हवाई सुविधा की मांग…… धरना में शामिल हुईं महिलाएं….. कहा – विकास के लिए ज़रूरी है हवाई सेवा

बिलासपुर । हवाई सुविधा से बिलासपुर को जोड़ने की मांग को लेकर हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति की ओर से चल रहे अखंड धरना आंदोलन के 65 वें दिन रविवार को छत्तीसगढ़ खंडेलवाल महिला संगठन और खंडेलवाल महिला मंडल के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया । आज पहला ऐसा दिन था ,जब केवल महिला संगठनों मैं बिलासपुर से महानगरों तक सीधी हवाई सेवा के लिए धरना दिया ।

सभा को संबोधित करते हुए खंडेलवाल महिला संगठन की वरिष्ठ सदस्य सदस्य श्रीमती देवकी खंडेलवाल ने कहा कि बिलासपुर में हवाई सुविधा एक ऐसी मांग है, जिसके लिए वे शारीरिक रूप से बहुत अच्छा महसूस न करने के बाद भी धरने में शामिल होने आई हैं। उन्होंने कहा कि बहुत सारी बीमारी के इलाज के लिए बिना हवाई सेवा के बार-बार महानगरों तक जाना संभव नहीं हो पा रहा है और इसके लिए कारण लोगों को काफी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है । खंडेलवाल महिला मंडल की अमिता खंडेलवाल ने बिलासपुर के आसपास पर्यटन की असीमित संभावनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि कोई भी पर्यटन केंद्र हवाई अड्डे की नजदीकी के बगैर नहीं हो सकता है । छत्तीसगढ़ जैसे राज्य में जिसका क्षेत्रफल तमिलनाडु से बड़ा है, केवल एक हवाई अड्डा होना हमारे विकास को रोक रहा है।

संगठन की आभा खंडेलवाल ने इस बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि केवल पर्यटन तक ही मांग सीमित नहीं है । वस्तुतः आज हमारे घरों में के कोई न कोई सदस्य दिल्ली, मुंबई ,पुणे, बेंगलुरु , हैदराबाद आदि शहरों में रह रहे हैं और जब तक लंबी छुट्टी ना हो वह चाह कर भी घर नहीं आ सकते । बिलासपुर से रायपुर जाकर एक ही दिन में दिल्ली या मुंबई से वापस नहीं आया जा सकता। जिससे व्यापार भी प्रभावित हो रहा है।

सुबह की कड़ी ठंड के बाद भी आज दोनों महिला संगठन सुबह 10 बजे के पहले ही धरना स्थल पहुंच गए। वक्ताओं की कड़ी में श्रुति खंडेलवाल ने अपना अनुभव बताया कि वे चार्टर्ड अकाउंटेंट है और अपने काम के सिलसिले में कोई सेमिनार बिलासपुर में प्रस्तावित थी। परंतु हवाई सुविधा नहीं होने के कारण उनका आयोजन बिलासपुर में नहीं हो पाया । वह पढ़ाई के समय बेंगलुरु में रहा करती थी और वहां से बिलासपुर आना अपने आप में एक कठिन कार्य था । अनुभआ खंडेलवाल और राजेश्वरी खंडेलवाल ने सभी वक्ताओँ की बातों का समर्थन करते हुए कहा कि बिलासपुर में 150 करोड़ की लागत का एयरपोर्ट बनाने में हीला हवाला किया जा रहा है। जबकि अंडर ग्राउंड के नाम पर दस हज़ार करोड़ की बर्बादी कर दी गई है। सभा को नवनिर्वाचित पार्षद रविंद्र सिंह,डॉ.शंकर यादव यादव और आदर्श युवा मंच के महेश दुबे ने भी संबोधित किया। सभा का संचालन अभिषेक सिंह ठाकुर ककर रहे थे।

धरना आंदोलन में अंजू खंडेलवाल, मधु खंडेलवाल,रेखा खंडेलवाल ,नीतू खंडेलवाल ,जुनी खंडेलवाल, शालिनी खंडेलवाल,रीना खंडेलवाल के साथ समिति की ओर से अशोक भंडारी, बीएल खंडेलवाल ,राकेश खंडेलवाल, संजय पिल्ले, मनोज श्रीवास ,राघवेंद्र सिंह, शेख अल्फाज ,पप्पू तिवारी केशव गोरख, समीर अहमद, संतोष पीपलवा ,शब्बीर अली, पवनपांडे र,घुराज सिंह और सुदीप श्रीवास्तव शामिल हुए । सोमवार को 66वें दिन धरना आंदोलन में छत्तीसगढ़ पत्रकार कल्याण संघ शामिल होगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *