राजेन्द्र की स्थिति नाजुक..हटाए गए एसडीएम…जोगी ने की न्यायिक जांच की मांग

IMG-20151026-WA0014बिलासपुर—बिल्हा एसडीएम कार्यालय के सामने आत्मदाह के बाद युवक कांग्रेस नेता राजेन्द्र तिवारी की स्थिति अभी भी नाजुक बनी हुई है। राजेन्द्र तिवारी को रायपुर में कालरा हास्पिटल में एडिमिट किया गया है। इलाज चल रहा है। रायपुर में बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक राजेन्द्र lतिवारी और उनके परिवार के साथ बने हुए हैं। जानकारी के अनुसार रायपुर कांग्रेस अध्यक्ष विकास उपाध्याय भी राजेन्द्र तिवारी को देखने पहुंचे है। अमित जोगी भी बिलासपुर से रायपुर रवाना हो चुके हैं। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने एसडीएम के खिलाफ अपराध दर्ज करने की मांग की है। इधर कलेक्टर अन्बलगन पी. ने एक आदेश जारी कर बिल्हा एसडीएम अर्जुन सिसोदिया की जगह एस.पी.बैद्य को बिल्हा का कमान सौंपा है।

                                               राजेन्द्र तिवारी की हालत नाजुक बनी हुई है। सियाराम कौशिक बिलासपुर से रायपुर तक लगातार साथ में बने हुए हैं। आज रिसर्च ट्रामा सेंटर में भर्ती के बाद मरवाही विधायक अमित जोगी भी राजेन्द्र तिवारी को देखने पहुंचे। हालत नाजुक होने के कारण राजेन्द्र तिवारी को डाक्टरों ने रायपुर रिफर कर दिया है। जहां प्रदेश के बड़े कांग्रेस नेता लगातार अस्पताल पहुंचकर राजेन्द्र तिवारी की स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

                     बिल्हा में अर्जुन सिसोदिया का विरोध तेज हो गया है।घटनाक्रम के बाद आक्रोशित कुछ लोगों ने एसडीएम कार्यालय पर पथराव किया है। जिससे कांच फूट गये हैं। मामले को गंभीरता से लेते हुए कांग्रेसियों ने न्यायिक जांच की मांग की है। बताया जा रहा है कि अर्जुन सिसोदिया के दबाव में करीब पन्द्रह दिन पहले सेवार का एक युवक जेल में आत्महत्या कर लिया था। उससे एसडीएम ने बीस हजार रूपए की मांग जमानत के लिए की थी।

IMG-20151026-WA0011               इधर बिल्हा और बिलासपुर के कांग्रेस नेताओं ने मंगलवार को नेशनल हाइवे पर चक्काजाम का एलान किया है। कांग्रेसियों ने बिल्हा के सभी वर्गों से इस अभिय़ान में सहयोग की अपील की है। जानकारी के अनुसार व्यवसायियों ने मंगलवार को दुकान बंद करने का एलान किया है। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने प्रशासन से अर्जुन सिसोदिया के खिलाफ न्यायिक जांच की मांग की है।

                 मालूम हो कि अर्जुन सिसोदिया 31 अक्टूबर को रिटायर्ड होने वाले हैं। उन्होंने सरकार से सेवा के लिए संविदा आधार पर अतिरिक्त समय भी मांगा था। लेकिन कलेक्टर ने आज उन्हें पद से हटा दिया है। अर्जुन सिसोदिया ने युवा कांग्रेस नेता से 107-16 के मामले में जमानत के लिए पचास हजार रूपए की मांग की थी। लेकिन राजेन्द्र ने नहीं दिया। आज भी राजेन्द्र अपनी जमानत के लिए बिल्हा एसडीएम कार्यालय गया था। सिसोदिया ने उन्हें धक्के मारकर कार्यालय से बाहर निकाल दिया। जब उसने आत्मदाह की धमकी तो एसडीएम ने कहा कि अगर तू नहीं तो मैं ही आग लगा देता हूं। नाराज युवक ने इसके बाद अग्नि स्नान कर लिया।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर निशाना

                  कांग्रेस नेता अभय नारायण राय ने बताया कि कांग्रेस के युवा नेताओं पर प्रशासन लगातार दबाव बना रही है। उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है। पहले ब़जकिशोर अब लालू ने खुद को मिटाने का प्रयास किया। आखिर यह सब हो क्या रहा है। न्यायिक जांच की जरूरत है। बिल्हा एसडीएम की पपुरानी गलतियों पर यदि पर्दा नहीं डाला जाता तो आज राजेन्द्र ऊर्फ लालू हमारे बीच होता। बिल्हा एसडीएम के खिलाफ अपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाए।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...