बेमुद्दत हड़ताल, न्याय व्यवस्था ठप

बैकुंठपुर। छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के बैनर तले 34 फीसदी महंगाई भत्ता एवं सातवें वेतनमान के अनुरुप गृह भाड़ा भत्ता न मिलने पर ग्यारवें दिवस भी अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहा। गौरतलब है कि कर्मचारियों के मांगों के समर्थन में जिला अधिवक्ता संघ के जिलाध्यक्ष भरतलाल कश्यप अपनी टीम के साथ धरना स्थल पर पहुँचे।श्री कश्यप ने कहा कि कर्मचारियों की मांगे जायज है सरकार को मांगे मान लेना चाहिए।अनिश्चितकालीन आंदोलन में न्याय विभाग के कर्मचारियों के चले जाने से पूरे प्रदेश में न्याय व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गया है।छ.ग.लिपिक वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के उप प्रांताध्यक्ष नजीर अहमद, महामंत्री सुशील कुमार टोप्पो ने कहा कि मुख्यमंत्री जी कहते हैं कर्मचारी हड़ताल समाप्त कर जन हित मे अपने काम पर लौटें फिर बातचीत करेंगे।मुख्यमंत्री के इस कथन से कर्मचारियों में उहापोह की तिथि बनी हुई है। फेडरेशन ने बताया कि आज प्रांतीय स्तर पर बैठक की गई है जिसमें आगे की हड़ताल के संबंध में रणनीति तय की जाएगी। प्रान्तीय निर्णय के अनुसार जिले में हो रहे हड़ताल को दिशा दिया जावेगा।

आज के हड़ताल में अधिवक्ता संघ के आशीष गुप्ता, मुकेशसिंह, पास्कल टोप्पो, मनोज सिंह ने आंदोलन का समर्थन धरना स्थल पर आकर किया। राजस्व विभाग फरीद खान, अमरेश पांडेय एवं कॉमरेड ए. पन्ना द्वारा गीत प्रस्तुत सरकार को जगाने का प्रयास किया तथा योगेश गुप्ता द्वारा  कविता हड़ताल चल रही…के माध्यम से साथियों का उत्साह वर्धन किया। संभागीय सह-संयोजक द्वारा दुष्यंत कुमार की जयंती पर याद किया और कहा कहीं तो तय था चरागा हर एक घर के लिए, कहीं मएस्सर नहीं चराग पुरे शहर के लिए।

आज के हड़ताल में छत्तीसगढ़ लिपिक वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के प्रांतीय सचिव रामसुमेर मिश्रा, संघ के जिलाध्यक्ष सूरजपुर जागेश्वर प्रसाद, विजय कुमार साहू, अजय कुमार, राजेन्द्र सिंह, अशोक यादव,विश्वास भगत,  शंकर सुमन मिश्रा, डॉ एस के मिश्रा, ए.पन्ना, सुरेश एक्का, शिवलाल राजवाड़े, मुकेश सिंह, भरत यादव,संजय सूर्यवंशी, अजय शर्मा, अशोक कश्यप ,फरीद खान, संदीप कुमार मड़वा,भुनेश्वर कंवर आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.