सुपरकाॅप गिल का निधन देेश की अपूर्णीय क्षति-जोगी

jogi_fileजनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के संस्थापक अध्यक्ष अजीत जोगी ने सुपरकाॅप के रूप में प्रख्यात पुलिस के पूर्व डीजीपी के.पी.एस. गिल के निधन पर गहन शोक व्यक्त करते हुए मार्मिक श्रध्दाजांलि मे उन्हे एक काबिल पुलिस अधिकारी बताया है तथा कहा है कि स्व. गिल न केवल भारत वर्ष में वरन् विदेशों में भी अपनी अलग पहचाने रखते थे।स्व. गिल श्रृलंका सरकार के लिटटे समस्या को सुलझाने में भी अपनी बेहतरीन सेवाएं एवं अमूल्य सुझाव दिये जो भुलाये नहीं जा सकते । गुजरात दंगो के समय भी तत्कालिन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी उनकी आवश्यकता पड़ी थी ।
                                जोगी ने कहा है कि प्रदेश की रमन सरकार द्वारा स्व. गिल को प्रदेश की नक्सली समस्या से निजात पाने हेतु सलाहकार नियुक्त किया गया था परन्तु रमन सरकार ने उनकी काबलियत को नकारते हुए उन्हें 2 माह में ही प्रदेश से वापस जाने के लिए बाध्य कर दिया था। यह एक अचम्भित एवं अकल्पनीय घटना थी।
                             स्व. गिल ने रमन सरकार की इस प्रवृत्ति को अपमान के रूप में लिया तथा वापस चले गये थे। आज स्व. गिल हमारे बीच नहीं है परन्तु उनकी काबलियत एवं शक्सियत को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। जोगी ने स्व. गिल के निधन को पुलिस विभाग की अपूर्णीय क्षति निरूपित किया है।

Comments

  1. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *