स्वर्गीय मनहरणलाल पांडे की जयंती पर प्रतिभाओं का सम्मान , राज्यपाल ने किया उनके योगदान को याद

तखतपुर(टेकचंद कारडा)।मानवीय संवेदना के साथ जो इंसान कार्य करता है उसका नाम इतिहास में दर्ज हो जाता है। स्वर्गीय मनहरण लाल पांडे ने गरीबी उत्पीड़न पीड़ा शोषित और क्षेत्र के विकास के लिए जो कार्य किया है। उसके लिए जनता आज उन्हें भूलेगी नहीं मुझे आज तखतपुर में जो अपनापन मिला है। उसे मैं कभी भुला नहीं पाऊंगी और अच्छे कार्य की प्रेरणा लेकर श्री पांडे की पुत्री हर्षिता पांडे ने जो आगे का बीड़ा उठाया है। इसके लिए वह प्रशंसा के पात्र हैं। और मैं चाहूंगी कि वह अपने पिता की छवि बन कर क्षेत्र में आगे बढ़ कर सेवा कार्य करें। उक्त बातें आज स्वर्गीय मनहरण लाल पांडेय की 81 जयंती के सम्मान समारोह में पहुंचे छत्तीसगढ़ राज्य की राज्यपाल अनुसूया उईके ने संस्कृतिक भवन में आयोजित सम्मान समारोह में कहीं।

आजादी के बाद पहली बार देश का कोई राज्यपाल तखतपुर में पहुंचा था। इस 70 वर्ष की आजादी के बाद नगर में पहली बार पहुंचे महामहिम राज्यपाल  अनुसूया उईके का स्वागत करने पूरा शहर उमडा हुआ था। मनहरण लाल पांडेय स्मृति संस्थान द्वारा उनकी जयंती पर संस्कृतिक भवन में आयोजित कार्यक्रम में संबोधित करते हुए महामहिम राज्यपाल ने कहा कि वह 25 वर्ष की उम्र में कांग्रेस से पहली बार विधायक बनकर जब विधानसभा में पहुंची थी। तब जब वह सरकार के विरुद्ध भी बोल देती थी।

तब उन्हें दिग्गज नेता समझाया करते थे कि अपनी पार्टी के खिलाफ नही बोलना चाहिये।जब सच बोला जाता है तब लोगों को तकलीफ होती है।सन 1991 में एक परिवर्तन आया और उन्होंने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली और बीजेपी में मुझे जो मान सम्मान दिया वह कभी नहीं भूल सकती व विधायक मंत्री और देश के राष्ट्रीय पदों पर का दायित्व का निर्वहन किया।

प्रधानमंत्री ने छत्तीसगढ़ का जब राज्यपाल बनाया और जब उन्हें धन्यवाद देने गई तो उनसे पूछा था की राज्यपाल 65 से 75 वर्ष के उम्र से भी अधिक के लोग राज्यपाल बनाया जाता है पर मुझे छोटी उम्र में छत्तीसगढ़ की जवाबदारी कैसे दी जा रही है।

तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि राज्यपाल राज गवर्नर बन कर राजभवन में ही रहते हैं पर अब समय बदल गया है राज्यपाल को चाहिए कि वह जिस प्रदेश के लिए नियुक्त किया जा रहा है।वह उस प्रदेश में रहकर उस क्षेत्र के लोगों की भलाई में काम करें।

तखतपुर में मुझे अपनापन मिल रहा है।उन्होंने कहा कि मेरे लिए पक्ष और विपक्ष अब एक है और मुझे हर व्यक्ति के लिए कार्य करना है। हर्षिता पांडे में उनके पिता की छवि है और इस सेवा भाव को आगे बढ़ाने का कार्य उन्हीं का है।

कार्यक्रम के स्वागत भाषण में राष्ट्रीय महिला आयोग सलाहकार सदस्य हर्षिता पांडे ने कहा कि 70 वर्षों बाद देश का कोई राज्यपाल इस छोटे से शहर में आया है और उन्होंने अपना समय देकर हमें उपकृत किया है।

मेरे पिता स्वर्गीय मनहरण लाल पांडे ने इस क्षेत्र में बेटे और पालक के रूप में सेवा की अल्प समय में सिंचाई बिजली भैंसाझार जलाशय जैसे अन्य योजनाओं पर कार्य किया और यह क्षेत्र हमेशा से उनका ऋणी रहेगा मुझे भी क्षेत्र से बहुत स्नेह मिल रहा है और जन सेवा का अवसर मिल रहा है।

मुझे बेटी नोनी के रूप में मायके के लोग स्नेह कर रहे हैं।आज सम्मान समारोह में तखतपुर क्षेत्र में विभिन्न अवसरों पर अपनी सेवाएं दे रहे लोगों का सम्मान में शामिल होने आए महामहिम राज्यपाल अनुसूया उईके का तखतपुर में स्वागत है।इन्होंने राज्य और देश के विभिन्न पदों पर रहते हुए देश की महिलाओं के उत्पीड़न संवेदनशीलता के लिए कार्य किया है।आज भी तखतपुर में आकर एक स्मृति देकर जा रहे हैं।

अनुसूचित जाति आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविचार नेताम ने कहा कि इंसान जब अच्छा कार्य करता है।तब उन्हें याद किया जाता है।स्वर्गीय मनहरण लाल पांडेय ने क्षेत्र के लिए जो योगदान दिया।आज उन्हें पूरा क्षेत्र याद कर रहा है। ऐसे व्यक्तित्व बहुत कम होते हैं जो जरूरतमंदों की सेवा में आगे रहते हैं।

भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि छत्तीसगढ़ मध्य प्रदेश शासन के समय अपना बचपन और राजनीतिक जीवन तखतपुर में देने वाले स्वर्गीय मनहरण लाल पांडेय की जयंती पर हम उनके द्वारा जिन ऊंचाइयों के लिए कार्य किया गया है।उसके लिए हम याद कर रहे हैं मध्यप्रदेश शासन काल में अरपा भैसाझार योजना की सोच रखने वाले श्री पांडेय के सपनों को भाजपा की सरकार ने पूरा किया और आज इस योजना से क्षेत्र में किसानों के खेतों में पानी मिल रहा है।

उनके योगदान को नहीं बुलाया जा सकता कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे धरमलाल कौशिक रामविचार नेताम, अमर अग्रवाल,अरुण साव,डॉ कृष्णमूर्ति बांधी, लखन लाल साहू  निर्मला मनहरण लाल पांडेय,  हर्षिता पांडेय, भूपेंद्र सवन्नी ने कार्यक्रम के प्रारंभ में स्वर्गीय श्री पांडेय के छायाचित्र के समीप दीप प्रज्वलित कर अतिथियों के द्वारा पुष्पांजलि अर्पित की गई मंचस्थ अतिथियों का स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया गया।

इस अवसर पर त्रेतानाथ पांडेय, अजय देवागन, गोरे सिंह ठाकुर चंद्रकांत द्विवेदी ,ओंकार सोनी, गुलजीत खुराना, शैलेन्द्र प्रधान ,रामगोपाल अग्रवाल,बंशी पांडे,सुरेश पाण्डेय,कृष्ण कुमार साहू ,अनिल ठाकुर, सुरेश पाठक, प्रदीप कौशिक, नुरिता कौशिक दिलीप तोलानी, संदीप साहू, किशन सचदेव, मुरली रामानी दौलत गागवानी ईश्वर देवागन मुन्ना साहू उपेनद्र खुराना प्रदीप तिवारी जीवन लाल पाण्डेय रिशी कश्यप मनीष सोनी नारु तोलानी मुकेश ताम्रकार विनोद तोलानी राजेश सोनी कोमल ठाकुर शिव देवागन संतोष कश्यप जाफर भाई किशन पाण्डेय एकांत मजुमदार ओंकार सोनी रेखा गर्ग नारायण पाली संदीप साहू ज्ञानदीप पाण्डेय नर्मदा धूरी मोनु सेमर नैनलाल साहू मालती यादव ज्योति मिश्रा गजेनद्र गुप्ता अमरनाथ साहू रामलाल साहू दनेश साहू लक्ष्मी गुप्ता रवि मैहर नरेंद्र कोसले श्याम कार्तिक सोनी प्रफुल्ल तिवारी हरीश तिवारी लव पांडे विश्वनाथ यादव विश्वनाथ पटेल लक्ष्मी गुप्ता सहित अन्य जन प्रमुख रूप से उपस्थित रहे

इनका किया गया सम्मान

कक्षा दसवीं में 83% लाने वाली कुमारी पूनम बंजारे ,कक्षा दसवीं में 94.3% आने वाली छात्रा कुमारी श्वेता जायसवाल ,कक्षा दसवीं में 91.6% छात्र दिशांत बघेल, पीएचडी करने वाले डॉक्टर रामगोपाल अग्रवाल, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी परिवार से डॉक्टर शैलेंद्र धान ,स्वच्छता दूत के रूप में गोलू देवांगन,खेल प्रतिभा के लिए कुमारी सृष्टि शर्मा, दिव्यांग शतरंज राष्ट्रीय खिलाड़ी महेंद्र पाल टीम हमर हरिहर प्रवीण द्विवेदी अजय पांडे कैलाश क्षत्री स्वच्छता कमांडो श्रीमती पद्मावती धुरी श्रीमती मंजू गंधर्व श्रीमती अरुणा देवागन आर्ट ऑफ लिविंग परिवार से मनीष सोनी उपेन्द्र खुराना ध्रुव तम्बोली गौ सेवा समिति कोमल सिंह ठाकुर किशन पांडे संजय निर्मलकर व्यापारी महासंघ अनिल ठाकुर जाफर हुसैन कपासी किशन सचदेव ब्लड डोनेशन नारायणदास तोलानी विनोद तोलानी दिलीप तोलानी परमेश्वरी महोत्सव समिति रामाधार देवांगन राजू देवांगन चंद्रशेखर देवांगन पतंजलि योग समिति राम लाल साहू गायत्री परिवार नारायण पाली रामचरित मानस समिति रोहन सिंह ठाकुर जुगल किशोर पांडे का सम्मान महामहिम राज्यपाल के द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *