धरमलाल ने कहा…सरकार फेल..अंक देने का सवाल ही नहीं..जनता नही, सीएम सो रहे चैन की नींद..किसान और युवा रो रहे खून के आंसू

बिलासपुर— मुख्यमंत्री महोदय पिछले एक साल सै चैन की नींद सो रहे होंगे। लेकिन जनता खून के आंसू रो रही है। प्रदेश का विकास रूक गया है। हर तरफ अपराध का बोलबाला है। अब तो कांग्रेसी ही कहते हैं कि हम परेशानियों को लेकर आखिर जाएं भी तो कहां जाए। किसानों क साथ धोखा हुआ है। बेरोजगार लोगों के साथ छल हुआ है। सीएम बताएं आखिर वह चैन की नींद कैसे सो सकते हैं। जब प्रदेश में अव्यवस्था की आग फैली हुई है। यह बातें विधानसभा नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने एक प्रेसवार्ता के दौरान कही।

               भाजपा कार्यालय में नेता प्रतिपक्ष विधानसभा धरमलाल कौशिक ने कांग्रेस सरकार के एक साल के कार्यकाल को प्रदेश के विकास के लिए बहुत बुरा होना बताया। धरमलाल ने कहा कि सीएम कहते हैं जनता एक साल से चैन की सांस और नींद ले रही है। सच्चाई तो यह है कि जनता को एक साल से भारी परेशानियों से गुजरना पड़ रहा है। किसान परेशान हैं। पंचायत के पास पैसे नही है। विकास कार्य ठप हो गया है। विकास के लिए किसी विभाग के पास फण्ड नहीं है। जो फण्ड था उसे भी भूपेश सरकार ने वापस ले लिया। सच्चाई तो यह है कि प्रदेश अव्यवस्था के भयंकर आग में जल रहा है। और मुख्यमंत्री चैन की नींद ले रहे हैं। 

                सवाल जवाब के दौरान धरमलाल कौशिक ने बताया कि जनता को नई सरकार से बड़ी उम्मीदे थी। सारी उम्मीदें एक साल में ही खत्म हो गयी। किसानों से 2500 रूपए में धान खरीदने का वादा किया गया। बोनस देने की बात कही गयी। कांग्रेस ने गंगाजल उठाकर कर्ज माफ करने का वादा किया था। लेकिन कोई भी वादा पूरा नहीं हुआ।धरम ने बताया कि बीजेपी की रमन सरकार ने पिछले पन्द्रह साल से धान की खरीदी की। लेकिन किसानों को इतना कभी भी परेशान नहीं होना पड़ा। जितना मात्र एक साल में किसान परेशान हुए हैं। धरमलाल ने बताया कि भाजपा शासन काल में 80 लाख मीट्रिक टन खरीदा जाता था। कांग्रेस सरकार ने वादा किया कि 90 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी होगी। लेकिन ऐसा हो कुछ नहीं रहा है। किसानों की पर्ची नहीं कट रही है। सोसायटियों में व्यवस्था नहीं है। जिस सोसायटी को सीएम ने भंग किया आज उसी सोसायटी से धान की खरीदी हो रही है। धान को जमीन पर फैलाया जा रहा है। सच्चाई तो यह है कि सोसायटियों में ना तो वारदाना की व्यवस्था है और नही तारोपोलीन ही है।

                      धरमलाल ने बताया कि किसी किसान का कर्ज माफ नहीं हुआ है। व्यवसायिक बैंकों ने किसानों का कर्ज माफ नहीं किया है।

बेरोजगारी पर निशाना

                धरमलाल कौशिक ने बताया कि कांग्रेस ने वादा किया था कि दस लाख लोगों को रोजगार देंगे। लेकिन सीएम बताएं की अभी तक कितने बेरोजगारों को रोजगार दिया है। प्रदेश में कुल 25 लाख पंजीबद्ध बेरोजगार है। लेकिन रोजगार देने की वजाय सरकार ने पुलिस भर्ती के 61 हजार लोगों के परिणाम को ही निरस्त कर दिया है। 

अपराध का बोलबाला

                सवाल जवाब के दौरान धरमलाल ने बताया कि पिछले एक साल में प्रदेश में अपराध का ग्राफ अप्रत्याशित रूप से बढ़ा है। महिलाएं सुरक्षित नहीं है। ब्लात्कार के आंकड़ों में बृद्धि हुई है। पिछले एक साल में 35954 अपराध के मामले दर्ज हुए हैं। अकेले बिलासपुर संभाग में 453 ब्लात्कार हुए हैं और 743 अपहरण की वारदात सामने आ चुकी है। इसी तरह रायपुर में 448 बलात्कार और 664 अपहरण की वारदात पुलिस रिकार्ड में दर्ज है। इस दौरान धरमलाल ने बताया कि कोरबा,रायगढ़,राजनांदगांव में बलात्कार और हत्या की घटना बहुत बड़ा उदाहरण है।

 शराबबन्दी होने से किसने रोका

                शराब बन्दी के सवाल पर धरमलाल ने कहा कि किसने रोका है। सरकार ने वादा किया है उसे पूरा करना चाहिए। लेकिन पिछले एक साल में शराबबन्दी तो दूर की बात है। बल्कि कोचियों की संख्या बढ़ गयी है। ओव्हररेट में शराब बेची जा रही है। शराब दुकान खोलने का समय भी बढ़ा दिया गया है। जानकारी मिल रही है कि शराबबन्दी को लेकर एक कमेटी बनायी गयी है। सरकार बताएं कि कमेटी अभी तक क्या कुछ निर्णय पर पहुंची है।

  किसानों के साथ भी छल

              धरमलाल ने बताया कि प्रधानमंत्री ने किसान सम्मान निधी देने का एलान किया है। प्रत्येक किसान को सालाना 6000 रूपए केन्द्र से दिया जाना है। लेकिन आज तक सरकार ने डाटा नहीं भेजा है। सरकार दरअसल किसान विरोधी है।

बदतर स्वास्थ्य योजनाएं

           धरमलाल ने बताया कि स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गयी है। स्मार्ट कार्ड से इलाज होना बन्द हो गया है। आयुष्मान भारत योजना को सरकार ने खिलवाड़ बना दिया है। जिसके चलते गरीबों का इलाज मुश्किल हो गया है। ऐसा लगता है कि सरकार ने गरीबों को मारना चाहती है।

सरकार पूरी तरह से फेल

          एक साल की उपलब्धियों के लिए सरकार को कितना अंक देंगे। सवाल के जवाब में धरमलाल ने कहा कि अंक देने का सवाल ही नहीं उठता है। क्योंकि सरकार तो फेल हो चुकी है। हम नहीं यह जनता का फैसला है। अंक उसे दिया जाता है जो पास होता है।यहां तो सरकार ही फेल हो चुकी है। धरमलाल ने बताया कि परिणाम निकाय चुनाव में दिखायी देगा।

                प्रेस वार्ता के दौरान अमर अग्रवाल, रजनीश सिंह, किशोर राय, गुलशन ऋषि मौजूद थे।

Comments

  1. Reply

  2. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *