हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति का अखंड धरना, मांग पूरी नहीं हुई तो रेलवे जोन जैसा विशाल जन आंदोलन खड़ा हो जाएगा

बिलासपुर।हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति का अखंड धरना आंदोलन को चलते हुए आज 54वें दिन टेन्ट ओनर, लाईट ओनर व माईक-साउण्ड ओनर ऐसोसियेशन के पदाधिकारी धरने पर बैठे। गुरू घासीदास जयंती के अवसर पर समिति ने ‘‘मनखे-मनखे एक समान’’ के संदेश को याद कर गुरू की इच्छाअनुरूप बिलासपुर को भी समान विकास का भागीदार बनाये जाने की अपील की।आज की सभा को संबोधित करते हुये लाईट ओनर ऐसोसिएशन के अध्यक्ष भुटटो राज ने कहा कि बिलासपुर में राज्य बनने के तुरन्त बाद ही एयरपोर्ट बन जाना चाहिए था, परन्तु 19 सालों में हमारी उपेक्षा हुई है।

चूंकि बिलासपुर एयरपोर्ट राज्य सरकार के स्वामित्व में है, इसलिए इसकी अधिक जिम्मेदारी पिछले 19 साल के राज्य सरकारों की है। उन्होंने हाल ही में राज्य सरकार द्वारा रू 27 करोड मंजूर करने का स्वागत किया। टेन्ट हाउस एसोसिएशन के अध्यक्ष अमरजीत सिंह दुआ ने कहा कि बिलासपुर में कोई भी बडी कंपनी अपना कार्यालय खोलना नही चाहती क्यांेकि यहां हवाई सुविधा नहीं है। इसका बडा नुकसान पूरे क्षेत्र को हो रहा है।

बिलासपुर क्षेत्र के टेन्ट व्यवसायियों केा भी इस कारण बडे स्तर के काम करने का अवसर कम ही मिल पाता है। साउण्ड ओनर ऐसोसिएशन के अध्यक्ष सारंग राव हुमने ने अपना वक्तव्य देते हुये कहा कि राज्य निर्माण के वक्त बिलासपुर और रायपुर में दोगुने का अंतर था जो आज बढकर पांच गुने से अधिक हो गया है। अगर आज हमसबने मिलकर बिलासपुर में हवाई सुविधा हांसिल नही की तो यह अंतर बढकर दसगुने का हो जायेगा।

सभा को संबोधित करते हुए टेन्ट मालिक कमल जैन ने 1988 में चलाये गये वायुदूत की याद दिलायी और कहा कि हमें आज बिलासपुर से पुणे-हैदराबाद-बैंगलौर समेत दिल्ली-मुंबई और कलकत्ता की हवाई सुविधा चाहिए। उन्होंने वर्तमान में जारी बिलासपुर अंबिकापुर उडान के टेण्डर को अपर्याप्त बताते हुए केन्द्र सरकार से इसमें सुधार की मांग की। टेन्ट मालिक गुरदीप सिंह अजमानी और अषोक गंगवानी ने कहा कि रेल्वे जोन जैसा विशाल जनआंदोलन खडा हो जायेगा यदि बिलासपुर के षांतिपूर्ण आंदोलन से यह मांग पूरी नही हुईं। सभा को केशव गोरख, अशोक भण्डारी, बद्री यादव, सतनाम सिंह, दिनेश दीप लाईट आदि ने भी संबोधित किया।

समिति ने आज धरना आंदोलन स्थल पर सिख टेन्ट हाउस के पूर्व संचालक मंजीत सिंह(बंटी सरदार) का स्मरण करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी और जन सामान्य को बताया कि पूर्व मंे भी बंटी के द्वारा हर जनआंदोलन में स्वयं होकर टेन्ट की व्यवस्था सहयोग के रूप में की गई थी और आज उनके भाई रिंकू सरदार इस परम्परा को निभा रहे हैं, जिसके लिए समिति उनका आभार व्यक्त करती है। सभा में उपस्थित अन्य वक्ताओं ने आंदोलन में और भी किसी आवश्यकता पर हर स्तर पर सहयोग की बात कही।

आज धरना आंदोलन में संजय केशरवानी, देवेन्द्र सिंह, शेख अल्फाज, राजेश गुरबक्स सिंह, जगत बहादुर सिंह, सरबजीत सिंह राणा, प्रथमेश कोन्हेर, जाहिद भाई, शकील भाई, पप्पू तिवारी, इन्द्रजीत सिंह, भुवनेष्वर शर्मा, रघुराज सिंह, संतोश पिपलवा, आनन्द कश्यप, रामकुमार तिवारी, साबर अली, निर्मल सूर्यवंशी, वी.के.भीमटे, प्रमोद विस्वास समेत कष्मीर टेन्ट, कौशिक लाईट, ताज लाईट, रवि टेन्ट, कालिका टेन्ट, मारूति टेन्ट, बिलासपुर टेन्ट, राणा टेन्ट, दीप लाईट, सागर साउण्ड, सत्या टेन्ट आदि के प्रतिनिधि भी सम्मिलित हुये। सभा का संचालन शेख अल्फाज ने किया। अखण्ड धरना आंदोलन के 55वें दिन 19 दिसम्बर को गायत्री परिवार बिलासपुर के प्रतिनिधि धरने पर बैठेगें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *