हम बिहार का नकल नहीं करेंगे..रमशीला साहू

Editor
5 Min Read

R_CT_RPR_546_11_BAYAN_BITE2_VISHAL_DNGबिलासपुर— मंहिला एवं बाल विकास मंत्री रमशिला साहू ने आज जिले के विभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। उन्होने बैठक के दौरान कुछ अधिकारियों ठीक से काम करने की नसीहत दी तो कुछ को फटकार का कड़वा घूंट पिलाया। सरकार की योजनाओं को जन जन तक इमानदारी से पहुंचाने को कहा। बैठक के बाद मंत्री रमशीला साहू ने पत्रकारों से भी चर्चा की।

Join Our WhatsApp Group Join Now

                                बैठक के बाद मंत्री रमशीला साहू ने कहा कि सरकार ने कुपोषण से बचाव के लिए नवाजन योजना के अलावा अमृत योजना शुभारम्भ किया है। गर्भवती माताओं के साथ शिशुओं को भी इस योजना का लाभ मिलेगा। रमशीला साहू ने बताया कि सुकमा से नवाजत और कोरिया से अमृत योजना को शुरू किया गया है। अमृत योजना के तहत गर्भवती माताओं को आंगन बाड़ी केन्द्र शुद्ध दूध दिये जाने की व्यवस्था मुख्यमंत्री ने किया है।

                               मंत्री रमशीला साहू ने पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि रेडी टू इट की तरह अमृत योजना से मिलने वाले दूध में मिलावट की शिकायत नहीं होगी। उन्होने रेड़ी टू ईट योजना को सफल बताते हुए कहा कि गर्भवती मां और बच्चों के लिए अमृत योजना लाभदायक साबित होगा। मंत्री ने कहा कि रेडी टू इट योजना मे किसी प्रकार की शिकायत नहीं है। हमने विभाग और स्वसहायता समूहों का सर्जरी कर दिया है। बदमाशी करने वाले स्वसहायता समूहों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है।

                   महिला एवं बाल विकास मंत्री ने बताया कि सरकार की योजनाओं के प्रयास से प्रदेश में कुपोषण का स्तर घटा है। पहले जहां कुपोषण का दर 47 प्रतिशत था अब घटकर 30 प्रतिशत पहुंच गया है। हम जल्द से नई योजनाओं से इसे और कम करेंगे। रमशाला साहू ने मानने से इंकार कर दिया कि नई योजनाओं के आने का मतलब यह नहीं कि पुरानी योजनाओं में कुछ गड़बड़ी थी। नई और पुरानी योजनाओं से मां और बच्चे के स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। उन्होने योजनाओं में किसी प्रकार की गड़बड़ी से इंकार कर दिया।

                                  इस दौरान मंत्री रमशीला साहू ने बताया कि आंगनबाड़ी केन्द्रों का विस्तार किया जा रहा है। लेकिन उन्होने यह नहीं बताया कि बिलासपुर जिले में कितने आंगनबाड़ी केन्द्र हैं। उनकी हालत क्या है। जहां आंगनवाड़ी केन्द्र नहीं हैं वहां कब तक खुलेगा। रमशीला साहू ने पत्रकारों के कई सवालों को टाल दिया।पंचायत और समाज कल्याण विभाग को किन कारणों से अलग किया गया के सवाल पर उन्होने कहा कि यह सब बेहतर परिणाम के लिए मुख्यमंत्री ने किया है।

                       स्कूली शिक्षा मंत्री केदार कश्यप के विवादित बयान लड़कियां पढ़ने से ज्यादा फैशन पर ध्यान देती है पर महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू ने टालते हुए कहा कि बेटियां बहुत पढ़ रहीं हैं और आगे बढ़ रहीं है इसलिए बेटियों को छेड़ने के बजाय उनका स्वागत और सम्मान बढ़ाना चाहिए। बेटियां समाज में प्रेरणा बन सकें। सबको सहयोग करना चाहिए।

                        प्रदेश में संपूर्ण शराबबंदी की मांग पर  मंत्री रमशीला साहू का बयान सुनने ही लायक था। उन्होने कहा कि लोग जिस दिन शराब पीना छोड़ देंगे दुकान भी बंद हो जाएगा। उन्होने कहा कि चार से अधिक स्थान पर शराब दुकानों को बंद कर दिया गया है। राजस्व टारगेट बढ़ा दिया गया है के सवाल पर मंत्री ने कहा कि लोग किसी बात को नहीं समझते हैं। हमने दुकानों की संख्या कम कर दी है। जिस दिन लोग शराब पीना छोड़ देंगे..शराब बिकना भी बंद हो जाएगा। उन्होने कहा कि बिहार और छत्तीसगढ़ में बहुत अंतर है। हम किसी का नकल नहीं करते हैं।  दोनों सरकार के कामकाज का तरीका भी जुदा है। इसलिए हम देखा सीखी निर्णय कैसे ले सकते हैं।

close