Daily Archive: Monday, September 20, 2021

डेंगू के रोकथाम और बचाव के लिए निगम ने छेड़ा अभियान,उपायुक्त खजांची कुम्हार को बनाया गया नोडल अधिकारी

बिलासपुर- डेंगू के संभावित खतरे को देखते हुए नगर निगम प्रशासन ने अपने प्रयास तेज कर दिए। इसी तारतम्य में निगम द्वारा कमिश्नर श्री अजय त्रिपाठी के निर्देश पर अभियान की शुरूआत की गई है। जिसका जिम्मा निगम के उपायुक्त श्री खजांची कुम्हार को सौंपा गया है।डेंगू जैसे संक्रामक बीमारी के रोकथाम और बचाव के

स्काई हास्पिटल का संचालक गायब..पता-साजी में जुटी पुलिस..सामने आ रहा लेन-देन..सम्पत्ति विवाद का मामला..मुखबीरों को दौड़ाया गया

बिलासपुर— रिपोर्ट दर्ज कराने के 24  घंटे बाद भी स्काई हास्पिटल संचालक का कहीं पता नहीं चल सका है। एक दिन पहले यानि रविवार को गायब होने की रिपोर्ट स्काई हास्पिटल स्टाफ ने थाना सरकन्डा में दर्ज कराया था। थाना प्रभारी परिवेश तिवारी ने बताया कि पुलिस टीम प्रदीप अग्रवाल की लगातार पतासाजी कर रही

VIDEO-मुख्यमंत्री ने कहा-गजब की महिला है..3 दिन के चिंतन शिविर में निकला-थू..भाजपा के पास मुद्दा नहीं..पुंरदेश्वरी ने रमन सिंह को नकारा

बिलासपुर— एक दिवसीय अल्प प्रवास पर बिलासपुर पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने…दुग्गावत्ती पुरंदेश्वरी को गजब की महिला बताया। उन्होने कहा कि बस्तर में भाजपा के चिन्तन शिविर में निष्कर्ष  केवल थू निकला है। पन्द्रह साल तक मुख्यमंत्री रहे..पुरंदेश्वरी कहती हैं कि रमन सिंह हमारा चेहरा नहीं है। यह हाल भाजपा और भाजपा नेताओं का है।

स्वामी आत्मानन्द उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूलों के संविदा पदों का साक्षात्कार 23 से 26 सितम्बर

जगदलपुर।जिले के स्वामी आत्मानन्द उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूलों के शैक्षणिक एवं गैर शैक्षणिक संविदा पदों की भर्ती हेतु कन्या पॉलिटेक्निक महाविद्यालय धरमपुरा जगदलपुर में 23 से 26 सितम्बर 2021 तक प्रतिदिन प्रातः 11 बजे से अभ्यर्थियों का साक्षात्कार लिया जाएगा।जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि साक्षात्कार के लिए अभ्यर्थी को निर्धारित समय से आधे घण्टा

युद्धवीर का बैंगलूरू में निधनःलिवर ट्रांसप्लांट से पहले दुनिया को कहा अलविदा..छोटी उम्र में खेल गए लम्बी पारी..पीछे छोड़ गए पत्नी और बच्ची

बिलासपुर—- पूर्व केन्द्रीय मंत्री दिलीपसिंह जूदेव के सबसे छोटे पुत्र युद्धवीर सिंह का आज तड़के बैंगलुरू में इलाज के दौरान निधन हो गया है। युद्धवीर सिंह तीन भाईयों में सबसे छोटे थे। अपने पीछे पत्नी संयोगिता सिंह जूदेव और बेटी उद्यानिका सिंह जूदेव को छोड़ कर हमेशा के लिए दुनिया को अलविदा कह दिया है।