Lockdown-नकदी देने व लेने,KYC सबमिट समेत कई Banking सेवाएं SBI आपके घर तक पहुंचा रहा है,जानिए नियम और शर्तें

मुंबई।स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) कोरोना संकट और लॉकडाउन की इस कठिन घड़ी में अपने ग्राहकों का विशेष ख्याल रख रहा है। ग्राहकों को वायरस संक्रमण से बचाने, बैंक में भीड़ को लगातार कम करने की दिशा में एसबीआई खाताधारकों को घर पर ही कैश डिलीवर कर रही है। बैंक नकदी देने के साथ-साथ नकदी जमा करने की भी सुविधा खाताधारकों को उनके घर पर ही दे रहा है। अगर किसी खाताधारक को आपात स्थिति में कैश की जरूरत पड़ती है तो बैंक घर तक नकदी की रकम पहुंचा रहा है।नकदी देने और लेने के अलावा खाताधारकों को चेक देने, टर्म डिपॉजिट एडवाइज की डिलिवरी, लाइफ सर्टिफिकेट, ड्राफ्ट की डिलिवरी और केवाईसी डॉक्यूमेंट्स जमा करने की भी सुविधा डोर टू डोर यानि घर-घर जाकर दी जा रही है। सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप (NEWS) ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

फिलहाल ये सभी सेवाएं सीनियर सिटीजंस और दिव्यांग खाताधारकों को ही दी जा रही है और कुछ चुनिंदा शाखाओं पर ही ग्राहक इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक इन सेवाओं के लिए खाताधारक बैंक से संपर्क कर सकते हैं इसके लिए बैंक ने 1800111103 नंबर जारी किया है जिसपर ग्राहकों को पहले रिकवेस्ट डालनी होगी। सर्विस रिक्वेस्ट के लिए रजिस्ट्रेशन सिर्फ होम ब्रांच पर ही होता है।

एसबीआई के डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस के बारे में आपको इन बातों की जानकारी होनी जरूरी है।

1. डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस में कैश पिकअप, कैश डिलीवरी, चेक पिकअप, चेक रिक्विजिशन स्लिप पिकअप, फॉर्म 15एच पिकअप, ड्रॉफ्ट्स डिलीवरी, टर्म डिपॉजिट अडवाइस डिलीवरी, लाइफ सर्टिफिकेट पिकअप तथा केवाईसी डॉक्युमेंट्स पिकअप आदि सेवाएं शामिल हैं।

2. यह सेवा पाने के लिए आपको कामकाजी दिनों में सुबह 9 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक टॉल फ्री नंबर 1800111103 पर कॉल करना होगा।

3. रजिस्ट्रेशन के लिए सर्विस रिक्वेस्ट होम ब्रांच में किया जाता है।

4. डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस केवल उन्हीं ग्राहकों को मिलेगा जिनका केवाईसी कराया हुआ है।

5. नॉन-फाइनैंशल ट्रांजैक्शंस के लिए सर्विस चार्ज 60 रुपये और जीएसटी तथा फाइनैंशल ट्रांजैक्शंस के लिए सर्विस चार्ज 100 रुपये और जीएसटी देना होगा।

6. इस सुविधा के जरिए एक दिन में 20 हजार रुपये से अधिक की रकम नहीं निकाली जा सकती है।

7. यह सुविधा उन्हीं खाताधारकों को मिलेगी जिनका मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड है और उनका होम ब्रांच उनके घर से 5 किलोमीटर के दायरे में है।

8. जॉइंट अकाउंट रखने वालों को यह सुविधा नहीं मिलेगी।

9. नाबालिगों तथा नॉन-पर्सनल नेचर के अकाउंट्स पर भी यह सुविधा नहीं मिलेगी।

10. नकदी विद्ड्रॉल चेक या पासबुक के साथ विद्ड्रॉल फॉर्म के जरिए किया जा सकता है।

एसबीआई के अलावा, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक तथा कोटक महिंद्रा बैंक अपने ग्राहकों को डोरस्टेप बैंकिंग की सुविधा मुहैया कराता है।

कैसे काम करता है एसबीआई का डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस

– जिन ग्राहकों को डोरस्टेप डिलीवरी सर्विस की जरूरत होगी, उन्हें कामकाजी दिनों में सुबह नौ बजे से लेकर शाम 4 बजे के बीच टॉलफ्री नंबर 1800111103 पर अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से कॉल करना होगा।

 कॉल कनेक्ट होने पर ग्राहक को अपने अकाउंट नंबर का अंतिम चार अंक बताना होगा।

 शुरुआती वेरिफिकेशन के बाद कॉल को कॉन्टैक्ट सेंटर एजेंट को फारवर्ड कर दिया जाएगा, जो अगले दौर का वेरिफिकेशन करेगा और फिर रिक्वेस्ट को दर्ज करेगा।

– अब ग्राहक को रिक्वेस्ट का डीटेल तथा सर्विस डिलीवरी का समय (सुबह 9 बजे से लेकर शाम 5 बजे) बताना होगा।

– रिक्वेस्ट एक्सेप्ट होने के बाद कस्टमर को केस आईडी तथा रिक्वेस्ट टाइप के साथ एक एसएमएस मिलेगा।

– रिक्वेस्ट को डोरस्टेप बैंकिंग एजेंट को फॉरवर्ड कर दिया जाएगा, जो कस्टमर से कॉन्टैक्ट कर अपॉइंटमेंट फिक्स करेगा।

 डोरस्टेप बैंकिंग एजेंट (DSA) कस्टमर के रजिस्टर्ड अड्रेस पर जाएगा और अपना फोटो आईडी कार्ड तथा ऑफिशली वेलिड डॉक्युमेंट (OVD) दिखाएगा।

– डीएसबी एजेंट के पास मौजूद मोबाइल में डोरस्टेप बैंकिंग वेब पोर्टल में सर्विस रिक्वेस्ट दर्ज किया जाएगा। अब ट्रांजैक्शन इनिशिएट करने के लिए कस्टमर को इनपुट केस आईडी तथा वेरिफिकेशन कोड को वेब पोर्टल में डालना होगा।

– कस्टमर को ट्रांजैक्शन पूरा होने का एसएमएस आ जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *