गुलजार गांधी उद्यान: पुष्प प्रदर्शनी का समापन,जिंदल पुष्प सज्जा पर आगंतुकों ने कहा-प्रतीक्षारत रहेंगे

रायपुर-रायपुर में अति उत्साहित पल्लवित पुष्पित पुष्प प्रदर्शनी का कल समापन हो गया समापन अवसर पर शहर के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे शहर के सभी उन्नत उद्यानों उन्नत बागवानी करने वाले सभी संस्थाओं व्यक्तिगत कार्य करने वाले लोगों को जिंदल स्टील कृषि विश्वविद्यालय के साथ प्रकृति की ओर सो साइट इन ए सम्मानित किया नगर निगम का आभार सभी संस्थाओं ने व्यक्त किया जिन्होंने अपनी अपने अपने स्तर पर इस कार्यक्रम को सफल बनाने में सहयोग दिया। इस कार्य के लिए जिंदल स्टील के श्री पीके साहू की भरपूर प्रदर्शन प्रशंसा की गई इस कार्य में उन्हें उनकी टीम के साथ खूब बधाईयां मिलीं। यह बधाईयां आयोजन कर्ताओं के अलावा , वहां के आगंतुकों द्वारा मिली । आगंतुकों ने इस बारे में खूब पूछ परख की और फूलों की साइज को लेकर आपस में खूब चर्चा भी हुई। फूलों को उस आकृति में, उस आकार में लाने के लिए क्या-क्या मेहनत लगती है ; यह दिलचस्पी घरेलू महिलाओं ने भी दिखाई। इसमें बागवानी विशेषज्ञ श्री पीके साहू जी ने अपना अपना अनुभव, अपनी जानकारी लोगों से साझा भी की । समस्याओं से संवंधी एक “एप्प” को लेकर वहां के आगंतुक बहुत ही खुश हुए। इस हेतु एक व्हाट्सएप ग्रुप भी बनाया गया है जिसके द्वारा लोग आपस में तथा एक्सपर्ट के सलाह के रूप में भी उस ग्रुप का उपयोग कर अपनी बागवानी को उत्कृष्ट आय़ाम तक ले जाने की कोशिश करते हैं। बाद में साहू जी ने यह भी जानकारी दी कि, बागवानी के संदर्भ में जो भी समस्या होती है उसका निराकरण हम ग्रुप में ही करते हैं । 

श्री प्रदीप टंडन जी से बात करने पर इस हेतु उन्होंने जिंदल स्टील जो लोहे के विभिन्न उत्पाद बनाते हैं, विशिष्ट कार्यों  के साथ बागवानी का इतना उत्कृष्ट कार्य करने की बधाई स्वीकार की। फिर एक बहुत अच्छी दिलचस्प लाइन बताई, जो इस पुष्प प्रदर्शनी की उपस्थिति का मुख्य कारण है; वह है लोगों में बागवानी के प्रति अभिरुचि पैदा करना एवं इस क्षेत्र में लोगों को प्रेरणा देना । लोगों को इस हेतु पूर्ण तरीके से प्रकृति के प्रति ललक पैदा की जा सके। यही मुख्य उद्देश्य है। जिंदल स्टील जैसे बड़े उद्योग घरानों का इस कार्य में इस योजनाबद्ध तरीके से शामिल होने पर श्री प्रदीप टंडन जी ने आगे कहा कि, यह पुष्प प्रदर्शनी सिर्फ  सज्जा के लिए नहीं;  बल्कि लोगों में घरों में उद्योगों में इस हेतु प्रेरणा देना है तथा इस उद्देश्य़ को लेकर कार्य करने की आवश्यकता पर भी जोर दिया। पुष्पों की इस तरह की आवक से अभिभूत व्यक्तियों ने कहा और भी जानकारी चाहिए, तब  उन्होंने बताया कि इस तरह के प्रेरणास्पद कार्य में लोगों को की स्वीकारोक्ति तथा पहल आवश्यक है। समिति के अध्यक्ष दलजीत बग्गा जी ने टंडन जी की कथन का अनुसरण करने की सलाह लोगों को दी। डॉ दल्ला ने प्रदीप टंडन जी को बधाई और शुभकामनाएं दी इसके साथ ही उन्होंने अगले वर्ष के लिए और बेहतर तैयारी करने का अनुरोध भी किया।  डॉ राजेश गुप्ता सपत्नीक इस प्रदर्शनी में उपस्थित हुए थे, उनकी पत्नी से बात करने पर इस रोचक दिलचस्प फूलों भरी आबोहवा को उन्होंने अपनी पसंदीदा जगह निरूपित किया। श्री गिरीश कांत पांडे जी कुल सचिव रविशंकर विश्वविद्यालय भी ऐसे मौकों को ना चूकने की सलाह लोगों को भी दी तथा अनुसरण करने को सबसे अच्छा उपाय बताया। 

उपस्थित लोगों ने नगर निगम कमिश्नर शिव अनंत तायल जी का तथा जोन क्रमांक 3 के कमिश्नर साहू, का विशेष धन्यवाद इसलिए दिया कि, वहां का जो फ़ाउंटेन है वह ऐसे वक्त पर जरूर चालू करवाया जाता है, जो प्रशंसनीय है। समापन अवसर पर सभी प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया एवं उनकी अगले वर्ष की उपस्थिति को सुनिश्चित करने तथा और बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित किया । 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *