मेरा बिलासपुर

स्कूलों में अचानक पहुँचे कलेक्टर,बीईओ को नोटिस

pardesi

बिलासपुर । कलेक्टर सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी ने बुधवार को  जिले के बिल्हा विकास खण्ड के विभिन्न ग्रामों में शाला प्रवेश उत्सव के दौरान स्कूलों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण में स्कूलों में व्याप्त अव्यवस्था पर कड़ी फटकार लगाते हुए उन्होंने खण्ड शिक्षा अधिकारी बिल्हा को कारण बताओं नोटिस और स्कूल में गंदगी एवं भवन मरम्मत नहीं करवाने पर कड़ार प्राथमिक शाला के प्रधान पाठक का वेतन काटने का निर्देश दिया।
कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान अच्छे स्कूलों की प्रशंसा की तथा कई स्कूलों में शाला प्रवेश उत्सव में कोताही बरतने, स्कूल के साफ-सफाई ठीक नहीं होने एवं मध्यान्ह भोजन में लापरवाही पर नाराजगी जताई। कलेक्टर श्री परदेशी ने सर्वप्रथम चकरभाठा हायर सेकेण्ड्री स्कूल के शाला प्रवेश उत्सव में भाग लिया।

उन्होंने इस अवसर पर स्कूली बच्चों को निःशुल्क पाठ्य पुस्तकों का वितरण एवं नवप्रवेशी बच्चों को टीका लगाकर मिठाईयाॅं बांटी। उन्होंने स्कूल परिसर को स्वच्छ रखने, पेयजल एवं शौचालय को व्यवस्थित करने के निर्देश दिए। इसके पश्चात् कलेक्टर ग्राम कड़ार के प्राथमिक शाला गये और स्कूल परिसर में फैली गंदगी एवं मलवे को शाला प्रवेश के पूर्व ठीक नहीं कराने तथा प्रवेश उत्सव में लापरवाही करने पर प्रधानपाठक पर नाराजगी जताई। कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी  हेमन्त उपाध्याय को पूरे प्रकरण पर कार्यवाही करते हुए खण्ड शिक्षा अधिकारी बिल्हा को नोटिस देते हुए जिला कार्यालय में अटैच करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने ग्राम सेंवार में शा. प्राथमिक शाला में प्रवेश उत्सव का जायजा लिया। प्रवेश उत्सव में बच्चों को मध्यान्ह भोजन की व्यवस्था नहीं करने एवं स्कूल को व्यवस्थित नहीं रखने पर दो शिक्षिकाओं के एक-एक दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने मध्यान्ह भोजन की व्यवस्था करने वाली संस्था पर भी कार्यवाही करते हुए 5 दिनों का भुगतान काटने के निर्देश दिए। ग्राम बुन्देला के के प्राथमिक स्कूल में उन्होंने बच्चों से मध्यान्ह भोजन की जानकारी ली। शाला प्रवेश उत्सव व्यवस्थित कराने एवं स्कूल स्वच्छ रखने पर शिक्षिकों की प्रशंसा भी की।
 पंचायत सचिव सस्पेंड

बुधवार को हो सकती है भूपेश बघेल की सोनिया गांधी से मुलाकात,अभी TS सिंहदेव भी रुके हैं दिल्ली में

कलेक्टर  सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी ने आज बिल्हा विकास खण्ड के ग्राम कड़ार में आयोजित राजस्व समाधान अभियान शिविर में चैपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्यायें सुनी। कर्तव्य में लापरवाही बरतने पर उन्होने  नगपुरा के पंचायत सचिव दिलीप कुमार लहरे को निलंबित करने का निर्देश दिया।

कलेक्टर ने शिविर में राजस्व अधिकारियों को राजस्व अभिलेख दुरूस्त रखने के सख्त निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि शिविर की सार्थकता तभी होगी जब ग्रामीणों की समस्याओं का मौके पर निराकरण होगा। उन्होंने कहा कि राजस्व प्रकरणों में अविवादित बंटवारा नामान्तरण पंचायत के प्रस्ताव पर तत्काल निराकरण किया जा सकता है। उन्होंने पटवारी सहित राजस्व अधिकारियों को राजस्व अभिलेख को दुरूस्त रखने तथा ग्रामीणों को पुराने के बदले नये ऋण पुस्तिका (किसान किताब) बनाकर दिए जाने के निर्देश दिए।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS