Corona Crisis: नए साल के जश्न पर देश में कहां कितनी रहेगी सख्ती

Shri Mi
2 Min Read

Corona Crisis: आज 2022 का आखिरी दिन है. कुछ ही घंटों में नए साल (New Year 2023) का सवेरा हो जाएगा. नया साल सबके लिए अच्‍छा हो, लोग यही चाहेंगे. हालांकि, दुनिया के कई देशों में फैली कोरोना महामारी (Covid 19) का खतरा अगले साल भी बने रहने के आसार हैं. भारतीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अधिकारियों ने माना है कि जनवरी 2023 में देश में कोरोना के संक्रमण में तेजी आ सकती है. स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों की ओर से अगले 40 दिनों को चुनौतीपूर्ण बताया गया है.

नया साल शुरू होने से पहले ही केंद्र सरकार की ओर से कोरोना महामारी को काबू करने के कई जरूरी फैसले लिए जा चुके हैं. कहीं मास्‍क को अनिवार्य कर दिया गया है तो कहीं जनरल बोगी वाली ट्रेनें भी कैंसिल हुई हैं. भीड़-भाड़ वाली जगहों पर रैंडम टेस्टिंग के निर्देश दिए गए हैं तो किसी राज्‍य के हर जिले में RT-PCR मशीनें लगा दी गई हैं.

आइए जानते हैं कि नए साल पर किस राज्‍य में कहां-कितनी सख्ती रहेगी…

राज्‍यों में कोरोना से निपटने के प्रयास

  • उत्तराखंड
    यहां कोरोना टेस्ट बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं.
  • हिमाचल प्रदेश
    कोविड प्रोटोकॉल लागू.
  • राजस्थान
    भीड़-भाड़ वाली जगहों पर रैंडम टेस्टिंग के निर्देश हैं.
  • हरियाणा
    हर जिले में RT-PCR मशीन लगाई गई.
  • उत्तर प्रदेश
    कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने के निर्देश हैं. साथ ही प्रीकॉशन डोज बढ़ाने को कहा गया है.
  • कर्नाटक
    यहां भीड़ में मास्क जरूरी है. बड़े शहरों में न्‍यू ईयर पार्टी को लेकर भी कुछ बंदिंशें लगाई गई हैं.
  • महाराष्ट्र
    टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट, वैक्सीनेट का फॉर्मूला अपनाया जाएगा. साथ ही सीनियर सिटीजन और बीमार लोगों के लिए मास्क जरूरी है.
  • केरल
    कोरोना केस की जीनोम सीक्वेंसिंग हो रही है.
  • दिल्ली
    विदेश से आने वालों का रैंडम टेस्ट हो रहा है.
  • गोवा
    2 जनवरी तक पाबंदी नहीं है.
close