हथकड़ी में निकली रंगबाज बारात…पुलिस सुरक्षा में पहुंचा कोर्ट…सरपंच पति को जान से मारने की थी कोशिश

बिलासपुर—- मंगला क्षेत्र निवासी विक्रम सिंह को पुलिस ने हथकड़ी पहनाकर जुलूस निकाला। इस नजारे को शहरवासी देखते ही रह गए। क्योकि मामला बिलकुल फिल्मी स्टाइल में था। सिविल पुलिस के अनुसार विक्रम सिंह ने शराब के नशे में मंगला सरपंच पति पर जानलेवा हमला प्रयास किया। घटना बीती रात की थी। रमेश पटेल की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया।
                 पुलिस जानकारी के अनुसार 27 खोली निवासी विक्रम सिंह पर आरोप है कि उसने मंगला निवासी सरपंच पति रमेश पटेल को जान से मारने की कोशिश की। रमेश पटले ने अपनी शिकायत में बताया है कि बीती रात विक्रम सिंह नशे की हालत में फरसा लेकर आजाद चौक पहुंच गया। उसे जान से मारने का प्रयास किया। किसी तरह थाना पहुंचकर नामजद रिपोर्ट दर्ज कराया है। विक्रम सिंह को आज न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है।
                                  बताते चलें कि विक्रम सिंह अभी कुछ दिन पहले ही तीन महीने की सजा कर जेल से बाहर निकला है। मंगला क्षेत्रवासियों के अनुसार जेल से निकलते ही विक्रम सिंह और भी खुंखार हो गया। शराब पीकर मंगला क्षेत्र में गाली गलौच और रंगदारी करने लगा। इसके चलते स्थानीय लोगों में गहरा आक्रोश था। मामला बिगड़ते देख मगंला सरपंच गायत्री पटेल के पति ने विक्रम को समझाया बुझाया। बावजूद इसके विक्रम अपनी आदतों से बाज नहीं आया। बावजूद इसके स्थानीय लोगों की गुहार पर सरपंच पति ने विक्रम को फिर से समझाने का प्रयास किया। लेकिन बात नहीं बनी।
                  सोमवार को रात को रमेश की समझाइश के बाद शराब की नशे में हाथ में फरसा लेकर मंगला के आजाद चौक पहुंच गया। सरपंच पति रमेश पटेल को जान से मारने की धमकी देकर दौड़ा लिया। रमेश पटेल किसी  तरह जान बचाकर भागा। सीधे सिविल लाइन पहुंचकर थाने में जान को खतरा बताते हुए लिखित शिकायत की।
                                 शिकायत के बाद पुलिस ने विक्रम को गिरफ्तार कर लिया। गाड़ी में बैठाकर आरोपी को जिला न्यायालय में लाया जा रहा था। इसी दौरान नेहरू चौक के पास गाड़ी बिगड़ गयी। प्रयास के बाद भी गाड़ी ने चलने से इंकार कर दिया। इसके बाद पुलिस ने विक्रम को हथकड़ी के साथ नेहरू चौक से जिला न्यायालय तक पदयात्रा की। इस दौरान पुलिस के आधा दर्जन जवान भी साथ थे।
                             देखते ही देखते अफवाह फैल गयी कि पुलिस सिंहम स्टाइल में विक्रम का जुलूस निकालकर अदालत पहुंच रही है। लेकिन पुलिस ने जुलूस जैसी किसी बात से इंकार कर दिया। पुलिस के अनुसार गाडी बिगड़ जाने के बाद ही विक्रम को हथकड़ी लगाकर पैदल कोर्ट तक लाना पड़ा है। मजेदार बात है कि नेहरू चौक से कोर्ट तक लाने के दौरान कलेक्टर कार्यालय के सामने विक्रम की दुकान भी है। इस नजारे को उसके परिजनों ने भी देखा।बहरहाल अपराधी की जुलूस निकाले जाने को लेकर शहर में जमकर चर्चा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *