यूथ प्रदेश कांग्रेस महासचिव ने कहा.. मुसलमानों को बनाया जा रहा निशाना ..मोदी सरकार पहले दूर करे बेरोजगारी

बिलासपुर—- यूथ कांग्रेस ने एनआरसी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बुधवार को  कांग्रेस भवन में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान प्रदेश यूथ कांग्रेस महासचिव और बिलासपुर यूथ कांग्रेस प्रभारी सुबोध हरितवाल ने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री पर निशाना साधा। पत्रकारों को बताया कि देश का आर्थिक ग्राफ लगातार गिरता जा रहा है। पिछले 70 सालों में इस समय सर्वाधिक बेरोजगारी की दर है। लेकिन केन्द्र सरकार अपनी नाकामियों को छिपाने और लोगों का ध्यान भटकाने के लिए एनआरसी लेकर आयी है। जबकि इस समय देश के सामने सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारों को रोजगार देने का है।

                   सुबोध हरितवाल ने बताया कि देश के युवा हाथ में डिग्री लेकर दर दर भटक रहे हैं। लेकिन केन्द्र सरकार युवाओं को रोजगार देने में पूरी तरह से विफल है। अपनी असफलता को छिपाने के लिए केन्द्र सरकार ने नया पैतरा खेलते हुए देश में वर्ग संघर्ष की स्थिति को पैदा कर दिया है। दरअसल केन्द्र सरकार एनआरसी के बहाने हिन्दू मुस्लिम और अन्य धर्मों के बीच खाई पैदा कर राजनीति की रोटी सेक रही है। कांग्रेस पार्टी इसे हरगिज बर्दास्त नही करेगी।

                 सुबोध हरितवाल ने बताया कि हमने एनआरसी के मुकाबले आम जनता और युवाओं के बीच एनआरयू लाया है। हम पूरे प्रदेश में बेरोगगार युवाओं को बताना चाहते हैं कि यूथ कांग्रेस ने एनआरसी के मुकालबने एनआरयू को लाया है। युवाओं को दिए गए नम्बर पर काल कर एनआरयू का समर्थन करना है। केन्द्र सरकार को बताना है कि एनआरसी से कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण एनआरयू और रोजगार है।

            सवाल जवाब के दौरान सुबोध हरितवाल ने कहा कि बेशक एनआरसी हमारा प्रोजेक्ट था। लेकिन ऐसा नहीं था जैसा इस समय है। देश का युवा बेरोजगारी की दंश झेल रहा है। हजारों कल कारखाने बन्द हो गए है। कमाने वाले हाथ घर बैठ गए है। अर्थ व्यवस्था चरमरा गयी है। केन्द्र सरकार देश को संभाल नहीं पा रही है। ऐसे में लोगों का ध्यान भटकाने एनआरसी लाया गया है। हम एनआरयू के माध्यम से बताना चाहते हैं कि देश के युवाओं को रोजगार की जरूरत है। इसके बाद एनआरसी का नम्बर आता है। हमने फैसला किया है कि एनआरसी के खिलाफ संघर्ष को तेज किया जाएगा। और युवाओं में एनआरयू के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी। 

                सुबोध हरितवाल ने इस बात से इंकार किया कि कांग्रेस सरकार ने 40 साल के शासन काल में गरीबों और बेरोजगारों के हित में कुछ नहीं किया।  उन्होने कहा कि जीएसटी भी हमारा प्रोजेक्ट था। लेकिन मोदी सरकार ने तोड़ मरोड़ कर पेश किया। इसका खामियाजा आज पूरे देश को भुगतना पड़ रहा है। देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गयी है।

               हरितवाल ने कहा कि हम भी घुसपैठियों का विरोध करते हैं। लेकिन इसका अर्थ यह नहीं कि देश के मुसलमानों के साथ अन्याय किया जाए। उन्होने बताया कि एनआरसी के बहाने मुसलमानों को निशाना बनाया जा रहा है। इसे बर्दास्त नहीं किया जाएगा। हरितवाल ने दावा किया कि मैं अपनी टीम के साथ वादा करता हूं कि एनआरसी में अपना नाम नही दाखिल करूंगा।

       हरितवाल ने एक सवाल के जवाब में बताया कि असफलता को छिपाने जिस तरह नोटबंदी को लाया गया। इसी तरह लोगों का ध्यान भटकाने एनआरसी लाया गया है। हमने एनआरयू लाकर देश की जनता को जागरूक करने का फैसला किया है। हरितवाल के अनुसार भूपेश सरकार ने पिछले एक साल में करीब पांच हजार से अधिक नौकरी के दरवाजे खोले है। जबकि पन्द्रह साल में भाजपा ने युवाओंके साथ छल किया है। इस दौरान हरितवाल बिलासपुर युवा कांग्रेस पदाधिकारी जिला अध्यक्ष भावेन्द्र गंगोत्री,गौरव, अशोक विनय रंजीत सिंह और सत्येन्द्र साहू समेत अन्य यूथ नेताओं के साथ पोस्टर का प्रदर्शन भी किया।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...