30 दिन का हिसाब मांग रहे..1महीने में बंगला खाली नहीं कर पाए..CM ने कहा…हराने वाले को बनाया नेता प्रतिपक्ष

बिलासपुर— निजी प्रवास पर बिलासपुर पहुंचे प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल ने चिर परिचित अंदाज में एक बार फिर दोनों पूर्व सीएम और भाजपा पर निशाना साधा है। भूपेश बघेल ने कहा कि जो एक महीने में बंगला खाली नहीं कर पा रहे…वही लोग तीस दिन का हिसाब किताब मांग रहे हैं। हमारा काम सबको दिखाई दे रहा है। गुटबाजी कांग्रेस में नहीं बल्कि भाजपा में है। ऐसे नेता को नेता प्रतिपक्ष बना दिया गया जिसकी अगुवाई में विधानसभा का चुनाव लड़ा गया। और भाजपा 49 से समिटकर 15 अंक तक पहुंच गयी है।

                                   अपने अल्प प्रवास के दौरान भूपेश ने पत्रकारों के सवालों का जवाब दिया। एक सवाल के जवाब में भूपेश ने कहा कि पूर्व सीएम और भाजपा नेता तीस दिन का हिसाब किताब मांग रहे हैं।

समझ से परे हैं कि जो एक महीने में बंगला तक खाली नहीं कर पाए हैं…ऐसे लोग तीस दिन का हिसाब किताब मांग रहे हैं। प्रदेश की जनता को सब कुछ दिखाई दे रहा है…फिर उन्हें क्यों नहीं दिखाई दे रहा है।

               भाजपा के मिशन 11 के सवाल पर भूपेश ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेता अपनी पार्टी के लिए नहीं बल्कि कांग्रेस को टारगेट देते हैं। उन्होने मिशन 65 दिया। हमने उसे पूरा कर दिखाया। अब मिशन 11 दिया है..कांग्रेस पार्टी उसे भी पूरा करेगी। सीएम ने बताया कि कांग्रेस में नहीं बल्कि भाजपा में गुटबाजी है। 49 सीटों वाली पार्टी सिमटकर 15 तक पहुंच गयी है।

                              भाजपा और नेता प्रतिपक्ष पर निशाना साधते हुए भूपेश ने कहा कि जिसकी अगुवाई में भारतीय जनता पार्टी की चुनाव में करारी हार मिली। उसे ही नेता प्रतिपक्ष बना दिया गया है। गुटबाजी कहां है इसका सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है। लोकसभा चुनाव की जिम्मेदारी ऐसे नेताओं को दी गयी है। जिनकी विधानसभा में करारी हार हुई है।

        अजीत जोगी के गठबंधन के सवाल पर भूपेश ने कहा कि कुछ भी कर लें। लोकसभा में कांग्रेस की ही जीत होगी। जोगी के गठबंधन का कोई अर्थ नहीं है। सवाल जवाब के दौरान सीएम ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री टीेएस सिंहदेव सुपेबेड़ा जा रहा है। प्रदूषित पानी से होने वाली मौत की जानकारी लेंगे। जो भी परिणाम आएगा उसका निदान किया जाएगा।

           शराब बंदी के सवाल पर भूपेश ने कहा कि बिहार के सीएम आए हुए हैं। बिहार में शराबबंदी को लेकर क्या कुछ किया..उनसे चर्चा करेंगे। अध्ययन के बाद शराबबंदी को लेकर उचित कदम उठाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *