जिला पंचायत अध्यक्ष के नाम पर मुहर..पेन्ड्रा क्षेत्र का होगा उपाध्यक्ष.. ..भाजपा से नीलू होंगी दावेदार

बिलासपुर—- गुरूवार को जिला पंचायत सदस्यों के साथ रायशुमारी के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष का नाम कमोबेश फायनल हो चुका है। पर्यवेक्षक करूणा शुक्ला के सामने सभी 22 सदस्यों ने अपनी बातों को सामने रखा। रायशुमारी के बाद पर्यवेक्षक और संगठन के आलानेताओं ने रूख स्पष्ट कर दिया है। अरूण चौहान का नाम पर मुहर लगा लिया है। यह अलग बात है कि नाम का एलान अब से कुछ देर बार करीब 10 बजे के आसपास कर दिया जाएगा। जानकारी के अनुसार जिला पंचायत उपाध्यक्ष का पद पेन्ड्रा मरवाही गौरेला के किसी सदस्य को दिया जाएगा।

                      गुरूवार को सेन्ट्रल पांइट हॉटल में नव निर्वाचित जिला पंचायत सदस्यों के साथ पूर्व सांसद और पर्यवेक्षक करूणा शुक्ला ने एक एक कर बातचीत की। सामुहिक बैठक कर जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए सर्वसम्मति बनाने का प्रयास किया। इस दौरान करूणा शुक्ला एक एक सदस्यों की बातों को अकेले में गौर से सुना। उनके समर्थकों के बारे में भी जानकारी मांगी। साथ ही कांग्रेस के प्रति उनके योगदान को लेकर भी चर्चा की। 

            देर रात तक चली रायशुमारी के बाद प्रदेश और जिला संगठन के नेताओं ने भी करूणा शुक्ला के सामने अपनी बातों को रखा। जंगी विचार विमर्श के बाद अन्दर खाने कि विश्वत खबरों के अनुसार करूणा शुक्ला ने रायशुमारी ने अरूण चौहान के नाम पर मुहर लगा दिया है। अरूण चौहान के नाम का एलान कुछ देर बार यानि शुक्रवार को ठीक चुनाव के पहले कर दिया जाएगा। बताते चलें कि एक अन्य प्रमुख दावेदार जितेन्द्र पाण्डेय पर भी रायशुमारी के दौरान जमकर बातचीत हुई। अंकित गौरहा और त्रिलोक श्रीवास की पत्नी स्मृति भी अध्यक्ष पद की दौड़ में शामिल थी। कुल मिलाकर अरूण चौहान का जिला पंचायत अध्यक्ष बनना निश्चित है। 

             यद्यपि भाजपा ने मेयर चुनाव की तरह इस बार जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में कांग्रेस को वाक ओव्हर नहीं देने का फैसला किया है।

भाजपा की नीलू दिलेन्द्र कौशिक लड़ेंगी चुनाव

               संख्या बल के हिसाब से 22 में से 14 कांग्रेस  समर्थित सदस्य जिला पंचायत मे चुनकर आए है। इसके अलावा कांग्रेस को तीन निर्दलियों का भी समर्थन हासिल है।फिर भी कांग्रेस नेताओं के दावा पर विश्वसा करें तो उन्हें 17 सदस्यों का समर्थन हासिल है। बावजूद इसके भाजपा ने इस बार मेयर चुनाव की तरह कांग्रेस को वाक ओव्हर देने से इंकार किया है। बताया जा रहा है कि भाजपा नेता दिलेन्द्र कौशिक की पत्नी नीलू कौशिक अध्यक्ष पद प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ेंगी।

पेन्ड्रा मरवाही गौरेला का होगा उपाध्यक्ष

              यद्यपि अभी तक फैसला नहीं हुआ है कि जिला पंचायत का उपाध्यक्ष कौन बनेगा। लेकिन प्रदेश के बड़े नेता और जिला संगठन ने फैसला किया है कि जिला पंचायत का उपाध्यक्ष नया जिला क्षेत्र का होना चाहिए।

            सूत्रों की माने तो कांग्रेस संगठन ने अघोषित फैसला किया है कि अध्यक्ष चुनाव के दौरान ही पेन्ड्रा के किसी एक सदस्य को उपाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी देने का एलान किया जाएगा। जानकारी हो कि पेन्ड्रा क्षेत्र का एक निर्दलीय सदस्य ने कांग्रेस को पहले से समर्थन देने का एलान किया है। बताया जा रहा है कि पेन्ड्रा के किसी बड़े आदिवासी चेहरे को उपाध्यक्ष बनाया जा सकता है। कांग्रेस संगठन के अनुसार ऐसा कर हम मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रति पेन्ड्रा वासियों की तरफ से सम्मान जाहिर करेंगे। क्योंकि उनके प्रयास से ही पेन्ड्रावासियों को नया जिला का सौगात मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *