30 वर्ष की सेवा पूर्ण करने वाले सहायक शिक्षकों को तृतीय समयमान वेतनमान के लिए कैबिनेट की मुहर का इंतज़ार , फेडरेशन ने उठाई मांग

         

जशपुर । छत्तीसगढ़ प्रदेश शिक्षक फेडरेशन के प्रांताध्यक्ष राजेश चटर्जी ने सहायक शिक्षक पद पर भर्ती हुए शिक्षकों को 30 वर्ष सेवा पूर्ण करने पर तृतीय समयमान वेतनमान 15600-39100+5400(लेवल 12) स्वीकृत करने का ज्ञापन राज्य शासन को दिया है।    जशपुर फेडरेशन के जिलाध्यक्ष विनोद गुप्ता एवं महामंत्री संजीव शर्मा ने बताया कि शासन ने क्रमोन्नति योजना को संशोधित कर 28 अप्रैल 2008 को सिविल सेवा के सदस्यों को समयमान वेतनमान स्वीकृत किया था। 

 उन्होंने बताया कि शासन के सभी विभागों के अधिकारी-कर्मचारियों को 10 वर्ष एवं 20 वर्ष सेवपूर्ण करने के फलस्वरूप योजना अंतर्गत उच्चतर वेतनमान स्वीकृत किया गया । लेकिन सहायक शिक्षकों एवं सहायक पशु चिकित्सा अधिकारी को विभाग द्वारा समयमान वेतनमान स्वीकृत करने का प्रस्ताव शासन को विभाग ने नहीं भेजा। जबकि 28 अप्रैल 2008 के आदेश की कंडिका-15 में उल्लेख है कि जिन विशिष्ट संवर्गों का उल्लेख परिशिष्ट-2 में नहीं है।उनके संबंध में प्रचलित क्रमोन्नति योजना में संशोधन हेतु विभागीय प्रस्ताव अनुसार अलग से निर्णय लिया जायेगा।     

उन्होंने बताया कि,फेडरेशन के निरंतर ज्ञापन के बाद शासन ने 10 मार्च 17 को सहायक शिक्षकों को 10 एवं 20 वर्ष सेवा पूर्ण करने पर प्रथम एवं द्वितीय उच्चतर समयमान वेतनमान का आदेश जारी किया।जोकि विशिष्ट योजना अंतर्गत था।   उन्होंने बताया कि 8 अगस्त 18 को शासन ने शासकीय सेवा में प्रथम नियुक्ति तिथि से 30 वर्ष की सेवा अवधि पूर्ण होने पर तीसरा समयमान वेतनमान स्वीकृत करने का आदेश जारी किया। आदेश के कंडिका-2 में राज्य शासन ने विशिष्ट योजनांतर्गत समयमान वेतनमान का लाभ लेने वाले शासकीय सेवकों को भी 30 वर्ष की सेवा के उपरांत तृतीय समयमान वेतनमान के पात्रता के लिए मंत्रि परिषद के आदेश का प्रावधान किया था।लेकिन आज पर्यन्त मंत्रि परिषद (कैबिनेट) में निर्णय के लिए विभागीय प्रस्ताव नहीं लाने के कारण तृतीय वेतनमान के लाभ से सहायक शिक्षक वंचित हैं।फेडरेशन के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से इस मुद्दे के निराकरण का मांग किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *