हवाई सेवा संघर्ष:व्यापारी संघ ने कहा-लगातार पिछड़ता जा रहा बिलासपुर,52वें दिन बिजली कर्मचारी संघ के पदाधिकारी धरने पर बैठे

बिलासपुर।हवाई सुविधा जन संघर्श समिति का अखंड धरना आंदोलन को चलते हुए आज 52वें दिन मुंगेली नाका व्यापारी संघ एवं बिजली कर्मचारी संघ के पदाधिकारी धरने पर बैठे।आज की सभा को संबोधित करते हुये मुंगेली नाका व्यापारी संघ के सतीष रेलवानी एवं सतीष गुप्ता ने कहा कि बिलासपुर में रेल्वे जोन की मांग के लिए भी बडा जन आंदोलन किया गया था। आज एयरपोर्ट के लिए भी ऐसा ही आंदोलन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बिलासपुर क्षेत्र व्यवसाय के मामले में लगातार पिछडता जा रहा है और विकास और रोजगार के लिए यह जरूरी है कि बिलासपुर मेें एयरपोर्ट की स्थापना की जाये। व्यापारी संघ के ही षरद गुप्ता ने कहा कि बिलासपुर में हवाईअड्डा बनने से जांजगीर चांपा, रायगढ और कोरबा जिलों को भी सीधा लाभ होगा.सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए

उन्होंने जानकारी देकर बताया कि वर्तमान में रायगढ के लोग रायपुर की बजाय झारसुकडा हवाईअड्डा जाना पसंद कर रहे है क्योंकि इससे रायगढ वालों केा दो-तीन घण्टे में ही हवाईअडडा मिल जाता है,जबकि रायपुर जाने में 6 घण्टे से अधिक लगते है। मांग के समर्थन में राकेष खोडियार, ईष्वर पटेल, हरविन्दर सिंह, बब्बी भंडारी अमिताभ तिवारी राजेश गुप्ता, सुरेश सिंह छाबडा, महेश सिदारा आदि शामिल हुये।

आज की सभा को संबोधित करते हुए बिजली कर्मचारी संघ के अरूण सराफ एवं योगेष पटेल ने कहा कि रेल्वे जोन की तर्ज पर ही बिलासपुर का यह आंदोलन हर हालत में सफल होगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में यहां के लोगों के जो बच्चे दिल्ली, पुणे बैंगलोर, बाम्बे आदि षहरों में पढ रहे है, जहां से आने-जाने में ही दो दिन खर्च हो जाता है। एयरपोर्ट होने पर वे अपने परिवार के साथ मिल सकेगे।

बिजली कर्मचारी संघ की ही ओर से ही बोलते हुये सिलेस्टर फ्रांसिस एवं अखिलेष देवांगन ने कहा कि बिलासपुर में एयरपोर्ट होने पर यहां रोजगार व व्यवसाय के साधन तेजी से बढेगें और नया पूंजी निवेष होगा साथ ही रायपुर की तुलना मेें बिलासपुर का विकास न होना पिछले 15 साल की सबसे बडी साजिष है। उत्तर छत्तीसगढ जहां बडा आदिवासी अंचल आता है उसके विकास के लिए बिलासपुर मे हवाई अड्डा होना जरूरी हैं।

संघ की ओर से भरत पटेल, राजू पटेल, विकास षर्मा, श्रीराम यादव, सूरज मिश्रा, अभिनव पाण्डेय आदि ने कंधे से कंधा मिलाकर साथ दिया। आज के धरना आंदोलन में समिति की ओर भरत पटेल, बद्री यादव, शेख अल्फाज-फाजू, पप्पू तिवारी, विकास षर्मा, सुरेश सिदार, अखिलेष देवांगन, केशव गोरख, समीर अहमद, भुवनेष्वर षर्मा, गोपाल दुबे, बब्बी भंडारी, अमिताभ तिवारी, श्रीराम यादव, सूरज मिश्रा, राजकुमार ठाकुर, अभिनव पाण्डेय, राजेश गुप्ता, सुरेन्द्र सिंह छाबडा, महेश सिदारा आदि शामिल हुये। धरना आंदोलन के 53वें दिन 17 दिसम्बर को चेम्बर आॅफ कामर्स बिलासपुर के प्रतिनिधि धरने पर बैठेगें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *