सभी निर्दलियों को कांग्रेस सदस्यता… कैबिनेट मंत्री रविन्द्र चौबे का इशारा …मुख्यमंत्री बघेल के हाथों होगा प्रवेश

बिलासपुर—– नगर निगम बिलासपुर पर्यवेक्षक रविन्द्र चौबे आज बिलासपुर प्रवास पर पहुंचे। उन्होने कांग्रेस नेताओं से बातचीत की। निर्वाचित पार्षदों की वस्तुस्थिति के साथ निर्दलियों को लेकर नेताओं से बातचीत की। इशारों ही इशारों में उन्होने बताया कि बिलासपुर नगर निगम चुनाव में कांग्रेस को बहुमत मिली है। दो निर्दलीयों का कांग्रेस में प्रवेश हो चुका है। बाकी बचे निर्दलीय पार्षद शहजादी कुरैशी, लक्ष्मी यादव  और कमला पटेल भी कांग्रेस में शामिल होंगे। सभी को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के हाथों प्रवेश दिलाया जाएगा।

               बिलासपुर अल्प प्रवास पर पहुंचे कांग्रेस सरकार के कैबिनेट मंत्री और नगर निगम बिलासपुर के पर्यवेक्षक रविन्द्र चौबे कांग्रेस नेताओं से बातचीत की। बातचीत के दौरान उन्होने उपस्थित कांग्रेस नेताओं से विचार विमर्श किया। निगम पार्षदों की वस्तुस्थिति के बारे में जानकारी ली। अन्दर की खबर के अनुसार इस दौरान मौजूद कांग्रेस नेताओं ने बताया कि निगम चुनाव में जीतकर आए दो पार्षदों ने कांग्रेस में प्रवेश ले लिया है। शहजादी कुरैशी,लक्ष्मी यादव और कमला पटेल भी शर्तों के साथ कांग्रेस के साथ हैं।

        उपस्थित नेताओं ने जानकारी दी कि वार्ड क्रमांक 31 की पार्षद शहजादी कुरैशी सम्मान के साथ कांग्रेस के साथ है। शेष दो पार्षदों ने भी कांग्रेस में प्रवेश को लेकर सहमति जाहिर की है। यदि शहजादी को सम्मान मिलता है तो उन्हें कांग्रेस में शामिल होने से कोई एतराज नहीं है। जानकारी के अनुसार इन तमाम बातों के बाद रविन्द्र चौबे रायपुर में गिरीश देवांगन से चर्चा की। बाद में उन्होने बताया कि पार्टी में सभी का सम्मान है। शहजादी कुरैशी पार्टी की विचारधारा से जुड़ी हैं। उनका पार्टी में पूरा सम्मान होगा। 

                     अन्दर की खबर के अनुसार मुख्यमंत्री के बिलासपुर प्रवास के दौरान तीनों निर्दलीय पार्षदों को सम्मानके साथ कांग्रेस पार्टी में प्रवेश दिलाया जा सकता है। बताते चलें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तीन जनवरी को बिलासपुर निजी कार्यक्रम में शिरकत करने आएंगे। इसी दौरान शहजादी कुरैशी, लक्ष्मी यादव और कमला पटेल को कांग्रेस में प्रवेश दिलाया जा सकता है।

                                 जानकारी हो कि निगम चुनाव में कांग्रेस को 70 में से 35 वार्डों में जीत हासिल हुई है। तीस भाजपा के पार्षद जीतकर आए हैं। जबकि निर्दलियों की संख्या पांच है। इनमें से दो निर्दलियों संध्या तिवारी और योगिता आनन्द को कांग्रेस में प्रवेश हो चुका है। संध्या तिवारी ने कांग्रेस से इस्तीफा देकर वार्ड क्रमांक 51 से चुनाव लड़ी थी। उन्होने कांग्रेस प्रत्याशी चित्रसेन सिंह को हराया है। इसी तरह योगिता आनन्द ने वार्ड क्रमांक 68 से चुनाव जीतकर पार्षद बनी है। एक दिन पहले राजीव भवन में निष्कासित नेता त्रिलोक श्रीवास के साथ पीसीसी प्रमुख मोहन के हाथों कांग्रेस में प्रवेश किया है।

                      दोनों निर्दलीयों को मिलाकर कांग्रेस पार्षदों की संख्या बढ़कर 36 हो गयी है। जबकि शेख गफ्फार के निधन के बाद एक सीट खाली हो गयी है। तीन अन्य निर्दलीयों के प्रवेश के बाद कांग्रेस पार्षदों की संख्या बढ़कर 39 हो जाएगी। बताते चलें की मेयर चुनाव के लिए कांग्रे्स को कुल 35 पार्षदों की जरूरत है। 

         जानकारी के अनुसार रविन्द्र चौबे और कांग्रेस नेताओं के बीच चर्चा के दौरान यह भी मामला सामने आया कि शहजादी के प्रवेश को लेकर ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष तैय्यब हुसैन ने नाखुशी जाहिर की है। इस दौरान संध्या तिवारी प्रवेश को लेकर भी मुद्दा उठा है। लोगों ने कहा कि ऐसी नाराजगी को नजरअंदाज करना चाहिए। क्योंकि संध्या तिवारी के कांग्रेस प्रवेश को लेकर चित्रसेन की नाराजगी को भी ध्यान दिया जाना चाहिए था। लेकिन नहीं दिया गया। इसलिए यदि शहजादी कुरैशी का प्रवेश होता है तो किसी को नाराज होने की जरूरत नहीं है। बातचीत के बीच रविन्द्र चौबे ने लोगों को शांत कराते हुए कहा कि यदि है भी तो मामले को सुलझाया जाएगा। लेकिन शहजादी कुरैशी को सम्मान के साथ प्रवेश दिलाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *