मेरा बिलासपुर

स्कूली बच्चों के पेट पर डाका : ठीक से नहीं मिल रहा मध्याह्न भोजन

लोरमी(योगेश मौर्य)। प्रदेश में नए शिक्षा सत्र की शुरुवात हो चुकी है जिसके साथ स्कुलो में भर्ती प्रक्रिया भी की जा रही है वहीं स्कुलो में पढ़ाई के स्तर को सुधारने के लिए कोशिश कर रही है साथ ही छात्रों को स्कुलो में मध्यान्ह भोजन की भी सुविधा उपलब्ध करा रही है जिससे छात्रों को स्कुल में ही भरपेट भोजन मिल सके लेकिन जब मध्यान्ह भोजन बाटने वाले लोग ही छात्रों के मध्यान्ह भोजन पर डाका डालने लगे तो उन्हें भरपेट भोजन कहाँ से मिले। ऐसा ही मामला लोरमी ब्लॉक के रजपालपुर के प्राथमिक स्कूल का है जहाँ महिला समूह के द्वारा छात्रों को मध्यान्ह भोजन दिया जाता है लेकिन शासन के द्वारा निर्धारित मेनू के अनुसार मध्यान्ह भोजन का वितरण नही किया जाता।

बतां दे की शासन ने मध्यान्ह भोजन के मेनू निर्धारित किया है जिसके आधार पर रोजाना अलग अलग भोजन वितरण करना है लेकिन समूह संचालक की मनमानी के कारण यहाँ के छात्रों को रोजाना सिन सब्जी चावल दी जाती है। जिसकी शिकायत स्कुल के प्रधान पाठक और शिक्षकों द्वारा भी की जाती है लेकिन समूह के संचालक की मनमानी के कारण मेनू के आधार पर भोजन नही दिया जाता।

स्कुल के रसोइया जानकी ने बताया कि किचन शेड भी नही है साथ मेनू के आधार पर खाना नही बनता जो भी सामान समूह संचालक हमे देते है वही बना देते है ।

वहीं समूह के सचिव नीरा और संचालक जितेंद्र कुमार अपनी मजबूरियों का हवाला देते हुए मेनू के आधार खाना नही बनने की बात स्वीकार कर रहे है।

बजटः धरम ने कहा विकास को लगा रिवर्स गियर..अरूण ने बताया निशुल्क कोरोना बैक्सीन का जिक्र नहीं..हर्षिता ने बताया महिला विरोधी..युवा नेता ने कहा.बिना दांत अखरोट तोड़ रहे कांग्रेसी

इस बात को लेकर जब लोरमी बीईओ पीताम्बर दास ओगरे से बात की तो उन्होंने कहा कि स्कुल के शिक्षकों के द्वारा ऐसी कोई शिकायत नही मिली है शिकायत मिलने पर कार्यवाही की जायेगी।

जबकि स्कुल के शिक्षक और प्रधान पाठक सेवक कुमार ने इसकी लिखित शिकायत की थी बावजूद इसके कोई कार्यवाही नही की गयी। जिसके कारण समूह संचालक के हौसले बुलंद है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS