व्यापारी संघ ने कहा..सांसद का नहीं मिला समर्थन..जब आंदोलन ही करना है तो क्यों करें प्रतिनिधियों को चुनाव

बिलासपुर—-हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति का अखंड धरना आंदोलन के 67वें दिन देवकीनंदन चैक व्यापारी संघ के पदाधिकारी और सदस्यों ने समर्थन किया। वक्ताओं ने सर्वदलीय जनआंदोलन में बिलासपुर के सांसद अरूण साव के अब तक शिरकत नहीं करने पर नाराजगी जाहिर की। वक्ताओं ने कहा कि संसद में मामला उठा देना पर्याप्त नही है, अगर जनता सडक पर संघर्ष कर रही है तो जनप्रतिनिधि को भी संघर्ष शामिल होना चाहिए।

              सभा को संबोधित करते हुये देवकीनंदन चैक व्यापारी संघ के रमेश लालवानी ने कहा कि आंदोलन को 67 दिन हो चुके हैं। क्षेत्र के सांसद और विधायक केवल लोकसभा और विधानसभा में मामला उठा देने को ही कर्तव्य की इतिश्री समझते हैं। जबकि अभी हमारी मांग पूरी नही हुई है। व्यापारी संघ के अनिल तिवारी ने बात को आगे बढाते हुये कहा कि आम जनता को ही सडक पर बैठकर आंदोलन करना है तो हम जनप्रतिनिधियों का चुनाव ही क्यो करते है। तिवारी ने शायराना अंदाज में अपनी बात आगे बढाते हुये कहा कि ‘‘कहां तो तय था चिराग एक घर के लिए, कहां चिराग मयस्सर नहीं शहर के लिए’’। तिवारी ने बताया कि बिलासपुर क्षेत्र को कोयला उत्पादन और बिजली उत्पादन कर केवल प्रदूषण देने के लिए छोड दिया गया है। जबकि विकास का पूरा लाभ रायपुर और दिल्ली भेजा जा रहा है। केवल 150 करोड में रूपए में 4सी केटेगरी एयरपोर्ट तैयार हो सकता है। लेकिन केन्द्र सरकार मंजूर नहीं कर रही है।

       व्यापारी संघ के धनराज आहूजा और दयानंद तीर्थानी ने कहा कि आंदोलन के दो महीने बाद भी केन्द्र सरकार ने बिलासपुर से अंबिकापुर मार्ग पर उडान शुरू करने का प्रयास किया है। निश्चित रूप से यह बिलासपुर के साथ मजाक है । हम बिलासपुर से महानगरों तक सीधी हवाई सेवा की मांग कर रहे है। कार्यक्रम में उपस्थित रेल्वे परिक्षेत्र के राकेश सिंह ने कहा कि बिलासपुर रेलवे जोन के समय क्षेत्र के सांसदों की जैसी सक्रियता थी वैसी आज दिखायी नहीं दे रही है।

              नवनिर्वाचित पार्षद अजय यादव और साई भास्कर ने जोर देकर कहा कि बिलासपुर में हवाई अड्डे और उडानों की मांग को पूरा हुये बगैर आंदोलन बंद नही किया जायेगा। देरी होने पर आंदोलन को तेज किया जायेगा। व्यापारी संघ के श्याम सेठ और युवा नेता राघवेन्द्र सिंह ने भी आंदोलन तेज करने की मांग की।  कार्यक्रम का संचालन महेश दुबे टाटा ने और आभार प्रदर्षन अशोक भण्डारी ने किया।

                 धरना आंदोलन में देवकीनंदन चैक व्यापारी संघ की ओर से अजय मजवानी, मोहन लाल जैसवानी, प्रमोद राव भोसले, इन्द्र बाधवानी, रवि चन्द्रा, विनय लालवानी, वैभव अडानी, नंदलाल मोटवानी, महेष ममनानी, नरेष सोनी, सुनील बाधवानी, प्रेम मेहरचंदानी, श्रीयुत अरविन्द तिवारी विशेष रूप से मौजूद थे।

काटा जाएगा केक

           समिति के सदस्यों ने बताया कि धरना आंदोलन के 68वें दिन और नये साल के पहले दिन 1 जनवरी को दाउदी बोहरा जमात और रेल्वे परिक्षेत्र नागरिक मंच के पदाधिकारी और सदस्य धरने पर बैठेगें। नववर्ष के प्रारंभ में विरोध के प्रतीक स्वरूप केक भी काटा जायेगा।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...