सनसनी फैला दी है। प्रवेश पत्र से महिला की फोटो मिलान नहीं होने के बाद पता चला कि कोई दूसरी महिला अभ्यर्थी की जगह पेपर दे रही है। छानबीन के बाद मालूम हुआ कि पेपर देने वाली महिला का नाम किरण मोर्य है। बताया जा रहा है कि वह अपनी बहन और शिक्षा मंत्री केदार कश्यप की पत्नी शांति कश्यप की जगह पेपर दे रही थी।

                     खबर की सूचना मिलते ही प्रदेश में केदार कश्यप के खिलाफ विपक्ष ने तलवार तान लिया है। नेता प्रतिपक्ष टी.एस.सिंहदेव ने कहा है कि कुछ दिन पहले भाजपा सरकार ने आउट सोर्सिंग की बात कही थी। शायद यही आउटसोर्सिंग है। सिंहदेव ने बताया कि इसी सरकार ने एक समय कांग्रेस के एक जनप्रतिनिधि के खिलाफ आपत्तीजनक बयान दिया था। यदि भाजपा सरकार का आचरण ऐसा है तो इनसे प्रदेश में बेहतर शिक्षा की आशा नहीं की जा सकती है।

                     टीएस सिंह देव ने कहा कि आदिवासी बच्चों से बर्तन धुलवाने और झाड़ू पोछा करवाने वाली सरकार के शिक्षा मंत्री से हम आशा भी क्या कर सकते हैं। सिहदेव ने केदार कश्यप से त्यागपत्र की मांग करते हुए कहा कि यदि दम है तो रमन सिंह अपने मंत्री का त्याग पत्र लेकर दिखाएं।

               वहीं इस पूरे मामले में शिक्षा मंत्री ने पत्रकारों से बताया कि किरन मौर्य उनकी साली है। मामला क्या है अभी मुझे इसकी जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि किरण खुद अपना पेपर देने गई होगी। यदि किसी प्रकार की गड़बड़ी पायी जाती है तो जांच करवाएंगे। जो सामने आएगा उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

                   बहरहाल लोहण्डीगुड़ा हाईप्रोफाइल घटना के बाद सुन्दर लाल शर्मा विश्वविद्यालय ने एक जांच कमेटी का गठन किया है। विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ.वंशगोपाल ने बताया कि जगदलपुर,बिलासपुर और भिलाई की क्षेत्रीय समन्वयक की टीम जांच करने कल रवाना होगी। जांच के बाद ही पता चलेगा कि मामले में क्या कुछ लापरवाही बरती गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.