स्पेशल ट्रेनों के लिए आज शाम 4 बजे से IRCTC पर बुकिंग, जानिए क्या है किराया

Shri Mi
3 Min Read

नई दिल्ली-भारतीय रेल (Indian Railway) 12 मई से चरणबद्ध तरीके से यात्री ट्रेन सेवाएं शुरू करने जा रहा है. शुरुआत में चुनिंदा मार्गों पर 15 जोड़ी ट्रेनें (अप-एंड-डाउन मिलाकर 30 ट्रेनें) चलायी जाएंगी. भारतीय रेलवे का कहना है कि इन ट्रेनों में सीटें आरक्षित कराने वाले यात्रियों को प्रस्थान के समय से कम से कम एक घंटा पहले रेलवे स्टेशन पहुंचना जरूरी होगा. आज (सोमवार) शाम 4 बजे से आईआरसीटीसी (IRCTC) पर बुकिंग शुरू हो जाएगी. सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

राजधानी एक्सप्रेस के बराबर हो सकता है स्पेशल ट्रेन का किराया
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्पेशल ट्रेनों का किराया राजधानी एक्सप्रेस (Rajdhani Express) के बराबर हो सकता है. जानकारी के मुताबिक ये स्पेशल ट्रेनें नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन से चलेंगी और डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू-तवी को जाएंगी. अधिकारियों का कहना है कि श्रमिक ट्रेनों से उलट इन ट्रेनों के डिब्बों में सभी 72 सीटों पर बुकिंग होगी और इनके किराए में किसी भी प्रकार की छूट की संभावना भी नहीं है. गौरतलब है कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में एक डिब्बे में अधिकतम 54 यात्रियों को यात्रा करने की अनुमति है.

यह भी पढे-अजीत जोगी से मिलने पहुंचे पूर्व सीएम रमन सिंह,अमित जोगी से जाना हालचाल

फ्लेक्सी या डायनेमिक फेयर ऐसे करता है काम
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यात्रियों की संख्या बढ़ने पर रेलवे डायनेमिक फेयर (Dynamic Fare) सिस्टम लागू कर सकता है. हालांकि अभी रेलवे की ओर से इसके लिए स्पष्टीकरण नहीं दिया गया है. IRCTC के अनुसार 10 फीसदी सीट बुक होने पर 10 फीसदी किराया बढ़ जाता है. बता दें कि ट्रेन के फर्स्ट AC और एग्जिक्यूटिव क्लास के किराये के मौजूदा किराये में कोई बदलाव नहीं होता है. IRCTC के मुताबिक रिजर्वेशन चार्जेज, सुपरफास्ट चार्जेज, केटरिंग चार्जेज और सर्विस टैक्स यात्रियों से अलग से वसूले जाते हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चार्ट बन जाने के बाद खाली रह गई सीटों को करंट बुकिंग के लिए ऑफिर किया जाता है. करंट बुकिंग के तहत ट्रेन टिकट को उस क्लास के आखिरी दाम के पर बेचा जाता है. वहीं फ्लेक्सी फेयर सिस्ट में ट्रेन में तत्काल कोटा के लिए सीटों की मौजूदा लिमिट को मौजूदा दिशा निर्देश के हिसाब से तय की जाती है. बता दें कि तत्काल कोटे के अंतर्गत बुक की जाने वाली 2S, SL, 2A, 3A और CC की ट्रेन की सीटों के लिए बेस फेयर की तुलना में 1.5 गुना चार्ज लिया जाता है.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close