बचपन से मिट्टी को भगवान का रूप देने वाले मूर्तिकार कर्रा देवांगन का निधन

तखतपुर(टेकचंद कारड़ा)।नगर के प्रसिद्ध मूर्तिकार कर्रा देवांगन का आज शाम निधन हो गया।कर्रा 15 वर्ष की आयु बचपन से ही भगवान गणेश और मां दुर्गा की प्रतिमा को बनाने वाला एक अच्छा कारीगर था उसकी बनाई मूर्तियां शहर सहित आसपास क्षेत्र में गणेश चतुर्थी और दुर्गा नवमी में पंडालों में स्थापित होती थी आज शाम उसके निधन हो जाने पर तखतपुर में एक मूर्ति कलाकार को खो दिया।

भगवान के बनाये पुतले लड़ते है,
मेरे बनाये पुतलों की पूजा होती है।

कर्रा देवांगन कहते थे कि एक मिट्टी की मूर्तियां बनाने वाला कर्रा देवांगन कहता था कि भगवान भी एक कलाकार है और मैं भी एक कलाकार हू मुझ जैसे असंख्य पुतले बनाकर इस धरती पर भेजा है और मैंने भगवान के असंख्य पुतले बना कर इस घरती पर बेचा है।उस समय बहुत दुःख लगता है जब भगवान के पुतले आपस में लड़ते हैं।और मेरी तरह इस जमी पर मुर्ति बनाने वालो के पुतलों के सामने लोग शीश झुकाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *