प्रेस वार्ता में SP ने किया खुलासा,अंतरराज्यीय ठग गिरोह के 5 सदस्य गिरफ्तार,मास्टरमाइंड सहित 12 लोग फरार

रामनुजगंज(पृथ्वीलाल केशरी) बलरामपुर रामानुजगंज जिले के पुलिस ने एक ऐसे गिरोह के 5 सदस्यों को गिरफ्तार किया है जिनके द्वारा जैविक खाद की डीलरशिप देने के नाम पर छत्तीसगढ़, झारखंड,मध्यप्रदेश और पश्चिम बंगाल में लगभग तीन करोड़ रुपये की ठगी की गई हैं।वहीं फर्जी नाम और फर्जी कंपनी बनाकर अवैध कारोबार कर रहे थे।आरोपियो में उत्तरप्रदेश के मउ जिले के थाना सरायलखनसी के ग्राम रणवीपुर निवासी अमित सिंह उर्फ अनुज सिंह(30),अजीत सिंह उर्फ वीर सिंह(28),तेरुनदिया पुरी ओडिशा निवासी रंजीत स्वाई उर्फ रश्मिरंजन सिंह (35),नरेला दिल्ली मूल निवासी मेहनगर आजमगढ़ निवासी धर्मेंद्र सिंह(35) तथा जमुनिया गाजीपुर निवासी अमित यादव उर्फ प्रमोद यादव शामिल है।गिरोह में गिरफ्तार आरोपितों के अलावा 12 अन्य सदस्यों के नाम का भी पता चला है,इनकी गिरफ्तारी के लिए बलरामपुर पुलिस की अलग-अलग टीम को लगाया गया है।गिरफ्तार आरोपितयो के पास से एक डस्टर वाहन,26 नग प्री एक्टिवेटेड सीम,छह मोबाइल एवं 80 हजार नकद बरामद किया गया है।

प्रेस वार्ता में उक्त मामले का खुलासा करते हुए जिले के पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग ने बताया कि जिले के राजपुर रामानुजगंज एवं वाड्रफनगर में कलिंग एग्रो बिजनेस के नाम से बकायदा कार्यालय खोलकर संस्था का संचालन किया जा रहा था। जनवरी 2022 से अप्रैल 2022 तक गांव-गांव में पौधे बेचकर उनकी देखरेख का तरीका तरीका बताने के आड़ में किसानों से संपर्क बढ़ाया गया इसके बाद जैविक खाद के साथ डीएपी और यूरिया की डीलरशिप देने के नाम पर मई 20-22 में जालसाजी शुरू कर दी गई।

उन्होंने बताया कि रक्षा निधि के नाम पर किसानों से दस हजार रुपये से लेकर पांच लाख रुपये तक की राशि को अपने कार्यालय में जमा कराते हुए बकायदा उसका अनुबंध भी किया गया। बारिश शुरू होते ही जब आरोपियों के पास लोगों ने संपर्क करने का प्रयास किया तो उनका मोबाइल ही स्विच ऑफ बताने लगा। पीड़ितों ने तंग हार कर इसकी शिकायत संबंधित पुलिस थाने में दर्ज कराना शुरू किया। वहीं जिला मुख्यालय बलरामपुर में 150 लोगों से 90 लाख की ठगी करने का मामला दर्ज कराया। पुलिस ने दर्ज मामले को लेकर छानबीन शुरू की तो सबसे पहले मउ उत्तरप्रदेश से अमित सिंह को पकड़ा गया। पूछताछ में उसने दूसरे आरोपियो में धर्मेंद्र सिंह को नरेला दिल्ली से तथा रंजीत स्वाई और अमित यादव को नीमपाड़ा ओडिशा से गिरफ्तार कर लिया। लेकिन गिरोह का मास्टरमाइंड अभी फरार है।

सरगुजा आईजी एवं एसपी ने की इनाम की घोषणा

देश के कई राज्यों में ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के सदस्यों की गिरफ्तारी में शामिल पुलिस टीम को सरगुजा रेंज के पुलिस महानिरीक्षक अजय कुमार यादव ने बधाई दी है।उन्होंने टीम में शामिल पुलिस अधिकारियों,कर्मचारियों को 25 हजार रुपये तथा बलरामपुर पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग ने 10 हजार रुपये पुलिस टीम को इनाम देने की घोषणा की है।उक्त कार्रवाई में निरीक्षक रमाकांत साहू, निरीक्षक संतराम आयाम, निरीक्षक सुषमा सिंह, उप निरीक्षक अमित गुप्ता, उप निरीक्षक विनोद पासवाल, उप निरीक्षक रजनीश सिंह, एएसआइ संदीप सिंह, रफेल तिर्की, आरक्षक संतोष सिंह, शैलेन्द्र तिवारी, शिव पटेल, अंकित जायसवाल, संतोष गुप्ता, अभिषेक पटेल, रिंकु गुप्ता,साइबर सेल बलरामपुर से कालेश्वर तिर्की, मंगल सिंह, अमित निकुंज, अमरेंद्र सिंह, राजकमल सैनी, प्रदीप साना शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *