कोरोना वायरस: बच्चों को लेकर डोर- टू -डोर अभियान प्रधान पाठक पर पड़ा भारी ,शो कॉज नोटिस जारी

surajpur,news,chhattisgarh,hindi news,cg news,दौरे ,कमिश्नर , गड़बड़ियां, तहसीलदार , जनपद लिपिक, कारण बताओ नोटिस,कलेक्टर, आश्रम,छात्रावास , स्कूलों ,अचानक निरीक्षण , पांडातराई ,हायर सेकेडरी स्कूल,पांच शिक्षक, अनुपस्थित ,छात्रावास अधीक्षक , शो कॉज नोटिस ,जारी , निर्देश,Chhattisgarh, वेतन देयक, प्रस्तुत , ट्रेजरी अफसर ,थमाया ,कारण बताओ, नोटिस,kanker,chhattisgarh,jashpur nagar,news,चार अधिकारियों , कारण बताओ, नोटिस,लोकसेवा गारंटी , कोताही, मामला,डाईट, 08 अधिकारी-कर्मचारी,गैरहाजिर,कलेक्टर, शो-कॉज नोटिस जारी,छात्रावास अधीक्षक,शो कॉज नोटिस,मतदान अधिकारियों,प्रशिक्षण,लोकसभा चुनाव,अनुपस्थित,,नोटिस जारी,chhattisgarh,गैरहाज़िर ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक,मुख्य चिकित्सा एंव स्वास्थ्य अधिकारी कोण्डागांव,kondagaon,chhattisgarh news,hindi news

सूरजपुर।कोरोना वायरस को लेकर बच्चों के साथ डोर टू डोर प्रचार प्रसार की मुहिम प्रधान पाठक पर भारी पड़ गई ।समग्र शिक्षा जिला सूरजपुर के मिशन समन्वयक ने प्रधान पाठक को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।जिला मिशन समन्वयक की ओर से शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला रुनियाडीह के प्रधान पाठक सीमांचल त्रिपाठी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। जिसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस के बचाव के लिए शासन प्रशासन द्वारा विभिन्न माध्यम से प्रचार-प्रसार किया जा रहा है ।जिसमें स्पष्ट है कि इससे बच्चों और वृद्ध व्यक्ति को विशेष रूप से सुरक्षित रखा जाए. सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए

इस संबंध में केंद्र – राज्य शासन और स्वास्थ्य विभाग की ओर से अलग से एडवाइजरी भी जारी की गई है । इस सिलसिले में सभी शासकीय / अशासकीय स्कूलों में अवकाश घोषित किया गया है ।ताकि बच्चे घरों में सुरक्षित रहें ।इसके बावजूद प्रधान पाठक द्वारा बच्चों को लेकर डोर टू डोर किस प्रकार प्रचार प्रसार में सहभागिता दी जा रही है ।।जो बच्चों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ है ।नोटिस में कहा गया है कि क्योंकि प्रशासन द्वारा विभिन्न अधिकारी ,कर्मचारी, संगठन के द्वारा जागरूकता फैलाने का प्रयास किया जा रहा है ।

इसके बावजूद प्रधान पाठक ने किन परिस्थितियों में इसके विपरीत स्वेच्छाचारिता का परिचय देते हुए अभियान में बच्चों को जोड़ा। साथ ही मीडिया में कलेक्टर ,जिला शिक्षा अधिकारी और जिला मिशन समन्वयक के मार्गदर्शन में जागरूकता अभियान चलाए जाने की बात कही।

इस संबंध में स्पष्टीकरण मांगा गया है कि इन अधिकारियों में से किसके द्वारा इस संबंध में निर्देश दिए गए हैं। प्रधान पाठक से तत्काल जवाब प्रस्तुत करने कहा गया है और अनुशासनात्मक कार्यवाही की बात भी कही गई है।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...