जोगी बंगला में केयर टेकर ने लगाई फांसी –परिजनों का आरोप–जेल भेजने की मिली थी धमकी..शाम को हो गयी मौत

बिलासपुर— बिलासपुर स्थित जोगी के मरवाही बंगले का वफादार नौकर ने आत्महत्या कर लिया है। घटना करीब शाम 4 बजे की है। पुलिस जानकारी मिलते ही मरवाही बंगले पहुंच गयी। खबर मिलते ही मृतक संतोष कौशिक ऊर्फ मनवा के भाई और साला भी विधायक निवास पहुंच गया। मनवा के भाईयों ने आरोप लगाया कि उसने सुबह अपनी पत्नी से बताया कि यह लोग चोरी के आरोप में जेल भेजने वाले हैं। मैने चोरी नहीं की है। अभी उसे समझाने आया था..यहां आकर पता चला कि भाई ने आत्महत्या कर लिया है। सिविल लाइन थानेदार कलीम ने बताया प्रारम्भिक जांच में मौत के कारणों की स्प्षट जानकारी नहीं मिल रही है। जल्द ही कारणों का पता लगाया लिया जाएगा। विधायक निवास में मौत की खबर के बाद पुलिस कप्तान भी मौके पर पहुंचकर घटना की विस्तार से जानकारी ली है। 

                        शाम चार बजे के आस पास मरवाही और कोटा विधायक निवास मरवाही सदन के एक पुराने नौकर ने फांसी लगातार आत्महत्या कर लिया है। मृतक का नाम संतोष कौशिक ऊर्फ मनवा है। मनवा रमतला का रहने वाला है। इत्तफाक से मरवाही सदन अपने भाई से मिलने आए बड़े भाई को उसी समय जानकारी मिली कि संतोष कौशिक ने जेल जाने के डर से फांसी लगा लिया है। घटना की जानकारी के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंच चुकी थी।

                 मृतक संतोष कौशिक ऊर्फ मनवा के भाई कृष्ण कुमार कौशिक ने बताया कि वह लोग चार भाई हैं। मनवा हम चारों में मुझसे भी छोटा था। बड़े भाई का नाम जयराम कौशिक, अमृत कौशिक है। कृष्ण कुमार ने बताया कि जब अपने घर रमतला पहुंचा तो मनवा की पत्नी कविता ने बताया कि दोपहर में मनवा ने फोन पर जानकारी दी कि यह लोग उसे चोरी के आरोप में जेल भेजने की धमकी दे रहे हैं। इसके बाद वह जानकारी लेने यहां आया..और जानकारी मिली की मनवा ने आत्महत्या कर लिया है।मनवा की बड़ी मानसी पांच साल की है। जबकि छोटी बेटी दो साल की है। मौके पर मौजूद मनवा का साला सरोज कश्यप ने बताया कि वह चार बजे जीजा से मिलने आया लेकिन किसी ने अन्दर नहीं जाने दिया। उसे भी यहां आने के बाद ही जानकारी मिली कि मनवा ने आत्महत्या कर लिया है। सरोज कश्यप ने बताया कि वह कपासिया कला का रहने वाला है।

                  जोगी बंगले के कर्मचारियों ने पुलिस की प्रारंभिक पूछताछ में बताया कि पांच छः दिन पहले अमित जोगी आए थे। दो दिन पहले ही रायपुर गए हैं। इस दौरान उन्होने टेबल पर रखे चांदी का दिया गायब होने की बात कही। हम लोगों ने मनवा से पूछा था। लेकिन उसने कुछ नहीं बताया। जानकारी में यह भी बात सामने आयी कि मरवाही सदन में कुल चार कर्मचारी हैं। घर का झाडू पोछा विसाहिन केवट करती है। इसके अलावा अंचल क्षात्रे कम्प्यूटर आपरेटर का काम करता है। मनवा पिछले पांच साल से जोगी बंगले की देखभाल कर रहा था। चौथा कर्मचारी होमगार्ड दीपक कौशिक है। जो बंगले के मुख्य गेट पर तैनात रहता है।

मौके पर पहुंचे पुलिस कप्तान

           खबर की जानकारी के बाद सिविल लाइन थाना प्रभारी मोहम्मद कलीम खाने मौके पर पहुंचे। इसके सूरज ढलते पुलिस कप्तान भी मौके पर पहुंच गए। उन्होने थाना प्रभारी से बातचीत की। इसके अलावा मृतक के भाई से भी पूछताछ की।

थाना प्रभारी ने बताया जांच के बाद होगा खुलासा

                          थाना प्रभारी मोहम्मद कलीम ने बताया कि जानकारी के बाद हम लोग पहुंचे। सबके सामने आउट हाइस की पार्किंग की छत लटके शव को नीचे उतारा गया। युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है। यहां कुल चार कर्मचारी रहते हैं। जोगी परिवार इस समय रायपुर में है। कर्मचारियों से पूछताछ की गयी है। फिलहाल फांसी लगाने को लेकर कुछ स्पष्ट बताया नहीं जा सकता है। पंचनामा कार्रवाई के बाद शव को पीएम के लिए भेज दिया गया है। 

मनवा दो दिन की छुट्टी पर गया था

        पुलिस पूछताछ में जानकारी सामने आयी है कि मनवा शुक्रवार को अपने गांव रमतला गया था। शनिवार छुट्टी पर रहने के बाद रविवार को घर आया था। जब मनवा छुट्टी पर गया उसी समय अमित जोगी मरवाही सदन आए थे। मनवा के लौटने के बाद कर्मचारियों ने उससे पूछा कि चांदी का दिया कहां गायब हो गया है। इसकी जानकारी मनवा ने अपने पत्नी को फोन पर बताया था।             

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *