हवाई सेवा आंदोलनः दुर्गोत्सव समिति ने कहा..हमें प्रदूषण नहीं..विकास चाहिए..अब और अन्याय सहन नहीं..

बिलासपुर—- हवाई सुविधा जन आंदोलन अखंड धरना को 145 वें दिन नवीन दुर्गोत्सव समिति तेलीपारा के सदस्यों ने समर्थन दिया। आंदोलन स्थल पर कोरोना की रोकथाम के लिए सेनेटाइजर की व्यवस्था देखने को मिली। वक्ताओं ने  हवाई सुविधा की मांग को ना केवल जायज बताया। बल्कि बृहत आंदोलन करने की बात भी कही। साथ ही आंदोलन समिति और बिलासपुरवासियों को मांग को लेकर छेड़े गए आंदोलन की बधाई भी दी है।

                 वक्ताओ ने कहा कि हवाई सेवा आंदोलन को बिलासपुर के सभी वर्ग और तबकों का समर्थन हासिल है। दुर्गोत्सव समिति के सदस्य शैलेन्द्र कश्यप ने कहा कि कि धरने ये सिद्ध हो गया है कि जब भी बिलासपुरियों ने इरादा किया है..लोगों को झुकना पड़ा है। आंदोलन के दौरान बिलासपुर के लोगों ने समर्पण, तन्मयता के साथ अपने काम को अंजाम दिया है। और अब हम हवाई सेवा सुविधा लेकर ही रहेंगे।

                         लक्की कश्यप ने कहा कि बिलासपुर क्षेत्र को कोयला उत्पादन और बिजली उत्पादन कर केवल प्रदूषण देने के लिए छोड दिया गया है। जबकि विकास का पूरा लाभ रायपुर और दिल्ली को भेजा जा रहा है। हमें इस स्थिति को अपने संघर्ष से बदलना होगा। जिम्मेदार लोगों को बताना होगा कि केवल दोहन से विकास नही होगा।  विकास के लिए शहर को मूलभूत सुविधाओं भी मिलनी चाहिए। दुर्गोत्सव समिति के अंकुर वर्मा ने कहा कि हमें व्यापार, शिक्षा और  रोजगार के क्षेत्र में आने वाली पीढी को नये अवसर देना है। उनके उज्ज्वल भविष्य का मार्ग तैयार करना है।आने वाली पीढ़ी को महानगरो से कंधे से कंधा मिलाकर चलने के लिए रास्ता तैय़ार करना है। ऐसी स्थिति में बिलासपुर शहर के लिए हवाई सुविधा बहुत जरूरी है।

                                              सभा को महेष दुबे ने भी संबोधित किया। दुबे ने कहा कि 600 किलोमीटर से अधिक दूरी की उड़ान 3 सी केटेगरी के एयरपोर्ट से संचालित हो सकती है।  इस पर पहले की तरह केन्द्र सरकार सब्सिडी दे। 600 कि.मी. से अधिक की उड़ान पर सब्सिडी हटा दिये जाने से बिलासपुर महानगरों तक उड़ान के लिए एयरलाइन कम्पनी आकर्शित नहीं हो रही है। महेश दुबे ने बताया कि एटीआर-72 और बम्बाडियर क्यू-400 विमान 3सी केटेगरी एयरपोर्ट से संचालित होते है। एक बार में 1500 किलोमीटर की दूरी तय कर सकते है। बिलासपुर से दिल्ली हवाई मार्ग से 907 किलोमीटर, मुंबई 1051 किलोमीटर, कोलकता 622 किलोमीटर है। मतलब दोनो विमान बिलासपुर से नाॅन स्टाप इन महानगरों तक जाने में सक्षम है।

          धरना आंदोलन में नवीन दुर्गोत्सव समिति की तरफ से संदीप कष्यप, पदुम शर्मा, हनी कश्यप , अकुंर वर्मा, ओम सोनी अली अजगर, अजय कश्यप, हनी वर्मा, सोनू कुम्हारे, अमन कुम्हारे, एस.आर. कौशिक, अमन यादव, राजवीर वर्मा ने आंदोलन को संमर्थन किया। इसके लिए मौदे पर हवाई सुविधा जनसंर्घश समिति की ओर से देवेंन्द्र सिंह, सुदीप श्रीवास्तव, ब्रम्हदेव सिंह , संजय पिल्ले, बद्री यादव समेत अन्य सदस्य भी शामिल हुए।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...