मेरा बिलासपुर

सीयू में प्रशिक्षण का समापन

ggdu campus

बिलासपुर । गुरू घासीदास विश्वविद्यालय, यू.जी.सी. – माॅनव संसाधन विकास केन्द्र में  11 मई से 6 जून  तक चैदहवाॅ उन्मुखीकरण प्रशिक्षण आयोजित किया गया। इस प्रशिक्षण में विभिन्न विश्वविद्यालय/महाविद्यालय के 40 प्रशिक्षणाथिर्यों ने भाग लिया। उक्त प्रशिक्षण का समापन कार्यक्रम शनिवार को  कुलसचिव  एच. एन. चैबे के मुख्य आतिथ्य में आयोजित किया गया। इस अवसर पर प्रो. एस. एल. स्वामी, निदेशक, डाॅ. रतनेश सिंह, उप-निदेशक एवं आरती सिंह, सहायक प्राध्यापक, एच.आर.डी.सी.,  उपस्थित थे।

इस अवसर पर  मुख्य अतिथि का आभार प्रकट करते हुए माॅनव संसाधन विकास केन्द्र के निदेशक डाॅ एस. एल. स्वामी ने उन्मुखीकरण कार्यक्रम के विषय में संक्षिप्त जानकारी दी। उन्होने कहा कि उक्त प्रशिक्षण 24 दिवस का था जो 96 सत्रों में आयोजित किया गया, जिसमें विभिन्न व्याख्यान, प्रायोगिक, परीक्षा एवं रजिस्ट्रेशन, उदघाटन, समापन, आदि किये गये। विषय विशेषज्ञों द्वारा शैक्षिक प्रोद्योगिकी, व्यवहार प्रबंधन, शिक्षण विधि, उच्च शिक्षा में गुणवत्ता, संचार कौशल एवं सूक्ष्म शिक्षण आदि पर व्यख्यान हुए। साथ ही साथ जो प्राध्यापक यहाॅ से लाभांवित होकर जा रहे हैं, वे अपने संस्थानों में जाकर शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ायेगें और देश के निर्माण में आप सभी सहायक होगें। हम आने वाले सत्र में और नवीन चीजों को जोड़गें जिसमें क्रियेशन, लर्निंग को और इफेक्टिव बनायेगें।

इस कार्यक्रम में प्रतिभागी डाॅ. गरिमा तिवारी ने कहा कि इस प्रशिक्षण से बहुत सारी रोचक बातें हमें सीखने को मिली जो कि हमारी शिक्षण में गुणवत्ता को बढ़ाने में सहायता करेगी।

अंत में कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  कुलसचिव  एच. एन. चैबे द्वारा अपने अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि अकादमिक स्टाफ काॅलेज से माॅनव संसाधन विकास केन्द्र में उन्ययन होने पर जिम्मेदारी और भी बढ़ गई है। माॅनव संसाधन विकास केन्द्र महाविद्यालयों के साथ ही साथ विश्वविद्यालयों के प्रध्यापकों को शिक्षण गुणवत्ता को बढ़़ाने में तेजी से मदद कर रहा है। और यहाॅ से सीखा हुआ ज्ञान प्राध्यापकों को उनके महाविद्यालयों/विश्वविद्यालयों में ज्यादा से ज्यादा छात्र के साथ समाज को भी शिक्षा के क्षेत्र में लाभांवित कर रहा है। और आज शिक्षा में इसकी आवश्यकता पर भी बल दिया।

ट्रक के साथ फरार पंजाबी युवक गिरफ्तार...बीती रात दिया था घटना को अंजाम..रतनपुर पुलिस की कार्रवाई

कार्यक्रम का संचालन डाॅ. आरती सिंह सहायक प्राध्यापक एवं धन्यवाद ज्ञापन डाॅ. रतनेश सिंह, उप-निदेशक एच.आर.डी.सी. ने किया।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS