मेरा बिलासपुर

हमेशा की तरह छोड़ गया अपनी पहचान…प्रदेश में किया तखतपुर का नाम रोशन…बहुमुखी प्रतिभा की हुई असमय मौत

बिलासपुर—-(टेकचन्द) तखतपुर में प्रदेश के प्रख्यात वांसुरी वादक और बहुमुखी प्रतिभा के धनी संतोष चन्दाबहेश का निधन हो गया है।बहुमुखी प्रतिभा के धनी संतोष बांसुरी वादक के साथ विभिन्न वाद्य यंत्रों को एक साथ बजाने की क्षमता रखते थे। संतोष के निधन से तखतपुर के लोग काफी दुखी हैं। लोगों ने संतोष के निधन पर शोक जाहिर किया है।
                  बड़े बाजार निवासी संतोष चन्दाबहेश को तखतपुर समेत पूरे प्रदेश में धन्नू भाई के नाम से जाना जाता है। संतोष ने सोमवार की रात करीब 12 बजे तखतपुर स्थित अपने निवास में अंतिम सांस लेकर परिवार को रुलाकर चले गए। बता दें कि संतोष विभिन्न वाद्यों को बजाने में पारगंत थे। ढोलक , हारमोनियम, बैन्जो, आर्गन,जार्जसेट तबला, सितार, गिटार, प्यानो, ड्रमसेट, काँगो, बाँगो, तुम्बा, तमुरा, तानपुरा, नाल, माँदर ,नंगाड़ा, किलार्निट (किलाट) ब्रास बैण्ड, डुग्गा ,ढोल, ड्रम, ट्रम्पिट, अल्टहारन , सैक्जोफोन, तथा शहनाई ,बीन , बाँसगीत बजाने में उनकी कोई सानी नहीं थी। उन्होंने ना केवल तखतपुर बल्कि जिले का नाम प्रदेश और देश में रोशन किया।
                संतोष भाई संघर्ष के दिनों में आर्केस्ट्रा, बैण्ड पार्टियों, धमाल /धुमाल, रामायण ,जगराता , भागवतों , में शिरकत किया। अपी बहुमुखी प्रतिभा के दम पर  कला के क्षेत्र में विशेष स्थान हासिल किया। समाज के विकास और जागरूकता की दिशा में संतोष ने बहुत काम किया।

इधर पंचनामा कार्रवाई..उधर शिकार लेकर चला गया तेंदुआ...लोगों की बंध गयी घिघ्घी..रतनपुर की घटना
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS