सुरक्षाबलों के लिए 2019 रहा सफलता का साल,नक्सलियों की गिरफ्तारी में हुआ इजाफा,कई बड़े सफल ऑपरेशन हुए

सुकमा।2019 सुरक्षाबलों के लिए पूरी तरह सफलताओं से पूर्ण रहा क्योंकि इस वर्ष पुलिस ने 254 ऑपरेशन किए जिसमें 36 बार नक्सलियों से आमना-सामना हुआ और 36 नक्सली को मार गिराने में सफलता हासिल की गई। इस साल के अंतिम दिनों में नक्सली नेता रमन्ना की मौत ने नक्सलियों को बड़ा झटका भी दिया। जिसका लाभ आने वाले वर्षों में पुलिस उठाएगी।पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार इस साल 254 स्पेशल ऑपरेशन किए गए। जिसमें नक्सलियों के जनाधार वाले इलाके में पुलिस ने दस्तक दी और नक्सलियों को चुनौती दी।सीजीवालडॉटकॉम न्यूज़ के व्हाट्सएप् से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

जिसमें 36 बार नक्सलियों से आमना-सामना हुआ। और इस फायरिंग में 23 नक्सलियों को मार गिराने में पुलिस ने सफलता हासिल की है।और नक्सली कैंप ध्वस्त के साथ 35 हथियार भी बरामद किए गए। इस साल मात्र 1 जवान शहीद हुआ और 8 जवान घायल हुए जबकि 11 नागरिक मारे गए हैं।तो 4 घायल हुए हैं।करीब 7 आईडी ब्लास्ट हुए और 38 आईडी रिकवर हुए।

इस साल जिला पुलिस और सीआरपीएफ के द्वारा अंदरूनी इलाकों में जागरूकता अभियान चलाया गया। जो काफी हद तक कारगर साबित हुआ। नक्सली नेता जैसे अर्जुन या बेटी रामा को नक्सलियों के जनाधार वाले इलाके में ले जाकर कई जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन कराया गया।स्थानीय भाषा गोंडी में योजनाओं का प्रचार प्रसार किया गया और नक्सलियों की विचारधारा के बारे में बताया गया।जिसका फायदा सुरक्षा बल को मिला और इस वर्ष 2019 में 183 नक्सलियों ने पुलिस के सामने अपने हथियार डाले।

नक्सली संगठन को सबसे ज्यादा नुकसान गिरफ्तारी को लेकर हुआ क्योंकि इस साल सुरक्षा बल के जवान अलग-अलग मोर्चे पर नक्सलियों को कमजोर करने में लगे हुए थे।पुलिस की मानें तो इस साल 108 नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया। इसमें से कई बड़े नक्सली लीडर भी शामिल है। गिरफ्तारी होने के बाद पुलिस को कई अहम जानकारियां हाथ लगी जिस पर सफल ऑपरेशन भी हुए।

पत्र वार्ता के दौरान सुकमा के पुलिस कप्तान शलभ सिन्हा ने बताया कि इस साल हमें अच्छी सफलता मिली है तब जबकि बारिश का मौसम ज्यादा था जिसके कारण ऑपरेशन प्रभावित भी हुए। जिस तरह हम नक्सलियों के खिलाफ दो मोर्चों पर लड़ रहे हैं ऑपरेशन के साथ-साथ जागरूकता अभियान भी चला रहे हैं। वह आने वाले साल में भी जारी रहेगा। क्योंकि हमारा उद्देश्य इलाके में शांति विकास करने से हैं।आने वाले साल में भी इसी तरह के ऑपरेशन किए जाएंगे और हमारे जवान इस तरह नक्सलियों का मुंहतोड़ जवाब देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *