सड़क हादसों में घायल होने वाले पशुओं के लिए 108 की तर्ज पर संवेदना एक्सप्रेस शुरू करने का फैसला

रायपुर।राज्य सरकार ने सड़क दुर्घटनाओं में घायल होने वाले पशुओं के त्वरित इलाज के लिए 108 की तर्ज पर आकस्मिक पशु चिकित्सा सेवा शुरू करने का निर्णय लिया है। इसके प्रथम चरण में प्रदेश के दस जिलों के राष्ट्रीय राजमार्गों के दस चिन्हांकित स्थानों के बीच ‘संवेदना एक्सप्रेस’ की सेवा शुरू की जाएगी। आगामी वित्तीय वर्ष 2018-19 के बजट में इसके लिए पांच करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है।पशुधन विकास मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने इस संबंध में बताया कि हर साल बड़ी संख्या में घरेलू पशु सड़क दुर्घटनाओं का शिकार हो जाते हैं। इस तरह की घटनाओं में घायल पशुओं के इलाज के लिए तुरंत कार्रवाई नहीं हो पाती, जिसके कारण पशुपालकों को काफी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ता है।

There is no slider selected or the slider was deleted.


सड़कों पर घूमने वाले पशुओं को हादसों से बचाने के लिए पशुधन विकास विभाग द्वारा ऐसे पशुओं के गले में रेडियम पट्टी बांधने का कार्यक्रम शुरू किया गया है। इसके लिए जिलों को साढ़े सात लाख रूपए दिए गए थे। इस राशि से ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में 14 हजार 940 से अधिक पशुओं को रेडियम पट्टी पहनाई गई। श्री अग्रवाल ने बताया कि संवेदना एक्सप्रेस में सड़क हादसों में घायल पशुओं के प्रारंभिक इलाज की व्यवस्था रहेगी। संवेदना एक्सप्रेस से गंभीर रूप से घायल पशुओं को उचित इलाज के लिए पशु चिकित्सालयों तक पहुंचाया जाएगा। इलाज के बाद जरूरत होने पर गौशालाओं तक ले जाने की व्यवस्था संवेदना एक्सप्रेस से की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *