मेरा बिलासपुर

हर ब्लॉक के एक स्कूल में नवमीं क्लास से उर्दू की पढ़ाई

urdu

बिलासपुर । अल्पसंख्यको के कल्याण के लिए प्रधानमंत्री के 15 सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन हेतु गठित समिति की बैठक कलेक्टर सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में अल्पसंख्यक समुदाय के हितो के लिए संचालित योजनाओं का व्यापक प्रचार प्रसार करने और इन वर्गों के हितग्राहियो को योजनाओ से लाभान्वित करने हेतु अधिकारियों को निर्देश दिए गए।
मंथन सभा कक्ष में आयोजित बैठक में कलेक्टर ने कहा कि अल्पसंख्यक वर्ग के लिए संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन में जो भी समस्या होगी उन्हे दूर किया जायेगा। उन्होने समुदाय के लोगों से अनुरोध किया कि सामाजिक रूप से जागरूकता बढ़ाए तथा योजनाओं का लाभ ले। कलेक्टर ने कहा कि स्कूलो में रिक्त उर्दू शिक्षको की कमी दूर की जायेगी साथ ही कौशल उन्नयन के लिए समुदाय बाहूल्य क्षेत्र में कैंप लगाये जायेगे तथा सिलाई, कम्प्यूटर जैसे हुनर का प्रशिक्षण दिया जायेगा। समिति के सदस्य ने बताया कि स्कूलो में 8 वी तक उर्दू पढ़ाई जाती हैं किंतु 9 वीं कक्षा में उर्दू पढ़ाने की व्यवस्था नहीं हैं। कलेक्टर ने इस संबंध में कहा कि प्रयास किया जाएगा कि हर ब्लाक के एक स्कूल में कक्षा 9 वी से उर्दू पढ़ाने की व्यवस्था हो।
समिति में 18 सदस्य हैं। सदस्यों ने परिचय पत्र की मांग की जिस पर कलेक्टर ने सहमति देते हुए नोडल अधिकारी को एक हफ्ते के भीतर सभी सदस्यों को फोटो युक्त परिचय पत्र वितरित करने के निर्देश दिये।
बैठक में आदिवासी विकास विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, शिक्षा विभाग एवं अन्य विभागो के अधिकारियों ने अल्पसंख्यको के लिए संचालित योजनाओं की जानकारी दी और इसके पाॅम्पेलेट भी वितरित कराए गए। कलेक्टर ने संचालित योजनाओं से संबंधित पुस्तक सभी सदस्यों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। बैठक में सदस्यों ने अल्पसंख्यक हितो से जुड़े विभिन्न मुद्दों की ओर कलेक्टर का ध्यान आकर्षित कराया। जिसके निराकारण के लिए संबंधित अधिकारीयों को निर्देश दिया गया।
बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे, कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डिप्टी कलेक्टर एस के वैद्य, सहित अन्य अधिकारी समिति के सदस्य अजीत सिंह भोगल, इदरीश खान, रियाज अशरफी, बलवंत सिंह भूरा, बिलसन लाल, विनोद जैन, श्रीमति रीता भामरा,फादर एन आर वर्डे आदि उपस्थित थे।

महिलाओं ने सुनाई पुलिस कप्तान को आपबीती.. छोटे से गांव में बह रही शराब की नदी..कोचियों ने जीना किया मुश्किल..आबकारी को भी सुनाया दर्द
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS