फोटोकेरोटिस की शिकायत के बाद 30 मरीज सिम्स में भर्ती…हैलोजन बल्ब गैस के हुए सभी शिकार..पढ़े सभी का नाम

बिलासपुर– सीपत थाना क्षेत्र के देवरी पन्थी में हैलोजन बल्ब फूटने से नवधा रामायण  कार्यक्रम में शामिल सैकड़ों लोगों के आख में जलन होने लगी। घटना गुरूवार की है। मामले की जानकारी मिलते ही मौके चिकित्सकों की एक टीम पन्थी देवरी को रवाना हुई। देखभाल के बाद करीब 30 लोगों को ईलाज के लिए सिम्स रिफर किया। सभी लोगों का इलाज किया जा रहा है। सिम्स की चिकित्सक ने बताया कि बहरहाल सभी मरीज ठीक हैं। जल्द ही लोगों को छुट्टी दी जाएगी। 

                  जानकारी के अनुसार सीपत थाना क्षेत्र के पन्धी में नवधा रामायण सुनने सैकड़ों लोग गुरूवार को शाम सात बजे पण्डाल में एकत्रित हुए। इसी दौरान चायनीज हैलोजन बल्ब फूट गया। इसके बाद लोगों ने महसूस किया कि उनकी आंखों में जलन होने लगी है। करीब 181 लोग प्रभावित हुए हैं। 

                       मामले की जानकारी बिलासपुर स्थित मुख्य चिकित्सा अधिकारी तक पहुंची। सीएमओ को बताया गया कि नवधा रामायण कार्यक्रम के दौरान बल्ब फूटने से उपस्थित लोगों की आंख में जलन होने लगी है। जानकारी मिलते ही सीएमओ ने चिकित्सकों के एक दल को पन्धी देवरी की ओर रवाना किया।

               सीएमओ के आदेश पर सिम्स के नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. दीप चौबे और कम्यूनिटी मेडिसीन विभाग की डॉ.सुचिता सिंह 26 दिसम्बर को रात्रि करीब साढ़ दस बजे गांव पहुंचे। उपचार के दौरान पाया गया कि बल्ब फूटने के समय मौके पर मौजूद करीब 181 ग्रामीणों की आंखों में जलन की शिकायत है। आंखों में जलन के साथ सूजन भी है। करीब 30 मरीजों की आंखों में कुछ ज्यादा ही शिकायत है।

30 मरीजों को सिम्स में किया गया भर्ती

            सिम्स की वरिष्ठ चिकित्सक डॉ.आरती पाण्डेय ने बताया कि घटना के बाद चिकित्सकों की टीम मौके पर पहुंची। कमोबेश सभी मरीजों की जांच पड़ताल हुई। इस दौरान डॉ. दीप चौबे और सुचिता  सिंह ने सभी का चेकअप किया। जलन और सूजन से अधिक परेशान करीब 30 मरीजों को सिम्स रिफर किया गया। जहां सभी का इलाज किया जा रहा है।

बल्ब के केमिकल से आंखों में जलन…फोटोकेरोटिस की शिकायत

            डॉ.आरती पाण्डेय ने बताया कि बल्ब फूटने के बाद अन्दर स्थित केमेकल से लोगों की आंख में जलन और सूजन की शिकायत है। सिमस में भर्ती सभी लोगों का बेहतर इलाज किया जा रहा है। कमोबेश अब सभी की हालत ठीक है। चिन्ता की कोई बात नहीं है। हैलोजन बल्प के गैस से लोगों की आंखों में जलन की मुख्य वजह फोटोकेराटिस है। इसके चलते ही लोगों की आंख में जलन हो रही है। अधिक रगड़ने से सूजन भी आ गयी है। बहरहाल अब सभी मरीजों की स्थिति बेहतर है। जल्द ही इलाज के बाद सभी को छुट्टी दी जाएगी।

सिम्स में भर्ती मरीजों के नाम.

       शनिराम वस्त्रकार उम्र 22 साल,संतोष यादव उम्र 60 साल,दीपा यादव उम 49,कालिन्द्री उम्र 43, अधनिया उम्र 30, काजल वर्मा उम्र 13, पद्मावती राठौर उम्र 45, मनीष ताम्रकार उम्र 8, सोननबाई वस्त्रकार उम्र 60, कुमारी वस्त्रकार उम्र 45, साक्षी वस्त्रकार उम्र 8 साल है।

                इसके अलावा सिम्स में भर्ती अन्य लोगों के नाम उमा यादव उम्र 30 साल, रेशमा वस्त्रकार उम्र 14 साल, रजनी वस्त्रकार उम्र 14, प्रिया वस्त्रकार उम्र 16, सावित्री यादव उम्र 60, हरिदयाल वस्त्रकार उम्र 41 साल, अक्षय मिश्रा उम्र 13 साल, रोहित वस्त्रकार उम्र 41 साल, पवन वस्त्रकार 47, पवन वस्त्रकार उम्र 33, लक्ष्मी प्रसाद वस्त्रकार उम्र 50 साल,करन विश्वकर्मा उम्र 17 साल, जानकी प्रसाद वसत्रकार उम्र 50 साल, सीता मिश्रा उम्र 40, आरती वस्त्रकार 23, ममता वस्त्रकार 43, शांति देवी श्रीवास उम्र 50 साल, जमुना प्रसाद 37, गेंदराम यादव उम्र 50 और रामफल उम्र 31 साल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *