शहर के व्यवसायी से 15 लाख की ठगी ..दिल्ली में पकड़ाया अन्तर्राज्यीय ठग…एडिश्नल एसपी ने किया खुलासा

बिलासपुर—- कोतवाली पुलिस ने अन्तर्राज्यीय ठग को गिरफ्तार किया है। ठग ने आप्टिकल फाइबर ठेका दिलाने के नाम पर प्रार्थी बब्बू सिंह पिता स्वर्गीय दल प्रसाद सिंह को करीब पन्द्रह लाख रूपयों का चूना लगाया है। एडिश्नल एसपी ओमप्रकाश शर्मा ने बताया कि आरोपी अवधकिशोर को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है।

                               बिलासपुर पुलिस ने अपराधियों के खिलाफ लगातार कार्रवाई के दौरान  एक बार फिर दिल्ली से अन्तर्राज्यीय ठग को गिरफ्तार किया है। आरोपी अवकिशोर ने बिलासपुर निवासी बब्बू सिंह को आप्टिकल फाइबर का ठेका दिलाने करीब 15 लाख से अधिक रूपयों का फटका दिया है।

              एडिश्नल एसपी ओपी शर्मा ने सिटी कोतवाली में बातचीत के दौरान पत्रकारों को बताया कि मेडिकल काम्पलेक्स निवासी बब्बू सिंह पिता स्वर्गीय दल प्रसाद सिंह ने सिटी कोतवाली थाने में खुद के साथ ठगी का शिकार होना बताया। अपनी रिपोर्ट में बब्बू ने जानकारी दी कि करीब तीन महीने पहले यदुनन्दननगर निवासी उसके एक मित्र सुूमन सिंह ने अवधकिशोर से परिचित कराया। परिचय के दौरान अवधकिशोर ने बताया कि वह सेक्टर 30 दक्षिण पश्चिमी दिल्ली में रहता है। खुद को उत्तरप्रदेश नोयडा स्थित मैसर्स कानरेड वैंचर्स प्राइवेट लिमिटेड का डायरेक्टर बताया। इस दौरान अवधकिशोर ने कहा कि वह आप्टिकल फाइबर का ठेका डायरेक्टर की हैसियत से दे सकता है।

                ओपी शर्मा ने पत्रकारों को जानकारी दी कि इसके बाद प्रार्थी बब्बू सिंह और अवधकिशोर ने 6 सितम्बर 2019 को एक ज्वाइंट वेंचर एग्रीमेन्ट किया। अवधकिशोर के साथ बैंक ऑफ बड़ौदा में ज्वाइंट अकाउन्ट खोला। और बब्बू सिंह ने पाच लाख रूपए जमा किए। उसने अवधकिशोर के खाते में भी पांच लाख रूपए डाले। प्रार्थी बब्बू ने पुलिस को बताया कि इसके अलावा उसने नेटवर्किंग के माध्यम से भी अलग अलग समय 4 लाख रूपए अवधकिशोर के खाते में डाला। 

             एडिश्नल एसपी ने बताया कि अवधकिशोर ने बब्बू को आश्वासन दिया कि पन्द्रह दिनों के अन्दर काम अलाट कर दिया जाएगा। लेकिन एक महीने बीत जाने के बाद भी वर्क आर्डर जारी नहीं हुआ। इसके बाद दो महीने का इंतजार किया। और जब वह अवधकिशोर से सम्पर्क किया तो टाल मटोल करने लगा। फिर अहसास हुआ कि वह ठगी का शिकार हो गया है।

                    मामले में आरोपी के खिलाफ थाना सिटिकोतवाली में आईपीसी की धारा 420 और 34 के तहत आरोपी अवधकिशोर के खिलाफ अपराध दर्ज किया गया। मामले की जानकारी पुलिस कप्तान को दी गयी। एसपी ने टीम गठन कर थाना प्रभारी मोहम्मद कलीम समेत सीएसपी निमेष बरैया को आरोपी को जल्द से जल्द पकड़ने का आदेश दिया। टीम को गुणगांव हरियाणा और दिल्ली के लिए रवाना किया गया। इस दौरान अवधकिशोर को जानकारी मिल गयी कि पुलिस उसे पकड़ने आ रही है। और वह बचने के लिए बार बार स्थान बदलता रहा। लेकिन टीम ने हार नहीं मानते हुए आधुनिक तककनिका का सहारा लेकर आरोपी को दिल्ली से धर दबोचा। अवध किशोर को न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *