मेरा बिलासपुर

हत्या की सुलझी गुत्थी..चार आरोपी गिरफ्तार..सुपारी किलर फरार..

IMG-20161224-WA0215बिलासपुर—बिलासपुर पुलिस की स्पेशल टीम ने बिल्हा थाना क्षेत्र के गांव पौंसरी में अज्ञात शव की शिनाख्त के बाद हत्यारों को पकड़ने का दावा किया है। एडिश्नल एसपी ने बताया कि आरोपी को पुणे से हिरासत में लिया गया है। शिनाख्त के बाद हत्या में शामिल अन्य तीन लोगों को भी पुलिस ने पकड़ लिया है।  सुपारी किलर बिहार निवासी सोनू पटेल की तलाश की जा रही है। पुलिस ने हत्या की मुख्य वजह जमीन विवाद को बताया है।

                                     मालूम हो कि 6 फरवरी 2016 को पुलिस को लोगों से बिल्हा थानेदार को जानकारी मिली कि ग्राम ओड़गन खार के पौंसरी जलाशय के पास एक युवक की जली हुई लाश है। मौके पर पहुंचकर पुलिस ने पंचनामा कार्रवाई के बाद लाश को पीएम के लिए भेज दिया। मृतक की पहचान नहीं होने के कारण शव को प्रीजर्व कर दिया गया। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस को जानकारी मिली कि मृतक की मौत गला दबने से हुई है। इस बीच आरोपी की तलाश पुलिस लगातार करती रही।

                                 एडिश्लन एसपी अर्चना झा ने बताया कि जांच पड़ताल के दौरान जानकारी मिली कि थाना पथरिया के गांव सेंदरी से एक युवक कुछ दिन से गायब। थाने में 6 फरवरी को गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज है। पूछताछ के बाद पुलिस ने रिपोर्ट करने वाले के परिजनों से मिलकर पौंसरी में मिले जली हुई कमीज और अन्य सामानों को दिखाया। माता पिता ने बताया कि संभावना है कि यह रोहित कुमार पात्रे का ही हो। पुलिस ने रोहित के प्रीजर्व बोन मेरो मेरो और रोहित के मातापिता के बोने मेरो की डीएनए जांच के सैंम्पल हैदराबाद भेजा। मृतक और माता पिता के डीएनए सामान धनात्मक पाए गए।

रेल्वे मे हुई राजभाषा पर चर्चा

                                         डीएनए रिपोर्ट के बाद पुलिस कप्तान ने मामले को गंभीरता से लेेते हुए आरोपी को पकड़ने का अभियान चलाया। मृतक रोहित के माता पिता ने बताया कि रोहित अंतिम समय पवन गंधर्व के साथ था। पुलिस को पतासाजी के दौरान जानकारी मिली कि पवन गंधर्व इस समय पुणे में मजदूरी करता है। पुलिस टीम पवन गंधर्व को पुणे जाकर हिरासत में लिया।

                       पूछताछ के दौरान पवन ने बताया कि रोहित ने उसके चचेरे भाई नारायम प्रसाद सतनामी और कुंजराम सतनामी के पांच एकड़ जमीन पर कब्जा कर लिया है। मामला कोर्ट में होने के बाद भी वह भाइयों को डराता धमकाता था। पुणे में मजदूरी के दौरान उसकी पहचान रोहराकला के बालमुकुंद श्रीवास से परिचय था। बालमुकुंद को मामले की जानकारी दी। उसने मेरा परिचय बिहार निवासी सोनू पटेल से कराया। प्लान के मुताबिक बालमुकुंद और मैने सोनू का परिचय पुणे से पथरिया आकर नारायण और कुंजू से कराया। घटना के दिन रोहित को मोटर सायकल से घूमाने लाया। सभी ने मिलकर पहले शराब पिया। ओडगन गांव के पौंसरी जलाशय के पास  गला दबाकर सोनू ने हत्या की। बाद में जलाया भी।

                                       पुलिस की स्पेशल टीम प्रभारी लखन पटले की अगुवाई में पवन गंधर्व के निशानदेही पर बालमुंकुंद श्रीवास,नारायण और कुजराम सतनामी को हिरासत में लिया गया है। हत्या में शामि एक अन्य आरोपी चंदन गंधर्व की मौत हो चुकी है। पुलिस ने पवन से पूछताछ के बाद मोटर सायकल को बरामद कर लिया है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही फरार सोनू बिहारी को पकड़ लिया जाएगा।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS