हत्याकाण्ड का खुलासा…नाराज पत्नी ने की आत्महत्या

IMG-20170220-WA0599बिलासपुर— गौरेिला पुलिस ने 18 जनवरी को बंगला डोंगरी में मिली महिला की शव की पहचान कर ली है।महिला ने पति से नाराज होकर आत्महत्या की है। पति दिनेश प्रजापति,जेठ फूल सिंह और उसके परिवार के राजेश और परदेशी प्रजापति ने शव को घर से दूर बंगला डोंगरी सड़क किनारे गड्ढे में महिला के शव को ठिकाने लगाया था।

                    गौरेला पुलिस के अनुसार 18 जनवरी को दिनेश प्रजापति ने थाना पहुंचकर बताया कि पत्नी रात से गायब है। इसके पहले पुलिस दिनेश की फरियाद को सुनती खोडरी रेलवे फाटक से केशरवानी ने फोन किया कि बंगला डोंगरी सडक किनारे गड्ठे में महिला की लाश पड़ी है। आनन फानन में मौके पर पहुंचकर पुलिस ने कोटवार की उपस्थिति में पंचनामा तैयार कर लाश को पीएम के लिए गौरेला स्वास्थ्य केन्द्र भेज दिया। कार्रवाई के दौरान दिनेश प्रजापति ने बताया कि लाश उसकी पत्नी आशा प्रजापति की है। पहचान और पीएम रिपोर्ट के बाद आरोपी की तलाश शुरू हुई।

                       पीएम रिपोर्ट के अनुसार महिला की मौत गला दबाकर हुई थी। गले पर रस्सी के निशान थे। प्रारम्भिक पूछताछ में दिनेश ने पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया। सख्ती के बाद दिनेश ने बताया कि 17 जनवरी को खाना खाने के बाद उसने पत्नी को डांटा था। मोबाइल पर ज्यादा बातचीत को लेकर कुछ ज्यादा ही कहासुनी हो गयी। इसके बाद दोनो बिस्तर में चले गये। कुछ देर बाद संबध बनाने का प्रयास किया। लेकिन पत्नी ने इन्कार कर दिया।

                     इन्कार के बाद करीब 11 बजे गुटाखू करने बाहर गया। कुछ देर बाद घर मेंं आया तो पत्नी मयार में रस्सी से लटकी थी। तत्काल रस्सी को काटा इस बीच आशा की सांस चल रही थी। उसने तत्काल पड़ोस में अपने बड़े भाई फूलसिंह प्रजापति को जानकरी दी। फूलसिंह के पहुचने के बाद आशा की सांसे बंद हो गयी। फूलसिंह ने अपने बड़े भाई चुन्नीलाल के लड़के राजेश प्रजापति को नवागांव फोन किया। मोटर सायकल लेकर आने को कहा। अपने बेटे को भी जानकारी दी।

                       मोटरसायकल आने के बाद दिनेश प्रजापति दोनों भतीजों  के साथ पत्नी की लाश को बंगला डोंगरी स्थित गड्ठे में ठिकाने लगाया। पीएम रिपोर्ट मिलने और आरोपियों के बयान के बाद चारों के खिलाफ अपराध दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *