पति और पत्नी को जेल..पुलिस ने फोड़ा देह व्यापार का भांडा…पीड़ित महिला की शिकायत पर नेटवर्क का हुआ खुलासा

बिलासपुर—- पुलिस ने देह व्यापार से जुड़े पति पत्नी की गिरोह का पर्दाफाश किया है। पति और पत्नी दोनों को ही पुलिस ने अलग अलग स्थान से धर दबोचा है। दोनों के खिलाफ पुलिस मुखबिर और पीड़िता की शिकायत पर कार्रवाई की गयी है। दोनों देह व्यापार से जुड़े सरगनों को जेल भेज दिया गया है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए

                          बिलासपुर पुलिस को लगातार जानकारी मिल रही थी कि नगर निगम और आस-पास के क्षेत्र में चोरी छिपे देह व्यापार का कारोबार संचालित किया जा रहा है। महिलाओं को जबरदस्ती गंदगी में घसीटा जा रहा है। जानकारी के बाद पुलिस कप्तान के निर्देश पर एडिश्नल एसपी ओपी शर्मा की अगुवाई में टीम का गठन कर दैहिक व्यापार में लिप्त लोगों की निगरानी शुरू हुई।

                  एडिश्वल एसपी ओपी शर्मा और सिटी थाना कोतवाली प्रभारी परिवेश तिवारी ने बताया कि इस बीच एक पीड़िता ने थाना पहुंचकर शिकायत की। महिला ने बताया कि आरती ऊर्फ दुर्गेश्वरी और उसका पति राजेश सुमन देह व्यापार के लिए लगातार दबाव बना रहे हैं।

            महिला ने 8 दिसम्बर को लिखित शिकायत में बताया कि राजेश और उसकी पत्नी लगातार परेशान कर रही है। दोनों कई लोगों से सम्बन्ध बनाने का दबाव बना रहे हैं। चूंकि आर्थिक रूप से कमजोर है। इसका फायदा उठाते हुए दोनों रूपयों का लालच देकर व्यापार करने के लिए मजबूर कर रहे हैं। परिवार और समाज में बदनाम करने की धमकी भी दे रहे हैं। बात नहीं माने जाने पर महिला आरोपी आरती ऊर्फ दुर्गेश्वरी सुमन ने उसका मोबाइल नम्बर सोशल मीडिया में डालकर देह व्यापार से जोड़़कर प्रचार किया जा रहा है। पीड़ित महिला ने बताया कि वह गर्भवती है बावजूद इसके उसे देह व्यापार के लिये दबाव बनाया जा रहा है।

                महिला ने पुलिस को लिखित में यह भी बताया कि जबस दोनों ने उसका नम्बर सोशल मीडिया में डाला गया। तब से उसे लगातार फोन आ रहे है। सभी लोग देह व्यापार के लिए आमंत्रित कर रहे है। जिसके चलते उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। पुलिस ने महिला की शिकायत पर सिटी कोतवाली में राजेश सुमन और उसकी पत्नी दुर्गेश्वरी के खिलाफ अपराध दर्ज जांच पड़ताल शुूरू की। दोनों के नम्बर को साइबर सेल में डाला गया। ट्रेस करने पर जानकारी मिली कि दोनों देह व्यापार से जुड़े हुए हैं।

                 इसके अलावा पुलिस को दोनों के खिलाफ गंभीर साक्ष्य भी मिले। एडिश्वल एसपी और थाना प्रभारी ने बताया कि दोनों आरोपियों की तलाश शुरू हुई। आरती ऊर्फ सुमन को दयालबन्द स्थित उसके मकान से हिरासत में लिया गया। दुर्गेश्वरी के पति राजेश सुमन को कोरबा जिला के उरगा थाना स्थित चिकनीपाली घर से हिरासत में लिया गया।

                          दोनों से पूछताछ की गयी। दोनों ने जानकारी दी कि वह चिकनीपाली के रहने वाले हैं। पुलिस ने दोनों के नेटवर्क से जडु नम्बरों को साइबर सेल मे डाल दिया है। सीडीआर साइबर सेल से हासिल किए जा रहे हैं। दोनो आरोपियों के खिलाफ अनैतिक व्यापार अधिनियम 1956 की धारा 5 के तहत अपराध दर्ज कर जेल भेज दिया गया है। नेटवर्क का भी पता लगाया जा रहा है। 

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...