देर रात्रि पुलिस की बड़ी कार्रवाई..54 लाख से अधिक कबाड़ जब्त..पुलिस कप्तान ने बताया…भारी मात्रा में रेलवे सम्पत्ति बरामद

दुर्ग—– पुलिस कप्तान के निर्देश पर कबाड़ियों के खिलाफ खुर्सीपार में बड़ी कार्रवाई की गयी है। पुलिस ने छापामार कार्रवाई के दौरान बेहिसाब लाखों रूपए के अवैध कबाड़ को जब्त किया है। इस दौरान रेलवे की कीमती सामानों को भी जब्त किया गया है। आक्सीजन गैस सिलेन्डर के अलावा गैर टार्च कटर को भी बरामद किया गया है।
 
                पुलिस कप्तान अजय यादव को मुखबीर से लगातार जानकारी मिल रही थी कि खुर्सीपार क्षेत्र में कुछ कबाड़ी रेलवे सामाग्रियों को कबाड़ के भाव खरीद फरोख्त कर रहे हैं। इसके लिए कुछ भाड़े के लोगों का भी उपयोग कर रेलवे सामाग्रियों को चुराया जा रहा है। पुलिस कप्तान अजय यादव ने गंभीर जांच पड़ताल के बाद अधीनस्थ पुलिस अधिकारियों और थाना प्रभारियों को खुर्सीपार क्षेत्र में कबाड़ियों के खिलाफ व्यापक अभियान चलाने का निर्देश दिया।
       
                     खुर्सीपार क्षेत्र में छापामार कार्रवाई के दौरान पुलिस महकमें को केएल इण्डस्ट्रीज के मालिक नफीज खान और सुपरवाइजर दिनेश आगरे के ठिकानें से भारी मात्रा में रेलवे के कबाड़  मिले हैं। मौके से रेलवे फुट ओव्हर ब्रिज की सामाग्रियों के अलावा रेलवे स्लीपर, स्लीपर में लगाए जाने वाला जलेबी आकार के प्लेट को बरामद किया गया है। आरोपियों ने मांगे जाने पर ना तो संतोषजनक जवाब दिया और ना ही जरूरी दस्तावेज ही पेश किएष पुलिस कप्तान अजय यादव ने जब्त सामाग्रियों की कीमत करीब तीन लाख रूपयों से अधिक है। 
 
             अजय यादव ने जानकारी दि कि कबाड दुकान से ट्रक बाड़ी पार्ट, 6 एमएम और  तीन एमएम के राड भी पाए गये हैं। कबाड़ी ने राड को बंडल और प्रेस करने के बाद छिपाकर रखा था। 31 टन बजनी स्पायर पाइप लोहे, लोहे की पट्टी का बंडल भी जब्त किया गया है।
 
                                    देर रात्रि तक चली पुलिस कार्रवाई के दौरान इलेक्ट्रानिक वेइंग मशीन, लोहा स्क्रेप करने की तीन मशीन भी पाए गए हैं। चोरी का स्क्रेप परिहवन करने में उपयोग आने वाले दो स्वराज माजदा को राजसात किया गया है। अजय यादव ने जानकारी दी कि केएल इन्डस्ट्रीज में लोहे को काटने वाली दो नग आक्सीजन गैस कटर सिलेण्डर, 10 नग आक्सीजन सिलेण्डर, 2 नग गैस टार्च कटर जब्त किया गया है। 
 
                वरिष्ठ पुलिस कप्तान के अनुसार छापामार कार्रवाई के दौरान बरामद सामाग्रियों की कीमत 54 लाख 74 हजार रूपयों से अधिक है। आरोपियों के खिलाफ कानूनी प्रक्रिया के तहत कार्रवाई की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *