सूदखोर से परेशान युवक ने सिम्स में तोड़ा दम

CIMSJPGबिलासपुर—बांकी मोगरा कुतमीपारा निवासी विनोद वर्मा ने 16 दिसम्बर की सुबह दिन दहाड़े कर्ज से परेशान होकर आत्मदाह का प्रय़ास किया। जिसको उपचार के लिए सिम्स दाखिल कराया गया था। आज सुबह उसकी मौत हो गई है। सिम्स चौकी ने मर्ग कायम कर बांकी मोगरा थाने को जानकारी दी है।

                      सिम्स चौकी से मिली जानकारी के अनुसार कोरबा जिले के बांकी मोगरा कुतमीपारा निवासी विनोद वर्मा को अधजली अवस्था में उपचार के लिए सिम्स लाया गया था। आज उपचार के दौरान विनोद शर्मा ने दम तोड़ दिया। पंचनामा कार्रवाई के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए  भेजा गया है। विनोद वर्मा की पत्नी पुनीता वर्मा ने बताया कि उसका पति इलेक्ट्रानिक रिपेरिंग का काम करता था। कई लोगो से ब्याज पर रूपये उधार लिए थे। सूदखोर रोजाना आकर रकम वसूली के लिए परेशान करते और जान से मारने की धमकी देते थे। धमकी और कर्ज से परेशान विनोद शराब पीने लगा था।

                16 दिसम्बर को वह काम करने  निकला था।  कुछ देर बाद वह घर वापस आया। उस दौरान वह मोहल्ले की महिलाओ के साथ बाहर धूप सेंक रही थी। इसी दौरान विनोद के चिल्लाने की आवाज आई। हड़बड़ाकर जब वह घर के अन्दर पहुंची तो देखा विनोद धू-धू कर जल रहा है। पड़ोसियो के सहयोग से आग बुझाकर विनोद को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालत खराब होने पर डाक्टरों ने उसे सिम्स रिफर कर दिया। आज उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई है।

                        मालूम हो कि पिछले एक साल से संभाग रेंज के आईजी पवनदेव सूदखोरो के खिलाफ अभियान चला रहे है। अभियान के तहत पुलिस महानिरीक्षक ने सभी थाना प्रभारियो को सख्त निर्देश दे रखा है कि कोई भी मासूम सूदखोरो के आंतक का शिकार ना बने। सूदखोरों से छुटकारा दिलाने के लिे विभाग हर संभव प्रयास करे।  बावजूद इसके सूदखोरो से परेशान लोगों की समस्या कम नहीं हो रही है। बांकी मोगरा में विनोद की आत्मदाह जैसा फैसला यह साबित करता है कि पुलिस आदेश को लेकर किसी भी कोने से गंभीर नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *