हवाई सुविधा की मांग : डडसेना समाज ने दिया धरना,कहा-बिलासपुर की उपेक्षा के लिए जनप्रतिनिधि जिम्मेदार

बिलासपुर।17 मार्च अखंण्ड धरना आंदोलन के 144वें दिन डड़सेना (कलार) समाज विकास समिति के सदस्य धरने पर बैठे और सभी ने कहा कि बिलासपुर और रायपुर में विकास का अन्तर राज्य निर्माण के समय 1 अनुपात 2 था जो आज बढ़कर 5 गुना हो गया है और इसका बडा कारण बिलासपुर में हवाई सुविधा का ना होना है इसके लिए कही न कही यहा से चुने गये जनप्रतिनिधि जिम्मेदार है। बिलासपुर को अपना हक हर बार लड़कर या धरना प्रदर्शन करके ही लेना पड़ता है।आज की सभा में बोलते हुए डड़सेना (कलार) समाज विकास समिति के एम.आर.जायसवाल ने कहा कि बिलासपुर रेलवे जोन देश का सर्वाधिक आय देने वाला जोन है, जबकि इसके निर्माण के पूर्व रेलवे अधिकारी रेलवे जोन के औचित्य पर सवाल उठाते थे।

आज जो भी लोग हवाई अड्डे की जरूरत पर सवाल उठा रहे है वे देखेगें कि एक बार बिलासपुर हवाई अड्डा चालू होने पर 10 साल के भीतर बड़ा और व्यस्त हवाई अड्डा कहलायेगा कलार समिति के ही दुर्गेश जायसवाल ने कहा कि बिलासपुर के नागरिकों को अपनी आवश्यक्ता को प्राप्त करने के लिए हर बार धरना आंदोलन का सहारा लेना पड़ता है आज हवाई सुविधा प्राप्त करने के लिए भी 144 दिन से जनसंर्घष समिति के सदस्य लगातार धरना आंदोलन कर रहे है।

डड़सेना कलार विकास समिति के सदस्य राजकुमार जायसवाल ने कहा कि केन्द्र सरकार को बिलासपुर की इस जायज मांग पर शीघ्र कार्यवाही करनी चाहिए, अन्यथा बिलासपुर कि जनता को ये संदेश जा रहा है कि उनकी उपेक्षा हो रही है क्योंकि आज तक इस धरना प्रदर्शन में तकरीबन 300 के आस पास व्यापारीक, सामाजिक, राजनीतिक, संगठनों ने अपना समर्थन इस धरने को दिया है।

इससे यह पता चलता है कि बिलासपुर अंचल के लोगो के लिए हवाई सुविधा कितनी आवश्यक है। डड़सेना विकास समिति के दाऊलाल डड़सेना, बसंत जायसवाल और नंदकिशोर जायसवाल ने भी सभा को संबोधित किया।आज धरने में लोरमी के विधायक धरमजीत सिंह पुनः शामिल हुए। वे ही एकमात्र ऐसे निर्वाचित विधायक या सांसद है जो एक से अधिक बार धरना आंदोलन में सम्मिलित होने के लिए आते रहते है। आज विधायक के द्वारा बिलासपुर हवाई अड्डे में चल रहे कार्यो का परीक्षण करने के लिए वहां का दौरा भी किया।

आज की सभा में बोलते हुए समिति के अभिषेक सिंह राजा ने कहा कि राज्य निर्माण के 19 साल के बाद भी बिलासपुर में एयरपोर्ट का न होना एक सुनियोजित षड़यंत्र है, जो रायपुर के व्यवसायी एवं अधिकारियों के द्वारा लगातार किया जा रहा है वे नहीं चाहते कि बिलासपुर का व्यापार आगे बढ़े जिसके कारण रोजगार और व्यवसाय के क्षेत्र में बिलासपुर लगातार पिछड़ता जा रहा है।

आज के धरने आंदोलन में डड़सेना (कलार) समाज विकास समिति के अशोक जायसवाल, दीपक जायसवाल, पवन जायसवाल, परमेश्वर जायसवाल, सौरभ जायसवाल, सुनिल जायसवाल, दुर्गा जायसवाल, शिव डक्सेना, यशवंत जायसवाल, अमित जायसवाल, परमेश्वर जायसवाल, शिव जायसवाल, एवं हवाई सेवा जन संर्घष समिति से बद्री यादव, देवेंद्र सिंह, अशोक भण्डारी, कप्तान खान, संजय पिल्ले, मनोज श्रीवास, विरेंन्द्र सोमावार, संजय जायसवाल भुट्टो राज, ब्रम्हदेव सिंह, निलकण्ठ जायसवाल, समीर अहमद, रामअवतार आदि आज के अखण्ड धरना आंदोलन में शामिल हुए कार्यक्रम का संचालन अभिषेक चैबे ने किया एवं आभार राजा सिंह ने किया।18 मार्च को नवीन दुर्गा उत्सव समिति तेलीपारा रोड के सदस्य अंखण्ड धरने पर बैठेंगे।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...