हमार छ्त्तीसगढ़

हमें अपने महापुरूषों पर है नाज— अमर

18 406जांजगीर—नगरीय प्रशासन, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री अमर अग्रवाल ने कहा है कि बैरिस्टर छेदीलाल बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। उनकी प्रतिभा का लाभ न केवल क्षेत्र, प्रदेश बल्कि देशवासियों को भी मिला है। हमें गर्व है कि यहां बैरिस्टर साहब, बाबा गुरू घासीदास, वीरनारायण सिंह, पं. सुन्दरलाल शर्मा सहित अनेक विभिूतियों और मनीषियों ने जन्म लिया। अपने कार्यो से पूरे समाज को एक दिशा नई दी । महापुरूषों के कृतित्व को संजोय रखना हम सभी का दायित्व । आने वाली पीढ़ी इन्हें जाने और उसका अनुशरण कर सके। निकाय मंत्री अग्रवाल जांजगीर के शहीद स्मारक परिसर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और संविधान निर्मात्री सभा के पूर्णकालिक सदस्य बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल की 59 वीं पुण्यतिथि पर आयोजित तीन द्विवसीय स्मृति समारोह के शुभारंभ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा।

                  जांजगीर जिला प्रभारी मंत्री अग्रवाल, संसदीय सचिव अंबेश जांगड़े समेत उपस्थित अन्य अतिथियों ने इस अवसर पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और जिले के शहीद सपूतों के परिजनों को साल और श्रीफल भेंटकर सम्मानित किया। प्रभारी मंत्री अग्रवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ के महापुरूषों के कृतिव्य को संजोने का उल्लेखनीय प्रयास किया गया है। इसी कड़ी में बैरिस्टर छेदीलाल की स्मृति समारोह का आयोजन किया जा रहा है।

         निकाय मंत्री ने कहा कि बैरिस्टर साहब के कार्यों से देश के नक्शे में जांजगीर-चांपा जिले को एक विशेष पहचान मिली है। बैरिस्टर साहब श्रेष्ठ वक्ता, किसानों के हितैषी, लोक संस्कृति के संरक्षक और विधि विशेषज्ञ के रूप में हमेशा जाने जाते रहेंगे।

     संसदीय सचिव अंबेश जांगड़े ने कहा कि बैरिस्टर साहब असाधारण व्यक्तित्व के धनी थे। अग्रेंजी हुकमत के समय आक्सफोर्ड में बैरिस्टर की उपाधि प्राप्त करने के बाद सामाजिक सेवा को चुना। देश की आजादी और भारत के लोकतंत्र के निर्माण में अमूल्य योगदान दिया। हम सभी को बैरिस्टर साहब के आदर्श जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए।

गरियाबंद जिले के 6 शिक्षकों को मिला राज्यपाल पुरस्कार : कलेक्टर ने की सराहना

                 समारोह के प्रारंभ में अतिथियों ने बैरिस्टर साहब के तेल चित्र पर पुष्पांजली अर्पित कर उनके योगदान को याद किया। इस मौके पर उपस्थित स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, जनप्रतिनिधियों, विशिष्टजनों समेत पद्मश्री डॉ. महादेव प्रसाद पाण्डेय ने बैरिस्टर साहब के स्वतंत्रता संग्राम में दिए गए योगदान को याद किया।

                   संभागायुक्त सोनमणि बोरा ने कहा कि यहां के लोगों के उत्साह और आयोजन समिति के प्रयासों से दिनोंदिन आयोजन की भव्यता बढ़ी है। उन्होंने कहा कि बैरिस्टर साहब जैसे मनीषियों के जीवन दर्शन को आने वाली पीढ़ी जान और उसका अनुसरण कर सके इसके लिए इस तरह के आयोजन होते रहना चाहिए।

           इस मौके पर निकाय मंत्री अग्रवाल ने शहीद स्मारक परिसर पर शहिदों की नाम पट्टिका का अनावरण किया । स्मारिका में देश की रक्षा करने वाले तथा नक्सल हिंसा में शहिद हुए जिले के 08 वीर सपूतों का नाम उल्लेख है।

           कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी संघ के उपाध्यक्ष एवं पद्मश्री डॉ. महादेव प्रसाद पाण्डेय, शंभूनाथ दत्ता, सत्यानारायण शर्मा, डॉ पन्ना लाल पण्डया, दयाराम ठेठवार, राधेश्वर प्रसाद सिंह, राजीव शुक्ला, बैरिस्टर साहब की पुत्री रत्नावली, विजेन्द्र प्रताप सिंह को शाल और श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया गया।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS