हमार छ्त्तीसगढ़

सिटी बस परियोजना के लिए अमर ने ग्रहण किया पुरस्कार

amr

रायपुर।केन्द्रीय शहरी विकास राज्य मंत्री  बाबुल सुप्रियो ने शुक्रवार को नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ की समूह (क्लस्टर) आधारित सिटी बस परियोजना को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया। छत्तीसगढ़ के नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री  अमर अग्रवाल ने श्री सुप्रियो के हाथों यह पुरस्कार ग्रहण किया।केन्द्रीय मंत्री श्री सुप्रियो ने इस महत्वपूर्ण उपलब्धि के लिए श्री अग्रवाल सहित छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और राज्य के नगरीय प्रशासन विभाग को बधाई और शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर प्रदेश सरकार के नगरीय प्रशासन विभाग के संचालक डॉ. रोहित यादव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

                               छत्तीसगढ़ को यह राष्ट्रीय पुरस्कार सर्वश्रेष्ठ सिटी बस सेवाओं की श्रेणी में दिया गया है।मुख्यमंत्री रमन सिंह ने राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए छत्तीसगढ़ की सिटी बस परियोजना का चयन किए जाने पर प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी सहित केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री  वेंकैया नायडू और उनके मंत्रालय के प्रति आभार प्रकट किया है। मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को बधाई दी है।

                              छत्तीसगढ़ के नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री अमर अग्रवाल ने इस महत्वपूर्ण उपलब्धि का श्रेय मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को दिया। श्री अग्रवाल ने कहा कि केन्द्र सरकार के सहयोग से राज्य शासन द्वारा राजधानी रायपुर सहित छत्तीसगढ़ के छोटे-बड़े सभी शहरों में और उनके आस-पास के इलाकों में रहने वाले लाखों काम-काजी लोगों तथा छात्र-छात्राओं की सुविधा के लिए समूह आधारित सिटी बस परियोजना की शुरूआत की गयी है। इसके अन्तर्गत राज्य में नौ शहरी सार्वजनिक परिवहन सोसायटी (अर्बन पब्लिक ट्रांसपोर्ट सोसायटी) का गठन किया गया है। इन समितियों को राज्य के 21 क्लस्टरों के 70 शहरों में 451 सिटी बसों के परिचालन के लिए 183 करोड़ 69 लाख रूपए मंजूर किए गए हैं। इनमें से अब तक 22 शहरों में 400 सिटी बसों का परिचालन शुरू हो गया है। जिन समूहों (क्लस्टर सिटी) के लिए शहरी बस सेवा शुरू की गयी है। उनमें रायपुर, गोबरा नवापारा, महासमुन्द, बलौदाबाजार, धमतरी, दुर्ग-भिलाई, धमधा, राजनांदगांव, खैरागढ़, कवर्धा, बिलासपुर, कोरबा, रायगढ़, जांजगीर-नैला, चिरमिरी, अम्बिकापुर, जशपुर नगर, जगदलपुर, कोण्डागांव, कांकेर और दंतेवाड़ा शामिल हैं। शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ उनसे लगे हुए ग्रामीण इलाको और नक्सल प्रभावित क्षेत्रों की जनता को भी इस परियोजना का लाभ मिल रहा है।

सुकमा-नक्सलियों और पुलिस जवानों के बीच मुठभेड़,दो नक्सली ढेर,सर्चिंग जारी..

                            नागरिको को किफायती, आरामदायक और विश्वसनीय सार्वजनिक परिवहन सुविधा मिलने लगी है। सिटी बसें सभी जरूरी आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित हैं। इनमें यात्रियों को उदघोषणा के जरिए आगामी स्टापेज की जानकारी दी जाती है। यात्रियों और महिलाओं की सुविधा तथा सुरक्षा के लिए सी.सी. टी.व्ही कैमरे, अग्निशमन यंत्र आदि उपकरण भी इन बसों में लगाए गए हैं। परियोजना की स्वीकृति जवाहरलाल नेहरू शहरी नवीकरण मिशन (जे.एन.एन.यू.आर.एम.) के तहत मिली है।

                          अधिकारियों ने बताया कि इन 22 क्लस्टर शहरों के साथ उनके आस-पास के शहरी और अर्ध शहरी क्षेत्रों को लिंक टाउन के रूप में जोड़कर सिटी बसों के फेरे लगाए जा रहे हैं। आम जनता को इससे काफी सुविधा मिल रही है। यह भी उल्लेखनीय है कि इस परियोजना को केन्द्र से स्वीकृति दिलाने के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और विभागीय मंत्री अमर अग्रवाल के दिशा-निर्देशों के अनुरूप मुख्य सचिव विवेक ढांड और नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के वरिष्ठ अधिकरियों ने केन्द्र के स्तर पर लगातार प्रयास किया।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS