मेरा बिलासपुर

सीवीआरयू में रेडियो से पढ़ाई इसी सत्र से

radio 1

बिलासपुर। डाॅ.सी.वी.रामन् विश्वविद्यालय में अब रेडियो लेसन प्लान से पढ़ाई शुरू की जा रही है। इसके लिए सभी विषयों के लेसन प्लान तैयार किया जा रहा है, रेडियो लेसन प्लान के माध्यम से इंजीनियरिंग, आर्टस,साइंस और प्रबंधन सहित सभी संकायों के विद्यार्थियों को पढ़ाया जाएगा। इस लेसन प्लान को पोर्टल में लोड किया जाएगा। जिससे दुनिया भर के विद्यार्थी इससे संबंधित लोग कोर्स को आसानी से सुनकर समझ सकेंगे। नए सत्र से रेडियो के माध्यम से पढ़ाई शुरू की जाएगी।
इस संबंध में जानकारी देते हुए सीवीआरयू के कुलसचिव शैलेष पाण्डेय ने बताया कि वास्तव में यह पहल डिजीटल इंडिया और मेक इन इंडिया की ओर वि.वि. का कदम हैं, जिसमें हम विद्यार्थियों को अब पारंपरिक शिक्षा से काफी दूर ले जाकर  हाईटेक माध्यमों के माध्यम से शिक्षा देने की पहल कर रहे हैं। इसके साथ यह हमारे लिए अच्छी पहल भी होगी कि प्रदेश के एक मात्र सामुदायिक रेडियो से हम विद्यार्थियों को शिक्षा दे पा रहे हैं। श्री पाण्डेय ने बताया कि रेडियो लेसन प्लान एक तरह से पढ़ाई करने का सरल तरीका है,जिसमें किसी भी विषय की नई यूनिट की पढ़ाई शुरू करने से पहले उसकी भूमिका पर चर्चा की जाती है। इसके बाद 2 या 4 विद्यार्थियों के समूह में प्रश्न- उत्तर के माध्यम से प्राध्यापक विषय को समझाते है। यह रिकार्डिंग 30 मिनट की होती है,जिससे तय एक विषय पूरा किया जाता है। इसी तरह वि.वि. के सभी संकायों के पूरे कोर्स का लेसन प्लान तैयार किया जाएगा। इस रिकार्डिंग की बड़ी लायब्रेरी तैयार की जा रही है। विषय के लेसन प्लान तैयार करके इसे सभी क्लास में अनिवार्य किया जाएगा। इससे कई तरह के फायदे होंगे। विद्यार्थियों को कठिन से कठिन विषय को आसानी से समझाया जा सकेगा। क्लास में रेडियो के माध्यम से सरल शब्दों में सुनकर बात को ग्रहण कर सकेंगे। इसी तरह दूसरा बड़ा फायदा यह है कि कोई विद्यार्थी किन्ही परिस्थितियों में रेगुलर क्लास अटेंड नहीं कर पाया है तो इस रेडियो लेसन प्लान के माध्यम से वह बाद में भी पूरा कर सकता है। श्री पाण्डेय ने बताया कि रेडियो रामन को बीते साल 1 मई को प्रदेश के राज्यपाल  शेखर दत्त  ने आॅन एयर किया था। जिसमें प्रख्यात लेखक चेतन भगत विषेश रूप से उपस्थित थे। लेसन प्लान के लिए सभी विभागों के विभागाध्यक्ष और प्राध्यपकों को निर्देश दिए गए हैं, जो बेहतर से बेहतर लेसन प्लान तैयार कर रहे हैं। इसके साथ विद्यार्थियों को शामिल करने कहा गया जो अधिक से अधिक विद्यार्थी अपनी रूचि के अनुसार रिकार्डिंग में भाग लें,इससे उनका मनोबल बढ़ेगा।

radio 2
निःशुल्क 2 हजार रेडियो वितरित होंगे-कुलसचिव
श्री पाण्डेय ने बताया कि रेडियो रामन् लोगों की पहुंच तक हो इसलिए अंचल में निशुल्क रेडियो वितरण किया जाएगा। जिसमें वि.वि. के सभी विभागों और क्लास रूम में दिया जाएगा। इसके साथ ब्लाक स्तर में ग्राम पंचायत, नगर पंचायत,गांव की प्रमुख बैठक, सरकारी कार्यालय,अस्पताल,गुड़ी,चैपाल,ग्राम सभा,आंगनबाड़ी केंद्र, प्रायमरी हायर सेकेण्डरी स्कूल सहित लोगों की बैठक की जगह में रेडियो निशुल्क प्रदान किया जाएगा। इससे लोगों को रामन रेडियो के बारे में पूरी जानकारी मिल सकेगी। साथ ही अंचल के लोग रेडियो रामन् से जुड़ सकेंगे।
किताब की बात पोर्टल पर
श्री पाण्डेय ने बताया कि सीवीआरयू  के सभी लेसन प्लान तैयार होने के बाद इसे पोर्टल में लोड कर दिया जाएगा। इस पोर्टल का नाम …किताब की बात… रखा गया हैं, जिसमें दुनिया के किसी भी कोने के विद्यार्थी इस प्लान को सुनकर पढ़ाई कर सकते हैं। यह एक तरह की अलग पहल होगी, जिससे करोड़ों विद्यार्थियों को घर बैठे ही लाभ मिल सकेगा। जो किसी भी समय किसी भी कोर्स के किसी चेप्टर के बारे में इंटरनेट पर रेडियो प्लान में सुन सकते हैं। इसके साथ विद्यार्थियों के लिए क्वेरी के लिए आॅन लाइन सिस्टम बनाया जाएगा, जिसमें सुबह से शाम तक कोर्स की क्वेरी रिकार्ड की जाएगी,जिसके बाद दूसरे दिन सुबह विषय के टीचर प्रश्नों को जवाब रिकार्डिंग के माध्यम से देंगे।  छत्तीसगढ़ लोक कला को संरक्षित करने और कलाकार की कला को जीवित रखने के लिए रेडियो रामन् मंच प्रदान करता है। बीते एक साल से लगातार अंचल की प्रतिभाओं की रेडियो रामन् में रिकार्डिंग की जा रही है। इसके बाद उसका प्रसारण किया जा रहा है। इसे रेडियो रामन के माध्यम से हम छत्तीसगढ़ की लोककला संस्कृति और कलाकारों को बढ़ावा दे रहे हैं।

कांग्रेसियों ने दिया अल्टीमेटम...कहा..व्यवस्था नहीं सुधरी तो उग्र आंदोलन का सामाना करने को रहें तैयार

 

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS