सरकारी स्कूल के शिक्षकों को नई जिम्मेदारी…गोठानों के लिए दान करना पड़ेगा पैरा…BEO का आदेश जारी,शिक्षकों में हलचल

जांजगीर – चांपा। सरकारी स्कूलों में काम कर रहे शिक्षकों को भी गौठानों में मवेशियों के लिए पैरा दान करना पड़ेगा। इस सिलसिले में विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय बलौदा से एक आदेश जारी किया गया है। इस आदेश से शिक्षकों में हलचल मची हुई है.विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय बलौदा जिला जांजगीर चांपा की ओर से 11 दिसंबर की तारीख पर इस तरह का आदेश जारी हुआ है। यह आदेश सभी शासकीय हाई स्कूल – हायर सेकेंडरी स्कूल के प्राचार्य, सभी शासकीय प्राइमरी एवं मिडिल स्कूल के प्रधान पाठक और सभी संकुल प्रभारी / समन्वयक को भेजा गया है ।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए

जिसमें कहा गया है कि नरवा, गरुवा, घुरवा , बारी शासन की अति महत्वाकांक्षी योजना में से एक है । जिसके तहत गौठान में पशुओं के लिए पैरा (चारा ) की व्यवस्था किया जाना है। इस संबंध में निर्देश दिया गया है कि आप स्वयं और अपने अधीनस्थ कार्यरत ऐसे शिक्षक , जिनकी स्वयं की कृषि भूमि हो या खेती का कार्य करते या करवाते हो , वह अपने गांव या पंचायत के गौठान में शासन के दिए गए निर्देशानुसार पैरा (चारा ) का दान करें।

साथ ही यह भी कहा गया है कि 1 हफ्ते के भीतर प्रतिवेदन देकर इस संबंध में की गई कार्यवाही से अवगत कराएं ।इस आदेश में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद बलौदा जिला जांजगीर चांपा में 11 दिसंबर को आयोजित बैठक का भी हवाला दिया गया है ।इस आदेश की प्रति जांजगीर-चांपा जिला कलेक्टर, जिला पंचायत सीईओ, अनुविभागीय अधिकारी और सीईओ जनपद पंचायत बलोदा को भी भेजी गई है ।

बीईओ कार्यालय से जारी इस आदेश के बाद शिक्षकों के बीच हलचल है कि अब उन्हें गठान के लिए पैरा का भी इंतजाम करना पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *