10 महीने तक किया दैहिक शोषण ..फिर रेलवे स्टेशन में पकड़ाया फरार आरोपी…पुलिस कस्टडी में नाबालिग

बिलासपुर—सिविल लाइन पुलिस की दस महीने पहले दर्ज गुमशुदा लड़की की तलाश पूरी हो गयी है। नाबालिग लड़की के परिजनों की शिकायत पर 28 जुलाई 2019 में गुमशुदा रिपोर्ट दर्ज किया गया था। मामले में लगातार छानबीन के साथ नाबालिग को आरोपी दीपू ऊर्फ दीपक विश्वकर्मा के पिता भोलाराम विश्वकर्मा के साथ रेलवे स्टेश से पकड़ा गया है। लड़की की बरामदगी के बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ 363, 366, 376 और 4 पाक्सो एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

                         सिविल लाइन थाना प्रभारी परिवेश तिवारी ने बताया कि 28 जुलाई 2019 को थाना पहुंचकर घर से गायब नाबालिग की मां ने शिकायत की। लिखित शिकायत में बताया कि उसकी बेटी 27 जुलाई 2019 को सुबह 7 बजे घर से गायब हो गयी। शिकायत पर पुलिस ने गुम इंसान में रिपोर्ट कर लिया।

                 इस बीच गायब नाबालिग की पता साजी की जा रही थी। तकनीकि प्रमाण और मुखबीर से जानकारी मिली कि नाबालिग लड़की और एक युवक को रेलवे स्टेशन बिलासपुर में देखा गया है। पुलिस ने तत्काल एक्शन लेते हुए रेलवे स्टेशन पहुंचकर घेराबन्दी को अंजाम दिया। अपहृत लड़की को कब्जे में लेकर आरोपी दीपू ऊर्फ दीपक विश्वकर्मा को गिरफ्तार किया गया।

                          पूछताछ के दौरान कब्जे में ली गयी नाबालिग लड़की ने बताया कि उसके साथ पिछले दस महीने में लगातार दैहिक शोषण किया गया। लाकडाउन के चलते  बाहर से बिलासपुर वापस आयी। इसी दौरान हम दोनों को पुलिस ने पकड़ लिया।

               परिवेश तिवार ने बताया कि आरोपी के खिलाफ पकड़े जाने के बाद पहले से दर्ज 381 के अलावा  363, 366, 376 और 4 पाक्सो एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया गया। गिरफ्तारी के बाद आरोपी को न्यायालय में पेश किया गया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *