मेरा बिलासपुर

सुअरमारों ने की नाबालिग की हत्या

Chhattisgarh.Policeबिलासपुर—सीपत थाना क्षेत्र के खोंधरा निवासी पंचराम बिरहोर ने 22 नवंबर को अपने 11 वर्षीय नाबालिग बेटे पतिराम के गुम होने की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई थी । मामले में अपहरण का अपराध दर्ज कर जांच कर रही पुलिस को कुछ दिन बाद मालूम हुआ कि बच्चे की मौत सुअर मारने के लिए बिछाये बिजली के चपेट में आने से हुई है। पुलिस ने बिजली का तार फैलाने,  बच्चे की लाश छिपाने और हत्या के आरोप में दो लोगो को हिरासत में लिया है। पुलिस पूछताछ में दोनो ने अपराध करना स्वीकार किया है।

                      पंचराम बिरहोर ने सीपत थाने में 22 नवम्बर को सीपत थाना पहुंचकर बच्चे के गुम होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। सीपत पुलिस को बताया कि उसका बेटा अपने मांमा के घर रहकर पढाई करता था। दिपावली की छुट्टी मनाने खोंदरा अपने घर आया था। 15 नवम्बर की शाम को वह गुलेल लेकर घर निकला। लेकिन देर रात तक नहीं लौटा। लेकिन दूसरे दिन बहुत खोजने के बाद भी पतिराम नहीं मिला।

                     गुम बच्चे के पंचराम की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। मामले को गंभीरता से लेते हुए सीपत पुलिस ने सुप्रीमकोर्ट के गाईडलाईन के आधार पर बच्चे के अपहरण का मामला दर्ज कर पतिराम की तलाश करने लगी। पन्द्रह दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस को बच्चे का कोई सुराग नही मिला।

                        इसी दौरान मुखबिर से पुलिस को सूचना मिली की जंगल में भैंसानाला के पास एक गुफा से बदबू आ रही है। सूचना मिलले ही मामले की जांच के लिए मौके पर पहुची पुलिस को बदबू के स्थान से बच्चे के दांत और जले हुए कपडे मिले। जांच के लिए मौके से पुलिस कई प्रमाण इकठ्ठा किया। ग्रामीणो से पूछताछ के बाद पुलिस को पता चला की गांव के ही नरेन्द्र भूषण और सुकाल सिंह जंगली सुअर का शिकार करने के लिए विजली का तार खेत में बिछाया था।

रायपुर में जुटेंगे देश और प्रदेश के दिग्गज कांग्रेसी

जानकारी लगते ही पुलिस ने दोनो संदेहियो को हिरासत में लेकर पूछताछ की पहले तो दोनो पहले पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया। लेकिन सख्ती के साथ पेश पर आने पर दोनों पुलिस के सामने टूट गए। दोनों ने बताया कि सुअर मारने के लिए उन्होने खेत में बिजली का नंगा तार बिछाया था। नाबालिग पतिराम की तार की चपेट में आने से मौत हो गई। इसके बाद दोनों ने घबराकर बच्चे के शव को जंगल में दफना दिया और उसके कपड़े जला दिये थे।

सीएसपी लखन पटले ने बताया कि फिलहाल दोनो आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय के सामने पेश कर दिया गया है। जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।

बिलासपुर– बिजली विभाग के अधिकारी पिछले माह से बिल वसूली अभियान चला रहे हैं। गोल बाजार जोन में चल रही कार्रवाई के दौरान गुरूवार को गोंडपारा पहुंचे बिजली विभाग के इंजीनियरों को पूर्व महापौर विनोद सोनी के भाई ने अधिकारियों को धमकी देकर भगा दिया। हालांकि घटना की रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई गई है।

पूर्व महापौर विनोद सोनी पर बिजली विभाग का लगभग पचास हजार रुपए बिल का बकाया है। विनोद सोनी ने  12 माह का बिजली बिल नहीं दिया है।  आज जूनियर इंजीनियर संतोष देवांगन और रूचि कुर्रे  टीम के साथ विनोद सोनी के घर बिजली बिल वसूलने पहुंचे। बिल नहीं पटाने पर लाइन काटने की धमकी दी । इस पर विनोद सोनी के भाई बिट्टू सोनी ने विरोध करते हुए अधिकारियों के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग और धमकी दकर  भगा दिया। बाद में पूर्व महापौर को इस घटना की जानकारी दी गई तो उन्होंने बिल का भुगतान कर दिया है।

पहले आबरू...हत्या के बाद लूटा गहना

गोलबाजार जोन के एसडीओ जे चटर्जी ने बताया कि उन्हें इस घटना की जानकारी नहीं है। गोल बाजार जोन में लगभग 8 करोड़ का बिजली बिल बकाया है। इस समय विभाग ने वसूली अभियान चलाया है। गोड़पारा निवासी विनोद सोनी पर  12 माह का बिजली बिल बकाया था।  जिसके लिए उन्हें पूर्व में नोटिस जारी किया गया था । चटर्जी ने बताया कि अकेले गोड़पारा में 360 घरों से एक करोड़ 18 लाख बिजली बिल वसूल किया जाना है। पंद्रह दिनो में अब तक 130 लोगो से बिल की वसूली की जा चुकी है। चटर्जी ने बताया कि वसूली अभियान मार्च माह तक चलेगा।

—–000

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS