कांग्रेस ने किया चक्काजाम..हिलने नहीं दिया एम्बुलेन्स…पुलिस को छूटा पसीना

IMG-20151028-WA0002  बिलासपुर—पुलिस की चाक चौबंद व्यवस्था के बीच रायपुर से युवा कांग्रेस नेता राजेन्द्र तिवारी का पार्थिव शरीर एम्बुलेन्स से बिल्हा पहुंचा। स्थानीय निवासी और कांग्रेस ने एम्बुलेंस को घेर कर रायपुर-बिलासपुर हाइवे को जाम कर दिया। कांग्रेसियों की मांग है कि जब तक एसडीएम अर्जुन सिसोदिया के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं होगा एम्बुलेन्स को आगे नहीं बढ़ने दिया जाएगा। यदि प्रशआसन अपनी मनमानी करता है तो वे लोग राजेन्द्र तिवारी के शव को रेलवे ट्रैक पर रखकर सामुहिक आत्महत्या करेंगे।

               बिल्हा में आज सुबह से भारी तनाव का वातावरण देखने को मिला। कांग्रेसियों और स्थानीय लोगों ने हाइवे को जाम कर दिया। जिसके चलते सामान्य आवागमन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। कांग्रेस के दिग्गज नेता आज दोपहर से ही बिल्हा वासियों के साथ हाइवे पर चक्काजाम किया है। जैसे ही राजेन्द्र का पार्थिव शहर बिल्हा पहुंचा कांग्रेसियों ने एम्बुलेन्स को आगे जाने से रोक दिया। लोगों ने प्रशासन से मांग की है कि जब तक एसडीएम के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं होगा। पार्थिव शरीर और एम्बुलेन्स को आगे नहीं बढ़ने दिया जाएगा।

              मालूम हो कि दो दिन पहले राजेन्द्र ने एसडीएम कार्यालय के सामने पेट्रोल डालकर अग्निस्नान कर लिया था। गंभीर रूप से जल चुके राजेन्द्र को रायपुर ऱिफर किया गया। जहां उन्होंने कल करीब दम तोड़ दिया। कांग्रेस नेता के निधन के बाद बिल्हा और बिलासपुर में काफी आक्रोश देखने को मिला। मंगलवार को लोगों ने चक्काजाम कर दिया था। कलेक्टर के आश्वासन के बाद जाम खत्म हो गया। आज फिर कांग्रेस और स्थानीय लोगों ने सुबह 11 बजे से हाइवे को जाम कर दिया। जिसके चलते बिलासपुर-रायपुर मार्ग बन्द हो गया है।

                 जैसे ही आज एम्बुलेन्स बिल्हा पहुंची। कांग्रेसियों ने प्रशासन से दो टूक कह दिया है कि जब तक अर्जुन सिसोदिया के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं किया जाता है। तब तक एम्बुलेन्स को आगे नहीं बढ़ने दिया जाएगा। जानकारी के अनुसार जिला प्रशासन प्रदर्शनकारियों को लगातार समझाइश दे रहा है। बावजूद इसके प्रदर्शनकारी टस से मस नहीं हो रहे हैं।

               मरवाही विधायक अमित जोगी ने कहा कि राजेन्द्र को जब तक न्याय नहीं मिलेगा। कांग्रेस एक आंदोलन से एक कदम भी पीछे हटने को तैयार नहीं है। जोगी ने जिला प्रशासन पर अर्जुन सिसोदियों को बचाने का आरोप लगाया है। मस्तूरी विधायक दिलीप लहरिया लोरमी के पूर्व विधायक धरमजीत सिंह और बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक ने प्रदेश सरकार और जिला प्रशासन पर तानाशाही का आरोप लगाते हुए कहा कि जब तक अर्जुन सिसोदिया के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं होगा जाम खत्म नहीं किया जाएगा। उन्होंने राजेन्द्र के पार्थिव शरीर को रेलवे ट्रैक पर ले जाने की बात कही।

शोक सभा

IMG_20151028_115037       इसके पहले करीब 12 बजे जिला शहर और ग्रामीण कांग्रेस ने कांग्रेस भवन में एक शोक सभा का आयोजन किया। इस दौरान शहर अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर, ग्रामीण अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला, प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव,संभागीय प्रवक्ता अभय नारायण राय, सचिव पंकज सिंह, निगम नेता प्रतिपक्ष शेख नजरूद्दीन, कांग्रेस निगम पार्षद दल के प्रवक्ता शैलेन्द्र जायसवाल,शहर कांग्रेस प्रवक्ता ऋषि पाण्डेय,वरिष्ठ कांग्रेस नेता रामशरण यादव, और अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

             शोक सभा में सभी नेताओं ने अपने विचार प्रस्तुत किया। दो मिनट का मौन धारण कर मृत आत्मा को श्रद्धांजली दी। कांग्रेसियों ने कहा कि राजेन्द्र अपने आप को अकेला पाया होगा इसलिए उसने आत्मदाह जैसा कदम उठाया। नेताओं ने कहा कि राजेन्द्र को न्याय दिलाना अब हमारा उद्देश्य होना चाहिए। यदि हम इसी तरह बैठे रहेंगे तो प्रशासनिक अत्याचार को रोका नहीं जा सकता है। नेताओं ने कहा आम जनता को राहत कैसे मिले। मृतक के परिवार को न्याय मिले। इतना ही अब हमारा संकल्प होना चाहिए।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...